'इतनी शक्ति हमें देना दाता' के गीतकार अभिलाष का निधन

गीतकार अभिलाष का निधन। भूतपूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह द्वारा कलाश्री अवार्ड से सम्मानित हो चुके अभिलाष लोकप्रिय गाने 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' आज भी उतना ही लोकप्रिय है। 74 वर्षीय गीतकार अभिलाष कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे। रविवार को निधन होने के बाद सोमवार तड़के उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Lyricist Abhilash Passes Away

साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म 'अंकुश' के लिए 'इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास कमजोर होना...' जैसा लोकप्रिय प्रार्थना गीत लिखनेवाले गीतकार अभिलाष का मुंबई में रविवार को निधन हो गया। 74 वर्षीय अभिलाष कैंसर के पीड़ित थे। रविवार को उनका निधन हो गया और सोमवार की सुबह तड़के उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि अभिलाष कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे, जबकि उनकी पत्नी ने एक वेब साइट से बात करते हुए कैंसर या किसी अन्य बीमारी से ग्रसित होने की बात से इंकार किया।

उन्होंने कहा, 'इसी साल मार्च महीने में अभिलाष की पेट की अंतड़ियों का ऑपरेशन किया गया था, जिसके बाद से ही वे काफी कमजोरी महसूस करने लगे थे। इसी के चलते उन्हें चलने फिरने में भी दिक्कत हो रही थी।'

नीरा ने बताया कि अभिलाष का निधन गोरेगांव स्थित उनके घर पर ही हुआ है, उन्होंने बताया कि कोरोना और लॉकडाउन की पाबंदियों के चलते महज 15 से 20 लोग ही उनके अंतिम संस्कार में शामिल हो पाये और ऐसे में बंगलुरू में रहनेवाले उनकी बेटी और दामाद भी अंत्येष्टि में शामिल नहीं हो सके।

भूतपूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह द्वारा कलाश्री अवार्ड से सम्मानित हो चुके अभिलाष लोकप्रिय गाने 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' आज भी उतना ही लोकप्रिय है, जितना फिल्म की रिलीज के वक्त था. इस गाने को आज भी देशभर के कई स्कूलों और जेलों में प्रार्थना गीत के रूप में गाया जाता है। बता दें कि इस गीत का दुनिया की 8 भाषाओं में अनुवाद किया जा चुका है।

'इतनी शक्ति हमें देना दाता' गीत के अलावा अभिलाष ने 'सांझ भई घर आजा', 'आज की रात न जा', 'वो जो खत मुहब्बत में', 'तुम्हारी याद के सागर में' 'संसार है इक नदिया', 'तेरे बिन सूना मेरे मन का मंदिर' आदि गीत भी लिखे थे, जो काफी लोकप्रिय हुए। न सिर्फ गीत लिखे, बल्कि उन्होंने कई फिल्मों के अलावा धारावाहिकों के लिए भी स्क्रिप्ट लिखी थी।

संबंधित ख़बरें
आशालता वाबगांवकर का निधन, हुई थीं कोरोना संक्रमित

टिप्पणियां