सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अपनी देशभक्ति साबित करने की ज़रूरत नहीं - नसीरुद्दीन

पूर्व पाकिस्तानी विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की किताब के विमोचन के दौरान ट्वीटर पर लोगों की आलोचनाओं का शिकार हुए, अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा है कि उन्हें अपनी देशभक्त साबित करने की ज़रूरत नहीं है। साथ ही उन्होंने मीडिया की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगाया ...

अपनी देशभक्ति साबित करने की ज़रूरत नहीं - नसीरुद्दीन
मुंबई। बीते दिनों एक विमोचन को लेकर काफ़ी हंगामा बरपा। इस हंगामें की चपेट में अभिनेता नसीरुद्दीन शाह भी आ गए। दरअसल पाकिस्तान के पूर्व विदेशमंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की किताब विमाेचन हुआ। इसी दौरान यह सब घटित हुआ।

इसके बाद नसीर ट्वीटर पर लोगों की आलोचना का शिकार हुए। इस मामले के चलते एक टेलीविज़न चैनल को दिए साक्षात्कार में नसीर ने कहा, "इस घटना की जिस तरह से रिपोर्टिंग हुई, उस से मैं काफ़ी आहत हूं। 

उस कार्यक्रम के दौरान मौजूद कई बुद्धिजीवियों ने कई ने कई अहम बातें कहीं, लेकिन उन्हें तवज्जो देने बजाए, ग़लत तरीक़े से रिपोर्टिंग की गई। "

इस साक्षात्कार में उन्होंने आगे कहा कि मेरा नाम नसीरुद्दीन है, शायद यही वजह रही कि लोगों ने मुझ पर और निशाना साधा। 

उन्होंने कहा कि नफ़रत फैलाने वालों के पास बदकिस्मती से वो स्थान है, जहां से उनकी आवाज़ सुनी जा सकती है। वे ख़बर को अलग नज़रिया देने की ताकत रखते हैं।

ख़ैर, मुझे मेरी देशभक्ति किसी और के सामने साबित करने की ज़रूरत नहीं है। अपनी परेशानी साझा करते हुए कहते हैं कि यह तो मेरे समझ से परे है कि पाकिस्तान की तारीफ़ में कही कोई बात राष्ट्र-विरोधी कैसे हो सकती है। 

यदि मैं कहूं कि इमरान ख़ान एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं, तो इसका यह मतलब तो नहीं कि सुनील गावस्कर बेहतर खिलाड़ी नहीं है।

आगे अस्पताल के बिस्तर से जॉन का 'थम्स अप'