सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म ‘शिकारा’ बयां करती है कश्मीरी पंडितों के दर्द की कहानी

अपने ही देश में शरणार्थियों की ज़िंदगी जीने पर मजबूर होने वाले कश्मीरी पंडितों के दर्द की कहानी को पर्दे पर विधु विनोद चोपड़ा ने उतारा है और नाम दिया है ‘शिकारा’। आज उसका ट्रेलर जारी किया गया।

विधु विनोद चोपड़ा की शिकारा
विधु विनोद चोपड़ा एक लंबे अरसे के बाद निर्देशन में हाथ आजमाने जा रहे हैं। उनके निर्देशन में बनी आखिरी बॉलीवुड फिल्म ‘एकलव्य: द रॉयल गॉर्ड’ थी, जो साल 2007 में आई थी और फिर हॉलीवुड में अपनी पारी को शुरू करने के लिए साल 2015 में ‘ब्रोकेन हॉर्सेस’ नाम से फिल्म बनाई थी, जो बॉक्स ऑफिस पर कमाल नहीं कर पाई। 

ख़ैर, विधु फिल्म निर्देशन से ज्यादा निर्माण में सक्रिय रहने लगे हैं। हालांकि, उनकी फिल्मों से सब्जेक्ट्स हमेशा से जबरदस्त रहे हैं। 

इतने समय बाद एक बार फिर वो कहानी कहने आ रहे हैं, जिसे बरसों से लोगों ने सुना तो है, लेकिन पर्दे पर उतारने का साहस कोई नहीं कर पाया। 

कश्मीरी पंडितों के दर्द की कहानी को विधु ‘शिकारा’ नाम की फिल्म से कहने आ रहे हैं। फिल्म का ट्रेलर हाल ही जारी किया गया। 

फिल्म में सादिया और आदिल खान मुख्य भूमिकाओं में हैं। यह दोनों एक ऐसे कपल की भूमिका में हैं, जो साल 1990 में कश्मीर से बेघर कर दिए गए थे। 

ट्रेलर के डायलॉग्स भी काफी झन्नाटेदार हैं। ट्रेलर में देखने को मिल रहा है कि कैसे शरणार्थी पंडितों को खाने के लिए सिर्फ टमाटर दिए गए थे। तकरीबन 2.30 मिनट के ट्रेलर के आखिर में अभिनेत्री सादिया कहती हैं, ‘हम आएंगे वतन अपने और यहीं पर दिल लगाएंगे, यहीं मरेंगे और यहीं के पानी में हमारी राख बहायी जाएगी।’

ट्रेलर यहां देखें


विधु विनोद चोपड़ा का प्रोडक्शन हाउस और फॉक्स स्टार स्टूडियोज ने मिल कर इस फिल्म का निर्माण किया है। निर्देशन विधु विनोद चोपड़ा ही कर रहे हैं। फिल्म 7 फरवरी 2020 को सिनेमाघरों में उतरेगी।