शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, 'लोग कंगना की सफलता से चिढ़ते हैं'



कंगना रनौत अक्स अपने बेबाक अंदाज़ से लोगों के निशाने पर आ जाती हैं। ऐसा ही एक बार फिर से देखने को मिला, जब हाल ही में एक चैनल को दिए इंटरव्यू के बाद बॉलीवुड के कई लोगों ने उन पर निशाना साधना शुरू कर दिया, लेकिन इसी बीच बीते जमाने के दिग्गज अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा कंगना का सपोर्ट करते दिखे। हाल ही में दिए अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा, 'कंगना के खिलाफ बोलने वाले उसकी सफलता से चिढ़ते हैं।'

Kangana ranaut and shatrughna sinha
बॉलीवुड की बेबाक-बेखौफ कंगना रनौत अपनी राय रखने से कभी भी पीछे नहीं हटती है। ऐसे ही जब सुशांत सिंह राजपूत के अचानक निधन के ख़बर आई और कहा गया कि वो डिप्रेशन में थे। इस पर एक चैनल को कंगना ने इंटरव्यू दिया और बताया कि बॉलीवुड में सुशांत के साथ हो रहे व्यवहार की वजह से ही वो डिप्रेशन के शिकार हो गए। 

सुशांत को लेकर कई सारे खुलासे करने के साथ बॉलीवुड में होने वाली गुटबाजी, नेपोटिज्म आदि को लेकर भी कंगना ने काफी कुछ कहा। उनके इस इंटरव्यू के बाद जहां कुछ लोग उन्हें सपोर्ट कर रहे हैं, तो बॉलीवुड का एक तबका उनका पुरजोर विरोध कर रहा है। 

इन सबके बीच बीते जमाने के दिग्गज अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा भी सामने आ गए हैं। 'शॉटगन' कहे जाने वाले शत्रुघ्न सिन्हा ने कंगना का सपोर्ट करते हुए बॉलीवुड में होने वाली खेमेबाजी पर भी खुलकर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि कंगना के खिलाफ बोलने वाले लोग उनकी सफलता से जलते हैं।

एक चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, 'मैंने अधिकतर लोगों को देखा है कि वे कंगना रनौत के खिलाफ बोलते हैं, क्योंकि अंदर से वे लोग उनसे जलते हैं। वे लोग सोचते हैं कि हमारे रहमो-करम के बगैर, हमारी मर्जी के बगैर, हमारे ग्रुप में शामिल हुए बगैर, हमारे आशीर्वाद के बगैर, हमारे पुश के बगैर ये लड़की बहुत आगे कैसे निकल गई, इस बात की उनको चिढ़ होती है, जलन होती है। वे लोग कंगना की सफलता से चिढ़ते हैं।'

इससे पहले शत्रुघ्न सिन्हा ने करण जौहर के शो 'कॉफी विद करण' पर तंज कसा था। उन्होंने कहा कि ऐसे शो विवाद का कारण बनते हैं। शत्रुघ्न ने यह भी बोला कि फिल्म इंडस्ट्री किसी की प्रॉपर्टी नहीं है। 

एक इंटरव्यू के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, 'हमारे जमाने में कोई कॉफी विद करण नहीं था। इस तरह के प्लांड इवेंट्स से विवादों का जन्म होता है। जहां तक अभी जिन लोगों के बारे में बातें हो रही हैं, वे सभी हमारी सोसायटी के सदस्य हैं।'

उन्होंने आगे कहा कि फिल्म इंडस्ट्री किसी एक व्यक्ति का नहीं है, जो यह कहे कि चलो इसका बॉयकॉट करते हैं या फिर इस किसी व्यक्ति को फिल्म इंडस्ट्री से हटा देते हैं। आप पूछने वाले कौन होते हैं कि आपने इस इंडस्ट्री में कैसे एंटर किया और आपने अपनी लाइफ में क्या किया है?

बकौल शत्रुघ्न सिन्हा फिल्म इंडस्ट्री में कई ऐसे बड़े कलाकार हैं, जो छोटे से शहरों आते हैं, मुंबई में अपना करियर बनाने। सभी बड़े नाम जो आप ले रहे हैं, उनमें से अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र भी छोटे शहरों से हैं। वे बहुत बड़े शहरों से नहीं आए हैं। 

कंगना पर बात करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि कंगना अपने जीवन में बहुत ही मुश्किल समय का सामना करते हुए निकली हैं और अपने करियर में आगे बढ़ी हैं। अभी भी वो बहुत अच्छा कर रही है चाहें वो अपने जीवन में कर रही हो या फिल्मी दुनिया में। ज्यादातर लोग कंगना के खिलाफ बोलते हैं या वे कंगना का विरोध करते हैं, क्योंकि उनसे जलन वाले बहुत है। उनका मानना है कि हमसे बिना अहसान लिए, और बिना हमारी मर्जी के और बिना हमारे ग्रुप में शामिल हुए, बिना धक्का-मुक्की के यह लड़की कैसे सफल हुई? 

इस बातचीत के दौरान कंगना को शत्रुघ्न सिन्हा ने 'वुमन धर्मेद्र' का टैग भी दिया।


टिप्पणियां