सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अजय देवगन थे 'मास्टर छोटू'

अभिनेता अजय देवगन ने शुरुआत तो की एक्शन हीरो के रूप में और अपना परचम भी फहराया, लेकिन जब वो कूंदे कॉमेडी के मैदान में तो लोगों को हंसा हंसा कर लोट पोट कर दिया। अजय का जन्म दिल्ली में 2 अप्रैल 1969 को हुआ था। अपने करियर में अजय ने एक्टिंग से लेकर निर्माता और निर्देशक तक की भूमिका न‍िभाई है। इन्हें हाल ही में भारत का चौथा सबसे बड़ा सम्मान पद्मश्री से सम्मानित किया गया है। इन दिनों बहूप्रतिक्षित फिल्म 'शिवाय' की शूटिंग में व्यस्त हैं। उनके जन्मदिन पर सिने चिट्ठा की ख़ास पेशकश।

अभिनेता अजय देवगन किसी फिल्म में
मुंबई। अजय देवगन किसी पहचान के मोहताज़ नहीं हैं। इस बॉलीवुड अभिनेता ने खुद के बारे में बनाए हर अवधारणा को तोड़ा है। कभी एक्शन हीरो के नाम से पहचाने जाने वाले अजय ने कॉमेडी में भी अपने झंडे गाड़ दिए।

'जख्म' और 'द लेजेंड ऑफ भगत सिंह' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं। अभी हाल ही में उन्हें भारत का चौथा सबसे बड़ा सम्मान पद्मश्री से सम्मानित किया गया है।
अजय का परिवार 
यह तो सभी जानते हैं कि अजय ने अदाकारा काजोल से शादी की है और उनके दो बच्चे हैं। बच्चों में बेटी नायसा और बेटा युग है। वहीं अजय के पिता वीरू देवगन जाने-माने स्टंट कोरियोग्राफर हैं। इनके अलावा अजय की मां वीण प्रोड्यूसर हैं और उनका एक भाई अनिल देवगन भी हैं, जिन्होंने 'राजू चाचा' जैसी फिल्मों को डायरेक्ट कर चुके हैं।

अजय का पूरा नाम विशाल वीरू देवगन है, लेकिन घर पर सब उन्हें 'राजू' कह कर बुलाते हैं।अजय का परिवार इंडस्ट्री के उन प‍रिवारों में गिना जाता है, जहां संस्कार पहले नंबर पर आता है। संयुक्त परिवार में अजय रहते हैं। वे आज घर से निकलते हैं, तो अपने पिता के पैर छूकर निकलते हैं। 


अजय काजोल ऐसे आए करीब

अजय देवगन अपनी पत्नी काजोल के साथ

अजय और काजोल की प्रेमकहानी बेहद दिलचस्प है। एक वक्त ऐसा भी था, जब ये दोनों किसी और के साथ रिलेशनशिप में थे। फिल्म 'हलचल' में पहचान हुई और 'गुंडाराज' तक यह दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे। 

एक इंटरव्यू में काजोल ने बताया था कि अजय के साथ पहला शॉर्ट (फिल्म हलचल) देते हुए ही उन्हें यह अहसास हो गया था कि यह आदमी उनकी जिंदगी में बेहद अहम रोल प्ले करने वाला है। हालांकि, उस वक्त काजोल और अजय दोनों ही किसी और के साथ रिश्ते में थे। दोनों दोस्तों की तरह साथ वक्त बिताते थे।

उस दौरान काजोल अजय से अपने रिलेशनशिप और लव-लाइफ को लेकर अजय से सलाह लिया करती थी और अजय भी उन्हें 'बाबा जी' की तरह टिप्स दिया करते थे। 

काजोन ने उस इंटरव्यू में कहा था कि जब अजय से मिली तो देखा कि उन्हें एक किनारे अकेले बैठना पसंद है। ज्यादा बातें भी नहीं करते थे। तब काजोल को लगता था कि ऐसा भला कैसे हो सकता है कि कोई बात नहीं करे। फिर धीरे-धीरे वह काजोल से बात करने लगे और उनकी दोस्ती हो गई और यही दोस्ती प्यार में बदल गई।

