सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

ऋषि कपूर बने 'दादू'

अरे नहीं, रणबीर कपूर ने कोई सीक्रेट मैरिज नहीं की है और ना ही वो पिता बनें। तब फिर ऋषि कपूर 'दादू' कैसे बन गए। लेकिन सच तो यही है, ऋषि कपूर 'दादू' भी बने हैं और 'दादू' बनने के लिए करोड़ों रुपये भी फूंके हैं। बात यहीं खत्म नहीं होती, बल्कि चींटू जी के नाम से मशहूर ऋषि कपूर ने 'दादू' बनने के लिए घंटो इंतजार और मेहनत भी की है। आपकी बेताबी तो ज़रूर बढ़ गई होगी, तो चलिए हम आपको बताते हैं कि माजरा क्या है। 

अभिनेता ऋषि कपूर फिल्म 'कपूर एंड संस' में कुछ इस तरह दिखेंगे
मुंबई। दरअसल, ऋषि कपूर ने 'दादू' की भूमिका 'कपूर एंड संस' के लिए अपनाई है। इस रूप में आने के लिए उनका मेकअप एक विदेशी मेकअप आर्टिस्ट ने किया है। इस ख़बर को विस्तार से जानने के लिए आगे क्लिक करें।

फिल्म 'कपूर एंड संस' एक कॉमेडी रोमांटिक ड्रामा है, जिसमें अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा ​​और फवाद खान भाइयों के किरदार में हैं और उनके दादा का किरदार ऋषि कपूर निभा रहे हैं। इस फिल्म में आलिया भट्ट भी हैं।

आपको बता दें कि इसका ट्रेलर तो 10 फरवरी को रिलीज़ किया जाएगा, लेकिन आलिया ने फिल्म में 'दादू' का किरदार निभाने वाले ऋषि कपूर का लुक ट्वीट के जरिये रिलीज किया है। फोटो शेयर करते हुए आलिया ने लिखा, “Say hello to the CUTEST member of the #KapoorAndSons family.. Dadu !!! Stay tuned for more @chintskap”

इसके बाद अभिनेता ऋषि कपूर ने भी इसे रीट्वीट किया और लिखा, “Kapoor & Sons. First look of mine in the film. Others to follow. Await!!”

शकुन बत्रा के निर्देशन में बन रही फिल्म को शंकर एहसान लॉय ने संगीत से सजाया है। वहीं करण जौहर इसके निर्माता हैं। 'दादू' के लुक वाली तस्वीर को निर्माता करण ने भी फैन्स के साथ शेयर की है। प्रोडक्शन के बैनर तले यह फिल्म 18 को मार्च धर्मा रिलीज होगी।

'दादू' बनने का दर्द

इस फिल्म में ऋषि को 85 साल के बुजुर्ग की भूमिका में दिखना था, जिसके लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ती थी। शूटिंग के दौरान ऋषि ने एक महीने तक रोजाना पांच घंटे अपने मेकअप पर लगाए हैं और इस पर डेढ़ करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। 

वे बुजुर्ग के किरदार में ढलने के लिए वे रोजाना पांच घंटे मेकअप पर खर्च करने के लिए सुबह पांच बजे उठते थे। उनका मेकअप हॉलीवुड के मेकअप आर्टिस्ट ग्रेग कैनम ने किया है। आपको बता दें कि ग्रेग नौ बार ऑस्कर अवॉर्ड्स के लिए नॉमिनेट हुए हैं और तीन बार ऑस्कर जीत चुके हैं।

ऋषि ने सुझाया ग्रेग को

निर्माता और निर्देशक को ग्रेग कैनन के बारे में ऋषि कपूर ने बताया। ऋषि कहते हैं, "जब करण जौहर और शकुन बत्रा मुझसे मिलने आए, तो मैंने उन्हें कैनम का नाम सुझाया क्योंकि मैं उसके बारे में सुन चुका था। मुझे नहीं पता था कि वे मानेंगे या नहीं क्योंकि यह काफी पैसा खर्च करने वाला था। 

लेकिन करण तैयार हो गए उन्हें पता था कि इसकी लागत डेढ़ से पौन दो करोड़ रु के बीच।। आएगी। " ऋषि बताते हैं कि शकुन और मैं कैनम से मिले थे और लुक के बारे में बातचीत की थी और फैसला किया कि यह ऋषि कपूर और ए.के. हंगल का मिला-जुला रूप होगा।

संबंधित ख़बरें
आगे वहीदा ने गुरुदत्त की एक न सुनी