सुशांत सिंह राजपूत से 'दोस्ती' पर संदीप सिंह ने दी सफाई

सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मृत्यु के बाद संदीप सिंह सवालों में घेरे में आ गए। कई लोगों ने उनकी मंशा पर भी सवाल उठाए। साथ ही उनसे कड़ाई से पूछताछ की भी अपील की। अब सुशांत के साथ दोस्ती का सबूत देते हुए संदीप सिंह ने अपने कुछ पुराने चैट्स के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर शेयर किए। इसके साथ लिखा, 'माफ करना भाई मेरी चुप्पी ने 20 साल की मेरी छवि और परिवार को तोड़ दिया...'

Sandip Ssingh  clear the air with Friednship with SSR

सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमयी निधन के बाद से ही संदीप सिंह शक के घेरे में आ गए। सोशल मीडिया पर उनसे कई तरह से सवाल पूछे गए और आरोप लगाए गए। मीडिया ने भी उनको कई जगहों पर घेरा, लेकिन हर बार वो चुप्पी साधे रहे। 

आखिरकार संदीप ने इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए रविवार शाम सोशल मीडिया पर कई पोस्ट करते हुए अपनी ओर से सफाई पेश की है। 

संदीप ने सुशांत के साथ हुई अपनी बातचीत के स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए खुद पर लग रहे सभी सवालों का जवाब दिया है। इसके अलाव सुशांत की बड़ी बहन और जीजाजी के साथ हुई चैट शेयर करते हुए ये बताया है कि सुशांत से उनकी मुलाकात उनके निधन के बाद ही हुई थी। 

संदीप ने सुशांत के साथ अपनी चैट के स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए अपनी पहली पोस्ट में लिखा, 'माफ करना भाई, मेरी चुप्पी ने मेरी 20 साल की छवि और परिवार को टुकड़ों में तोड़ दिया है। मैं इस बात से अनजान था कि आज के जमाने में दोस्ती को एक सर्टिफिकेट की जरूरत होती है। आज मैं अपनी निजी बातचीत को सार्वजनिक कर रहा हूं, क्योंकि हमारे बीच की दोस्ती को साबित करने का यही आखिरी उपाय है।'


इस पोस्ट में संदीप ने सुशांत के साथ अपनी बातचीत के जो 5 स्क्रीनशॉट्स शेयर किए है, जो नवंबर 2016 से जून 2018 के हैं। इनमें से 9 नवंबर 2016 की चैट में सुशांत ने संदीप से कहा कि 'मेरे पास ऐसे दोस्त नहीं हैं जो मेरे पास होने चाहिए, लेकिन ऐसा भी नहीं है। मेरे पास सिर्फ शेट्टी है और तुम्हारा भी हमेशा स्वागत है भाई।'

संदीप का सवाल, 'क्या मैंने ग़लत किया?'

अगली पोस्ट में संदीप लिखते हैं, '14 जून को जब मैंने तुम्हारे बारे में सुना तो मैं खुद को रोक नहीं सका और दुखी होकर तुम्हारे घर पर पहुंच गया, लेकिन मैं ये देखकर हैरान रह गया कि वहां मीतू दीदी के अलावा कोई भी मौजूद नहीं था। मैं अब भी सोच रहा हूं कि क्या उस दुख की घड़ी में तुम्हारी बहन के साथ खड़े होकर मैंने कुछ गलत किया या मुझे तुम्हारे अन्य दोस्तों के आने का इंतजार करना चाहिए था।' 


संदीप ने अपनी तीसरी पोस्ट में सुशांत के परिवार के साथ हुई बातचीत के स्क्रीनशॉट्स शेयर करते हुए लिखा, 'हर कोई कह रहा है कि तुम्हारा परिवार मुझे नहीं जानता। हां ये सही है, मैं कभी तुम्हारे परिवार से नहीं मिला। क्या भाई के अंतिम संस्कार को पूरा करने के लिए इस शहर में अकेली दुखी बहन की मदद करना, मेरी गलती है? एंबुलेंस ड्राइवर के बयान के बाद भी मैं उन अटकलों को खत्म करना चाहता हूं, कि मैं उससे क्यों बात कर रहा था।'


सुशांत के दीदी और जीजाजी से संदीप के बीच 15 जून, 17 जून, 21 जून और 1 जुलाई के हैं। इन चैट्स में संदीप और सुशांत की दीदी के बीच मीडिया के लिए जारी एक प्रेस नोट को लेकर बात हो रही है, जिसमें मीडिया से सुशांत की मौत को लेकर अटकलें नहीं लगाने के लिए कहा गया था। साथ ही मीतू, संदीप से सुशांत का डेथ सर्टिफिकेट लाने के लिए कहती हैं।

इसके अलावा मीतू, संदीप से सुशांत की बॉडी को ले जाने वाली एंबुलेंस का पेमेंट होने या नहीं होने के बारे में भी सवाल पूछती हैं, जिसके बाद संदीप उन्हें बताते हैं कि वो हो चुका है। 

एक चैट में संदीप किसी नीलोत्पल जी के बारे में पूछते हुए बताते हैं कि वो मेरे खिलाफ झूठे आरोप लगा रहे हैं, जिसके बाद मीतू उन्हें बताती हैं कि वो किसी नीलोत्पल को नहीं जानती।

संबंधित खबरें
रिया चक्रवर्ती ने खोले कई 'ए' लिस्टर्स के 'ड्रग कनेक्शन'

टिप्पणियां