आखिरकार 24 फरवरी, 1999 में दोनों ने शादी कर ली। शादी देवगन हाउस में परंपरागत महाराष्ट्रियन स्टाइल में हुई थी। पिछले 17 सालों से जोड़ी रिलेशनशिप में हैं। दोनों बेटी न्यासा और बेटे युग के पैरेंट्स हैं। इस जोड़ी ने कई हिट फिल्में भी दी हैं, जैसे 'इश्क', 'प्यार तो होना ही था', 'दिल क्या करे', 'राजू चाचा' और 'यू मी और हम'।


गिनती के दोस्त 

काफी कम लोग जानते हैं कि अजय को एक आंख में समस्या है, जिसके कारण उन्हें बहुत ज्यादा फिल्में देखने की अनुमति नहीं है। वहीं बात करें फिल्म इंडस्ट्री में उनके दोस्तों की संख्या की बेहद कम है। उनके दोस्त इंडस्ट्री से बाहर के हैं और कॉलेज के दिनों के हैं।

अभिषेक बच्चन, संजय दत्त और रोहित शेट्टी के अलावा उनका इंडस्ट्री में कोई दोस्त नहीं है। लेकिन कम दोस्त हैं जरूर पर पक्की दोस्ती निभाते हैं। आपको बता दें कि अभिषेक बच्चन ने ऐश्वर्या से शादी की बात अपने परिवार के बाद अजय को ही बताई थी। 


साल 1985 में की थी पहली फिल्म

अजय देवगन फिल्म 'प्यारी बहना' में मिथुन चक्रवर्ती के बचपन के रोल में

साल 1991 में आई 'फूल और कांटे' को लोग अजय देवगन की पहली फिल्म मानते हैं, लेकिन सच यह है कि अजय की पहली फिल्म साल 1985 में आई 'प्यारी बहना' है। इस फिल्म में अजय ने मिथुन चक्रवर्ती के बचपन का किरदार निभाया था। उस समय अजय को 'मास्टर छोटू' के नाम से बिल भेजा गया था।

ठुकराई कई हिट फिल्में 

फिल्म 'जख्म' और 'द लेजेंड ऑफ भगत सिंह' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार लेने वाले अजय ने कई हिट फिल्मों का हिस्सा हो सकते थे, लेकिन उन्होंने उन फिल्मों को करने से मना कर दिया। सबसे पहले राकेश रोशन की फिल्म 'करण अर्जुन' का नाम आता है।

इसमें सलमान खान ने जिस किरदार को निभाया है, उसके लिए अजय को अप्रोच किया गया था। लेकिन अजय ने मना कर दिया। इसके बाद 'डर' में भी शाहरुख का रोल उन्हें ही तब ऑफर दिया गया था, जब आमिर खान ने इसे ठुकरा दिया था।

सिर्फ यही नहीं संजय लीला भंसाली की 'बाजीराव मस्‍तानी' में लीड रोल 'बाजीराव' के लिए अजय देवगन से संपर्क किया गया था, लेकिन तारीखों और फीस को लेकर वे सहमत नहीं हुई और उन्होंने मना कर दिया। 

ड‍िब्बा बंद फिल्में 

साल 1999 में देवगन को फिरोज खान की 'कुर्बान तुझ पे मेरे जान' में लिया गया, जिसमें वह ऐश्वर्या राय बच्चन और फरदीन खान के साथ थे, लेकिन यह फिल्म भी डिब्बाबंद हो गई।

वहीं अजय देवगन ने पूजा भट्ट के अपोजिट फिल्म 'जख्म' की थी और उसके बाद से महेश भट्ट निर्देशित 'गिरवी' करने वाले थे, लेकिन यह फिल्म 20 फीसदी ही पूरी हुई और डिब्बा बंद हो गई। यही नहीं उनकी एक अन्य फिल्म 'सिंगर' भी डिब्बा बंद हो गई।