सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

'निल बटे सन्नाटा' का मतलब है मज़ेदार

आनंद एल राय की कलर यलो प्रोडक्शन और इरोज़ इंटरनेशनल निर्मित फिल्म 'निल बटे सन्नाटा' का ट्रेलर जल्दी ही लॉन्च होने वाला है। लेकिन ट्रेलर से पहले ही इस फिल्म के नाम ने ही दिलचस्पी बढ़ा दी है। उत्तरी भारत के कुछ हिस्सों में यह वाक्य बहुत प्रच‍लित है।

श्विनी अय्यर तिवारी निर्देशित और अभिनेत्री स्वरा भास्कर अभिनीत फिल्म 'निल बटे सन्नाटा
मुंबई। 'तनु वेड्स मनु' और 'रांझणा' जैसी फिल्में बनाने वाले आनंद राय के प्रोडक्शन के बैनर तले बड़े ही दिलचस्‍प नाम वाली फिल्म बन रही है। इसका जल्दी ट्रेलर लॉन्च किया जाना है। 

कलर यलो प्रोडक्शन और इरोज़ इंटरनेशनल मिलकर 'निल बटे सन्नाटा' नाम की फिल्म बनाई है। अश्विनी अय्यर तिवारी निर्देशित और अभिनेत्री स्वरा भास्कर अभिनीत फिल्म 'निल बटे सन्नाटा' को लेकर लोगों में दिलचस्पी देखने को मिल रही है। 

फिल्म का नाम इतना अनोखा है कि लोगों में इसके अर्थ को जानने की उत्सुकता काफी बढ़ गई है। 'निल बटे सन्नाटा' आमतौर पर यूपी , बिहार , झारखंड में कहावत के रूप में प्रयोग किया जाता है। इन राज्यो में फिल्म के नाम को लेकर उत्साह है क्योंकि इन राज्य के लोगो को नाम का मतलब पता है। बाकी शहरों में लोग नाम का मतलब जानना चाहते है । 

आप को बताते हैं कि इसका क्या अर्थ है। 'निल बटे सन्नाटा' मतलब शून्य होता है। अब आप सोच रहे होंगे यही नाम क्यूं, इसके पीछे की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है।


ऐसे पड़ा फिल्म का नाम

फिल्म के निर्माता आनंद एल राय को नॉर्थ इंडिया बहुत ही पसंद है। उनकी अब तक आई फिल्मों की पृष्टभूमि पपर यदि आप ध्यान दे, तो पाएंगे कि आनंद की हर कहानी उत्तर भारत के किसी न किस क्षेत्र की ही है। वहीं अभिनेत्री स्वरा भास्कर की बात करे, तो उनकी हिंदी भाषा पर बहुत अच्छी पकड़ है। तभी तो उन्हें नॉर्थ इंडिया के दर्शक बेहद ही ज्यादा पंसन्द करते हैं।

फिल्म की निर्देशक अश्विनी अय्यर तिवारी का भी हिंदी से गहरा जुड़ाव है। उनके पति उत्तर प्रदेश से हैं और अश्विनी भी हिंदी भाषा का उपयोग एडवरटाइजिंग में किया है । अश्विनी चाहती थीं कि फिल्म का नाम सबसे अलग हो और लोग सोच में पड़े की आखिर 'निल बटे सन्नाटा' का मतलब क्या है । आपको बता दें कि इसका ट्रेलर 21 मार्च को लॉन्च होगा। 

संबंधित ख़बरें
आगे शाहरुख बनेंगे 'बौने' या होंगे 'सरदार'