फिरोज़ खान ने 'यलगार' में दीप ढिल्लन के कहने पर बदला था डेथ सीक्वेंस



फिरोज़ खान के बुलावे पर दीप ढिल्लन उनसे मिलने पहुंचे। फिल्म 'यलगार' में छोटी, लेकिन अहम भूमिका का प्रस्ताव था। दीप ने स्वीकार किया, लेकिन इसे करने से पहले एक शर्त भी रखी। दीप की शर्त को फिरोज़ खान ने मान लिया, जिसकी वजह से बजट 15 लाख बढ़ गया। फिल्म 'यलगार' से जुड़ा यह दिलचस्प वाकया, दीप ढिल्लन के बेटे अभिनेता कनवार ढिल्लन ने साझा किया है। 

feroz khan and deep dhillon in film 'yalgaar'
मनोरंजन जगत के कुछ कलाकार अपनी अदायगी के साथ दमदार आवाज़ के लिए जाने जाते हैं, उन्हीं अभिनेताओं में गिनती होती है दीप ढिल्लन की। हिन्दी के साथ पंजाबी फिल्मों में दमदार काम करने वाले दीप ने रुपहले पर्दे पर कई यादगार भूमिकाएं निभाई हैं। 

टीवी सीरीयल 'महाभारत' के 'जयदरथ' या 'विष्णु पुराण' के 'सहस्त्रार्जुन' हों या फिर फिल्म 'घायल' के 'इंस्पेक्टर शर्मा' या फिल्म 'मैंने प्यार किया' का वो 'ड्राइवर'...सभी किरदारों में दीप ने अलग छाप छोड़ी है। 

दीप ने कई फिल्मों और टीवी सीरीयल्स में जबरदस्त काम किया है, तो वहीं दीप के बेटे कनवार भी एक अभिनेता हैं। कई टीवी शोज़ में नज़र आ चुके कनवार ने अपने पिता दीप से जुड़ा एक दिलचस्प क़िस्सा अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया। 

यह क़िस्सा है फिरोज़ खान की फिल्म 'यलगार' से। साल 1992 में रिलीज़ हुई इस फिल्म को फिरोज़ खान ने प्रोड्यूस-डायरेक्ट करने के साथ बतौर एक्टर भी नज़र आए थे। वहीं फिल्म में संजय दत्त, मुकेश खन्ना, कबीर बेदी सरीखे कलाकार अहम भूमिकाओं में थे। 

इस फिल्म की कास्टिंग चल रही थी, तभी एक किरदार के लिए फिरोज़ खान ने दीप ढिल्लन से मुलाक़ात की। दीप ढिल्लन को जिस किरदार के लिए बुलाया गया था, वो फिल्म में काफी अहम है, लेकिन उसका सिर्फ एक ही बड़ा सीन था। इस किरदार को करने के लिए दीप राज़ी हो गए, लेकिन फिरोज़ खान के सामने एक शर्त रख दी। 

दरअसल, दीप ने फिरोज़ खान से कहा, 'फिल्म में जिस तरह से मेरे किरदार का अंत होता है, उसे बदलना होगा। मैं इस तरह की परफॉर्मेंस दूंगा कि आपको फिल्म में मेरे 'डेथ सीक्वेंस' को बदलना पड़ेगा।' 

दीप ढिल्लन की बात सुन कर फिरोज़ खान ने उनकी शर्त मान ली और फिर उन्हें अपनी फिल्म 'यलगार' में 'जगतियानी' का किरदार दे दिया। इसके बाद दीप ने अपने वादे के मुताबिक उस सीन में जबरदस्त परफॉर्मेंस दी और निर्देशक फिरोज़ खान ने भी दीप से किया वादा निभाया। 

दीप द्वारा निभाया गया 'जगतियानी' के 'डेथ सीक्वेंस' को उन्होंने बदला, जिस पर तकरीबन 15 लाख का खर्च आया। दरअसल, तब भारत में वीएफएक्स की सुविधा नहीं थी। ऐसे में उस सीन को लंदन में एडिट करवाया गया था। इस वजह से फिल्म के बजट पर अतिरिक्त दबाव बना था। 

वहीं फिरोज़ खान ने इस सीन के लिए कहा था, 'दीप तुम्हारा फीडबैक मुझे काफी महंगा पड़ेगा, लेकिन फिर भी चलो करते हैं।' 

पहले जहां 'जगतियानी' को कबीर बेदी द्वारा निभाए गए किरदार 'राज प्रताप सिंघाल' बीच सीन में ही शूट कर देता है, लेकिन इस सीन को पूरा बदल दिया गया। फिल्म में आप देखेंगे कि 'जगतियानी' को 'सिंघाल' के आदमी एक ऊंची इमारत से नीचे फेंक देते हैं और फिर उसकी मौत हो जाती है। 

इस क़िस्से के साथ कनवार ने बताया कि अपने पिता दीप ढिल्लन से यह वाकया उन्हें बीते सप्ताह ही सुनने को मिला। इस सुनकर वो अचंभित हुए। वो कहते हैं, 'मेरे पिता ने कभी अपनी पर्सनॉलिटी या परफॉर्मेंस से पैसों के लिए या फिर कोई ज्यादा मशहूर या पॉवरफुल भले ही क्यों न खड़ा हो से समझौता नहीं किया। यहां तक कि इस सीन को ही देख लीजिए, वो पूरे सीन में छाए हुए हैं।'

कनवार ने यह भी लिखा है कि दीप ढिल्लन की आवाज़ और बॉडी से कई बॉलीवुड अभिनेता डरा करते थे, क्योंकि दीप के सामने वो खुद को बौना महसूस करते थे। ऐसे में उनको कोशिश होती थी कि सीन को ऑल्टर किया जाए या कम वास्तविक बनाया जाए। 

कनवार ने यह भी जानकारी लिखी है कि एक सुपरस्टार ने दीप का आवाज़ को डब करवा दिया था, क्योंकि उसे लगा कि दीप की आवाज़ उस पर भारी पड़ जाएगी। हालांकि, कनवार ने नाम नहीं जाहिर किया। 

अपनी इस पोस्ट में उन्होंने एक दिलचस्प जानकारी और दी, और वह यह कि फिल्म 'यलगार' में 'जगतियानी' ने जो सनग्लासेस पहनी है, उसे अब कनवार पहनते हैं। 

अब आप भी वो सीन और पोस्ट देखिए। 

YALGAAR ki kahani bhi Papa se humne parson hi suni..Kya zamaana tha inka! Dad met up with Mr.Feroz khan ji & was told...
Posted by Kanwar Dhillon on Wednesday, June 10, 2020
संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां