सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हिरानी बनाएंगे संजय दत्त की बायोपिक

बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त की ज़िंदगी को रुपहले परदे पर उतारने की पूरी तैयारी गई है हो। राजकुमार हिरानी ने फ़िल्म को शूट करने के पहले चरण की तैयारी पूरी कर ली हैं। वर्ष 2016 से इसकी शूटिंग शुरू हो जाएगी और वर्ष 2017 में इसे दर्शक देख सकेंगे। इस फ़िल्म में संजू बाबा की प्रेम कहानी से लेकर ड्रग एडिक्शन और कानूनी सिकंजे का सफ़र देखने को मिलेगा। अब देखने वाली बात तो यह होगी कि हिरानी संजू के जीवन के किस हिस्से को दिखाते हैं और क्या क्या छुपाते हैं ...

राजकुमार हिरानी संजय दत्त पर एक बायोपिक बनाएंगे
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त के जीवन पर आधारित फ़िल्म बनाई जा रही है। इसे फिल्मकार राजकुमार हिरानी बना रहे हैं, जो संभवत: साल 2017 में प्रदर्शित की जाएगी।

यानी हिरानी क्रिसमस के मौक़े को एक बार और भुनाने की ताक में हैं। आपको बता दें कि इससे पहले हिरानी की पहली फ़िल्म 'मुन्ना भाई एमबीबीएस' 19 दिसंबर 2003, '3 इडियट्स' 25 दिसंबर 2009 और पिछले साल आई 'पीके' 19 दिसंबर को रिलीज हुई थी।

संजय दत्त पर आधारित इस फ़िल्म के रिलीज़ के बारे में हिरानी ने कहा कि इस फ़िल्म की शूटिंग हम अगले वर्ष जून के आस पास शुरू करेंगे। फ़िल्म को पूरा होने में तक़रीबन डेढ़ साल का समय लगेगा। अब इतना समय लगेगा, तो जाहिर है रिलीज वही क्रिसमस के आसपास होगी।

संजू बाबा पर आधारित इस बायोपिक में रणबीर कपूर मुख्य भूमिका में होंगे। संजय दत्त की ज़िंदगी का 17 वर्ष की उम्र से लेकर अभी तक का सफ़र दिखाया जाएगा। इस समय संजय वर्ष 1993 में हुए सिलसिलेवार मुंबई बम धमाकों के मामले में अवैध हथियार रखने के आरोप में पुणे की यरवदा जेल में पांच वर्ष की सजा काट रहे हैं।

संजू बाबा का जीवन उतार चढ़ाव से भरा हुआ। प्रेम से लेकर शादियों तक के क़िस्मे कम दिलचस्प नहीं हैं। उनके साथ जुड़े नामों में टीना मुनीम, माधुरी दीक्षित, लीज़ा रे, ऋचा शर्मा, रिया पिल्लई ख़ास रहीं। 

जहां टीना मुनीम, माधुरी दीक्षित, लीज़ा रे से उनकी अफेयर की ख़बरों ने सुर्खियां बटोरी, वहीं ऋचा शर्मा से मुलाक़ात और झटपट शादी की खबरों ने भी लोगों का ध्यान खींचा। 

ऋचा से उन्हें एक त्रिशाला नाम की बेटी है। ऋचा के मरने के बाद रिया पिल्लई के साथ लिव-इन रिलेशन में रहे। यह रिश्ता बाद में शादी तक भी पहुंचा। लेकिन बाद में यह शादी भी कुछ सालों बाद टूट गई।

किसी ने इसके लिए संजू को जिम्मेदार माना, तो कुछ रिया पिल्लई को कुसूरवार ठहराते रहे। लेकिन जैसा कि हर फ़िल्म के अंत में सब ठीक हो जाता है, संजू की ज़िंदगी में भी सबकुछ ठीक होने ही लगा। 

उनकी मुलाकात मान्यता से हुई। कुछ वक़्त बाद मान्यता से उन्हें प्यार हुआ और बहन प्रिया के विरोध के बाद दोनों ने सात फेरे ले लिए। अब संजू और मान्यता के दो बच्चे हैं। एक बेटा और एक बेटी।

 खै़र हिरानी की फ़िल्म की कहानी भी इन्हीं बिंदूओं पर ही केंद्रित होगी। इसके अलावा संजय के कानूनी मसलों को भी प्रमुखता से फ़िल्म में दिखाया जाएगा।

लोगों को संजय दत्त के भटकाव की दो वजहें लगती हैं। पहली है मां नर्गिस का बहुत ज़्यादा लाड़ प्यार और दूसरा अनुशासित और सख्त पिता।

