सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आर.डी. बर्मन के जन्मदिन पर गूगल का डूडल

संगीत की दुनिया के 'पंचम दा' यानी संगीतकार राहुल देव बर्मन का आज जन्मदिन है। उनके जन्मदिन पर गूगल ने डूडल के जरिये श्रद्धांजलि दी है। उन्हें हिंदी फ़िल्मों में आधुनिक संगीत का जनक माना जाता है। सिने चिट्ठा की ओर से भी पंचम दा को हैप्पी बर्थडे...

आरडी बर्मन जन्मदिन पर गूगल ने उनका डूडल बनाया
मुंबई। पंचम दा के नाम से जाने जाने वाले संगीतकार राहुल देव बर्मन यानी आर डी बर्मन का आज 77वां जन्मदिन है और इसी मौक़े पर गूगल ने उनके लिए ख़ास डूडल बनाया है। 

अपने संगीत को लेकर नित नए प्रयोग करने वाले आरडी बर्मन को हिंदी फ़िल्मों में आधुनिक संगीत का जनक माना जाता है। किशोर कुमार, लता मंगेशकर और आशा भोसले ने उनके कई यादगार गीतों को अपनी आवाज़ दी। 

60, 70 और 80 के दशक में कई सुपरहिट गाने देने वाले पंचम का चार जनवरी 1994 को निधन हो गया था। विधु विनोद चोपड़ा की फ़िल्म '1942 अ लव स्टोरी' उनके संगीत से सजी आख़िरी फिल्म थी। इसके गाने भी सुपरहिट हुए लेकिन अपनी इस आख़िरी कामयाबी को देखने से पहले ही पंचम दुनिया छोड़ चुके थे। 


बचपन और शिक्षा

पंचम दा का जन्म 27 जून 1939 को कोलकाता में हुआ था। पंचम दा मशहूर संगीतकार सचिन देव बर्मन व उनकी पत्नी मीरा की इकलौती संतान थे। कुछ लोगों के मुताबिक अभिनेता अशोक कुमार ने जब पंचम को छोटी उम्र में रोते हुए सुना तो कहा कि 'ये पंचम में रोता है' तब से उन्हें पंचम कहा जाने लगा। 

इन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा बालीगंज गवर्नमेंट हाई स्कूल कोलकत्ता से पूरी की। बाद में उस्ताद अली अकबर खान से सरोद भी सीखा और संगीत का गुर उन्होंने अपने पिता से से सीखा। 

केवल नौ साल की उम्र में उन्होंने अपना पहला संगीत 'ऐ मेरी टोपी पलट के' को दिया, जिसे फिल्म 'फंटूश' में उनके पिता ने इस्तेमाल किया। छोटी सी उम्र में पंचम दा ने 'सर जो तेरा चकराये …' की धुन तैयार कर लिया जिसे गुरुदत्त की फिल्म 'प्यासा' में ले लिया गया। 

शादी

पंचम की शादी की कहानी बेहद फिल्मी है। उन्होंने अपनी फैन रीता पटेल से शादी की थी। दोनों दार्जलिंग में मिले थे। रीता ने अपनी सहेलियों से शर्त लगाई थी कि वह बरमन के साथ मूवी डेट पर जाएंगी। बात बन गई दोस्ती प्यार में बदली और दोनों ने 1966 में शादी कर ली। 

लेकिन ये रिश्ता ज्यादा लंबा नहीं चला और साल 1971 में दोनों अलग हो गए। परिचय फिल्म का ‘मुसाफिर हूं यारों’ गाना पंचम ने इसी दौरान होटल के एक कमरे में बैठकर लिखा था। इसके बाद 1980 में पंचम दा ने आशा भोसले से शादी कर ली।

कईयों को दिए मौक़े 

जाने माने म्यूजिक डायरेक्टर लक्ष्मीकांत-प्यारे लाल आर.डी बरमन की ऑर्केस्ट्रा में इंस्ट्रुमेंट्स बजाते थे। आर.डी ने कुमार सानू, अभिजीत और मोहम्मद अजीज, शबीर कुमार जैसे कई न्यूकमर्स को पहला मौक़ा दिया था।