सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

November, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

फिल्म समीक्षा : ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां

एक कहावत है ‘नाम बड़े दर्शन छोटे’ या यूं कहिए ‘ऊंची दुकान फीका पकवान’। आमिर खान, अमिताभ बच्चन सरीखे बड़े नाम के साथ यशराज फिल्म्स सरीखा बैनर कमज़ोर कहानी और बेजान स्क्रीनप्ले की बलि चढ़ गया। बाकी क्या कुछ देखने लायक है और क्या कमज़ोरियां हैं, जानते हैं इस समीक्षा में।
निर्माता : यशराज फिल्म्स 
निर्देशक : विजय कृष्ण अचार्य
कलाकार : अमिताभ बच्चन ,आमिर खान, फातिमा सना शेख, कैटरीना कैफ, मोहम्मद जीशान अयूब, रॉनित रॉय, इला अरुण
संगीत : अजय-अतुल, जॉन स्टीवर्ट
अमिताभ बच्चन और आमिर खान एक साथ पहली बार फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां’ में नज़र आ रहे हैं। दोनों कलाकारों को एकसाथ पर्दे पर देखने के लिए दर्शक खासे उत्साहित थे। दिवाली का मौका था और इस पर दो बड़े कलाकारों को साथ में स्क्रीन पर देखने का मज़ा उत्सवी रंग को और भी बढ़ाने के लिए काफी था। अब क्या वाकई वो जादू चला पाए हैं, जानने की कोशिश करते हैं। 
कहानी इस फिल्म की कहानी 1795 के भारत की है। जब भारत पर ईस्ट इंडिया कंपनी का राज हुआ करता था और कई राज्य अंग्रेजों के अधीन थे, लेकिन रौनकपुर नाम का एक राज्या ऐसा भी था, जो अंग्रेजों की पकड़ से दूर था।  …