क्या हिरानी इस एंगल को लेंगे और यदि हां, तो फिर किस तरह उसको ट्विस्ट करेंगे। इस पर हिरानी ने बताया कि संजय की जिंदगी के कई पहलू हैं, लेकिन हम सभी पहलुओं को फ़िल्म में नहीं ला पाएंगे। किसी भी बायोपिक को आप देखिए, उसमें सबकुछ नहीं जोड़ा जाता।

हिरानी ने उदाहरण देते हुए कहा, "आप गांधी (1982) देख लें, इसमें उनका राजनीतिक जीवन और देश के प्रति एंगल रखा गया। पारिवारिक पहलु और बच्चे शामिल नहीं किए गए। उनके बच्चों की बात करने वाली एक अलग फ़िल्म 'गांधी माय फादर 'बनी। आम दर्शक जिस व्यक्ति के बारे में जो जानना चाहती है, फ़िल्म को भी उसी विषय पपर केंद्रित होना चाहिए।

तो क्या फ़िल्म में संजू की लव लाइफ और कानूनी मसले भी देखने को मिलेंगे। इस पर बेबाकी से बोलते हैं, "हां, फ़िल्म इसी के आसपास है, लेकिन आप फ़िल्म देखेंगे, तो लगेगा कि आपने संजू की पूरी जिंदगी देख ली। '

फिल्म 'रॉकी' से संजय जब फ़िल्म इंडस्ट्री में लॉन्च हो रहे थे, तब उनकी मां कैंसर से जूझ रही थीं। राजू बताते हैं, "ये भी बहुत महत्वपूर्ण टर्न है। कुछ चीजें हम फ़िल्म में लेंगे, लेकिन संजय के जीवन में इतने नाटकीय मोड़ हैं कि 20 घंटे की फ़िल्म भी कम ही पड़ेगी। "

ड्रग एडिक्ट बनना और फिर वापस लौटना हीरोइज़्म है, लेकिन मुंबई ब्लास्ट की जानकारी और हथियार रखने के मसले को फ़िल्म में जस्टिफाई करेंगे?

इस पर राजू कहते हैं, "मैं जस्टिफाई नहीं करना चाह रहा। मेरी कहानी सच्चे तथ्यों पर है, जो मैंने संजू से सुना और रिसर्च की, कई लोगों से मिला फिर कहानी तय की। जैसे रिचर्ड एटनबरो को जो गांधी के लिए लगा होगा उसी को प्रमुखता देकर उन्होंने कहानी बुनी। संजू को भी हमने ये बात पहले स्पष्ट कह दी थी। "वहीं फ़िल्म की नायिकाओं के चुनाव पर राजू ने कहा कि रणबीर कपूर को तो हम काफी पहले संजय की भूमिका में तय कर चुके हैं। 

स्क्रिप्ट का बेसिक खाका तैयार है, लेकिन हर रोज हम कई बदलाव कर रहे हैं। एक बार तय हो जाए कि किसका कितना रोल है, उसके बाद ही हम कास्टिंग की तरफ जाएंगे। अगले दो महीनो में स्क्रिप्ट का फाइनल ड्राफ्ट पूरा करने के साथ हम अभिनेत्रियों को भी तय करेंगे।

रफी पर भी फ़िल्म

मोहम्मद रफी पर भी फ़िल्म बन रही है।

संजू की बायोपिक के अलावा एक और बायोपिक की तैयारियां हो रही हैं। नई जानकारी के मुताबिक़ आवाज की दुनिया के बेताज बादशाह दिवंगत मोहम्मद रफी पर भी फ़िल्म बन रही है। 

केरल के निर्माता मोहम्मद रफी की जीवन को परदे पर जीवंत करेंगे। इसकी जानकारी रफी के बेटे शाहिद रफी ने दी। इस फ़िल्म को सुजाता देव ले लिखा है, जिसमें चार दशक तक अपनी गायकी का जादू बिखेरने वाले रफी ​​के जीवन के विभिन्न पहलुओं को दिखाया जाएगा।

शाहिद रफी ने कहा कि केरल के एक निर्माता हैं, जो मेरे पिता पर फ़िल्म बना रहे हैं। वह उनके बहुत बड़े प्रशंसक हैं। वह मेरे पिता से बहुत प्रभावित हैं। शाहिद से उस फ़िल्म निर्मात से संपर्क करके इस प्रोजेक्ट के बारे में उनसे चर्चा की। और साथ ही शाहिद को रफ़ी का किरदार निभाने की बात कही। 

बकौल शाहिद मैंने हालांकि उनसे कहा कि मैंने कभी अभिनय नहीं किया है, लेकिन उन्होंने कहा कि आप अपने पिता की तरह दिखते हैं और हम आपको रफी साहब बनाने जा रहे हैं।

शाहिद ने कहा कि आख़िरकार उन्होंने मुझे मना ही लिया। कुछ महीनों में मैं इसकी शूटिंग शुरू करूंगा।

संबंधित ख़बरें