ऋषि कपूर के घरवालों ने की कानून का सम्मान करने की अपील

ऋषि कपूर का गुरुवार की सुबह निधन हो गया। ऐसे में ऋषि कपूर के अंतिम दर्शन के लिए भारी संख्या में फैन्स की भीड़ उमड़ने की संभावना है। इसलिए परिवार वालों ने एक शोक संदेश जारी कर देश भर में चल रहे लॉकडाउन का सम्मान करने की अपील की है। 

Rishi kapoor last appeal to fans
हिन्दी फिल्म जगत के चमकते सितारों में से एक ऋषि कपूर का गुरुवार की सुबह पौने नौ बजे निधन हो गया। परिवार की तरफ से उनके निधन के बाद शोक संदेश जारी किया, जिसमें ऋषि के आखिरी क्षणों के बारे में जानकारी देने के साथ एक अपील भी की गई है। 

इस शोक संदेश में लिखा गया है कि अस्पताल के बिस्तर पर पड़े-पड़े जब उनकी सांसें उखड़ रही थीं, तो भी हॉस्पिटल स्टॉफ का किसी न किसी तरह मनोरंजन ही करने की कोशिश कर रहे थे। ऋषि कपूर ज़िंदादिल इंसान थे और अपनी ज़िंदादिली आखिरी सांस तक बरकरार रखी। 

वहीं उनके परिवार ने उनके चाहने वालों से खास अपील की है। उनके परिवार ने ऋषि कपूर के चाहने वालों से उनके अंतिम संस्कार में मजमा न लगाने की अपील की है।

परिवार की तरफ से जारी एक शोक संदेश में कहा गया है कि ऋषि कपूर दो साल तक दो अलग अलग महाद्वीपों में चले इलाज के दौरान हमेशा खुश रहे और जिंदगी जीने की इच्छा हमेशा उनमें कायम रही। दोस्त यार, परिवार, खाना खिलाना और फिल्में, बस इन्हीं में उनका दिल बसता था और इस दौरान जो भी उनसे मिला, ये देखकर हैरान रहा कि कैसे उन्होंने कैंसर जैसी बीमारी को कभी खुद पर हावी नहीं होने दिया।

ऋषि कपूर हमेशा अपने मित्रों और चाहने वालों के निरंतर संपर्क में रहे। लैंडलाइन के जमाने में वह घर पर होते थे तो खुद फोन उठाते थे और मोबाइल आया, तो भी लोग बिना हिचके उन्हें फोन कर लिया करते थे। हमेशा खुशमिजाज रहने वाले ऋषि कपूर के घरवालों ने भी यही इच्छा जताई है कि लोग उन्हें मुस्कुराहट के साथ याद करें न कि आंसुओं के साथ।

गुरुवार की सुबह हुए निधन के बाद जारी इस संदेश में ये भी कहा गया है कि दुनिया इस समय बहुत ही मुश्किल और मुसीबत भरे समय से गुजर रही है। लोगों के आने जाने और इकट्ठा होने पर तमाम तरह की बंदिशे हैं। ऋषि कपूर के घर वाले चाहते हैं कि लोग इस समय लागू कानून का सम्मान करें और उनकी अंतिम यात्रा में भीड़ न लगाएं।

बता दें ऋषि कपूर ने अपना आखिरी ट्वीट 28 दिन पहले 2 अप्रैल को किया था। इस ट्वीट में भी कानून-व्यवस्था का सम्मान करने की अपील की थी। 

अपने ट्वीट में ऋषि कपूर ने कोरोना वायरस खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्टरों और नर्सों पर हुए हमले को लेकर दुख जताया था. उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की थी। उन्होंने लिखा था, 'एक अपील समाज के सभी भाइयों और बहनों से... कृपया हिंसा, पत्थर फेंकने या हत्या करने का सहारा न लें। डॉक्टर, नर्स, मेडिकल स्टाफ, पुलिसकर्मी आपको बचाने के लिए अपने जीवन को खतरे में डालते हैं। हमें इस कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध को एक साथ जीतना होगा। जय हिंद'

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां