सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बड़बोली कंगना को दिव्या का करारा जवाब

कंगना इन दिनों सिने जगत के फलक का चमकता सितारा बन गई हैं। इसके साथ ही उनके दामन में विवादों और शिक़ायतों के दाग़ भी लगने लगे हैं। इस बार अभिनेत्री दिव्या दत्ता नाराज़ हो गईं। क्या है पूरा माज़रा पढ़िए ख़बर में ...

कंगना के बयान पर दिव्या ने किया ट्वीट। सुलतान के लिए सलमान से मना किया, विशाल की फिल्म रंगून में अहम किरदार में हैं
मुबई। महज़ 28 वर्ष की उम्र में दो राष्ट्रपति पुरस्कार पाने वाली अभिनेत्री कंगना रानौत इनदिनों कुछ बड़बोली भी गई हैं हो। कामयाबी सिर चढ़ कर बोलती है और शायद इसी नशे में चूर होकर कंगना ने ख़ुद को इंडस्ट्री की सबसे उम्दा अभिनेत्री घोषित कर दिया। इसी तारतम्य में उन्होंने कहा, 'बॉलीवुड में कोई ऐसी अभिनेत्री नहीं है, जो क्वीन और दत्तो का किरदार निभा सके।'

कंगना के इस बयान कई अभिनेत्रियों को चोटिल तो किया ही होगा, लेकिन किसी ने इस पर टिप्पणी करने की ज़ेहमत नहीं उठाई। पर यह तल्ख़ बयान अभिनेत्री दिव्या को रास नहीं आई। उन्होंने झट से ट्वीटर पर इसका जवाब दे डाला। 

वे अपने ट्वीट में लिखतीं हैं, 'क्या वाकई उन्होंने ऐसा कहा। इन किरदारों को वो कर इस लिए पाईं क्योंकि उनको सही समय पर सही काम मिल गया। रही बात टैलेंट की तो इंडस्ट्री में टैलेंट की कोई कमी नहीं है। ' दिव्या की यह टिप्पणी पढ़कर यह अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि कंगना के बेलगाम ज़बान ने कितनों को आहत किया।

सल्लू को भी ना

ख़ैर, कंगना ने न सिर्फ़ अभिनेत्रियों को आड़े हाथों लिया बल्कि उन्होंने सलमान के साथ भी काम करने से मना कर दिया। हांलाकि, यह मनाही इसलिए थी कि सलमान की फ़िल्म 'सुल्तान' में उनका किरदार दमदार नहीं था। वैसे विशाल भारद्वाज की आगामी फ़िल्म 'रंगून' की तैयारियों में वे जुट गई हैं। 18 सितंबर को उनकी फ़िल्म 'कट्टी बट्टी' भी रिलीज़ हो रही है।

पेरिस में धमाल

कंगना फ़िल्म 'क्वीन' के प्रीमियर पर पेरिस में हैं। यहां उनके स्टाइल सेंस की काफ़ी वाह वाही मिल रही है। उन्होंने इंटरनेशनल डिजाइनर राल्फ एंड रूसो के लेटेस्ट कलेक्शन का वाइट प्रिंसेस गाउन पहना, और मेकअप भी काफी कम लगाया था। 

यहां दिए एक साक्षात्कार में में उन्होंने कहा, 'ए लिस्टर्स स्टार्स गोरा करने वाली क्रीम का विज्ञापन करते हैं। यह काफी शर्मनाम है। गोरे रंग के नाम पर महिलाओं के आतमविश्वास और काबिलियत को परखना सही नहीं है। '

संघर्ष का वो दौर

कंगना आज जिस मुक़ाम पर है, उन्हें वो हासिल करने में काफ़ी मेहनत करनी पड़ी। बकौल कंगना उन्होंने कभी अपने सपनों का दामन नहीं छोड़ा। आज इंडस्ट्री में सबसे ज़्यादा मेहनताना लेने वाली इस अभिनेत्री को एक बार पटरी पर भी रात गुजारनी पड़ी। 

वर्ष 2006 में फ़िल्म 'गैंगस्टर' से बॉलीवुड में कदम रखने वाली कंगना को लंगे समय तक हताशा ही हाथ लगी। बसों और ट्रेन में सफर करने के अलावा कई बार काम मांगने के लिए पैदल पर भी सफर किया करती थी। रास्ते में एक बार उनका सामान भी उनसे छिना गया, जिसकी शिक़ायत पुलिस में भी करवाई थी।

उस दौर के बारे में कंगना कहती हैं, 'सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से सोचते हैं। मैंने हमेशा ही खुद से प्यार किया है। कभी किसी से अपनी तुलना नहीं की। इसी सोच के साथ कोशिश करती रही। जब पहली फ़िल्म को सफलता मिली तो सब कुछ मेरे फेवर में हो गया। '

लिखूंगी किताब

कंगना संघर्ष से सफलता तक की कहानी को अपनी ऑटोबायोग्राफ़ी में उतारेंगी। इसके पीछे की वजह बताते हुए कि मेरी किताब से लोगों को प्रेरणा मिलेगी। फिलहाल तो फुरसत नहीं है, जीवन में कुछ ठहराव आने के बाद मैं अपनी ऑटोबायोग्राफ़ी पर ज़रूर काम करूंगी। वो यह भी कहती हैं कि मुझे डर है कि मेरी किताब में कुछ बातें 'संवेदनात्मक' होंगी।

संबंधित खबरें
आगे सलमान के बाद ऋतिक के साथ जोड़ा बनाएंगी सोनम