सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

परदे के 'कृष्ण' की झलकियां

बड़े परदे से लेकर छोटे परदे पर कई अभिनेताओं ने कृष्ण के रूप को साकार किया है। इनमें से कुछ ने तो कृष्ण के रूप को हमारे मन में स्थापित कर दिया है, तो कुछ सिर्फ परदे तक ही सिमट कर रह गए। आज कृष्ण जनमाष्टमी के अवसर पर सिने चिट्ठा आपके लिए लाया है, ऐसे ही कृष्ण की झलकियां। 

कृष्ण बने कलाकार - एन टी रामाराव, सर्वदमन बैनर्जी, नितिश भारद्वाज, सौरभ राज जैन, विशाल करवाल
मुंबई। कृष्ण का नाम आते ही कुछ शक्लें उभरती हैं, जैसे नितिश भारद्वाज, सर्वदमन बनर्जी और स्वपनिल जोशी। इनके अलावा भी कई कलाकारों ने कृष्ण के चरित्र को परदे पर साकार किया है। 

कोई बीआर चोपड़ा का कृष्ण है, तो कोई रामानंद सागर का, तो कोई एकता कपूर का कृष्ण बना।  परदे के इन कृष्णों के बारे में आइए विस्तार से जानते हैं...

एनटी रामाराव

तेलुगू के बड़े अभिनेताओं में से एक एनटी रामाराव ने तकरीबन 17 फिल्मों में भगवान कृष्ण की भूमिका निभाई थी। कृष्ण की भूमिका वाली बेहतरीन फिल्मों की बात की जाए, तो साल 1962 में आई 'श्रीकृष्णार्जुनयुद्धम', साल 1964 में आई तमिल फिल्म 'कर्नन' और साल 1977 में आई 'दानवीर सूर कर्ण' गिनी जाती हैं।

फिल्मों के बाद एनटी ने राजनीति के क्षेत्र में चले गए और साल 1982 में तेलुगुदेशम पार्टी बनाई। साल 1983 में वो पहली बार आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री बनेल और 1968 में उन्हें पद्मश्री से भी नवाजा गया।

नितीश भारद्वाज

बीआर चोपड़ा की 'महाभारत' में नितीश भारद्वाज 'कृष्ण' की भूमिका में दिखाई दिए थे। इसके बाद नितीश ने विष्णु पुराण, रामायण जैसे कई टीवी सीरियल में भी काम किया।

लेकिन नितिश के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं कि वे एक क्वालीफाइड वेटनरी सर्जन भी हैं। वैसे बीआर चोपड़ा पहले नितिश को अपने धारावाहिक में विदूर बनाना चाहते थे, लेकिन नितिश से मुलाकात और उनसे हुई चर्चा ने चोपड़ा को अपना फैसला बदलने पर मजबूर कर दिया।

कृष्ण के किरदार में लोगों को प्रभावित करने के बाद नितीश राजनीति में आ गए। उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ली और जमशेदपुर से लोकसभा सदस्य चुने गए। नितीश मराठी सिनेमा का एक जाना पहचाना चेहरा हैं।

उन्होंने फिल्म 'पितृरूण' से अपना डायरेक्शनल डेब्यू किया। नितीश ने दो शादियां की हैं। उनके दो बच्चे हैं, जो उनकी पूर्व पत्नी के साथ ही रहते हैं। नितीश ने दूसरी शादी मप्र कैडर की आईएएस से की।

नितीश अपनी पहली पत्नी मोनिषा पाटिल से अलग हो गए थे। नितीश और मोनिषा की शादी साल 1991 में हुई थी। 

सर्वदमन डी बनर्जी

सर्वदमन डी बनर्जी जब रामानंद सागर के टीवी सीरियल 'कृष्णा' में कृष्ण की भूमिका में नज़र आए, तो लोग उन्हें वास्तविक जीवन में भी पूजने लगे थे। सर्वदमन को कई मौकों पर अपने प्रति लोगों के इसी प्रेम को देखते हुए बचकर निकलना पड़ता था।

सर्वदमान ने साल 1983 में आई फिल्म 'आदि शंकराचार्य' में भी मुख्य भूमिका निभाई थी और इस फिल्म को नेशनल फिल्म अवॉर्ड मिला था। उत्तर प्रदेश में जन्में सर्वदमन ने पुणे फिल्म इंस्टीट्यूट से ग्रैजुएशन किया है।

 उन्होंने कई हिंदी, संस्कृत और तेलुगू फिल्मों में काम किया है। इन दिनों सर्वदमन ऋषिकेश में मेडिटेशन सिखाते हैं।

स्वपनिल जोशी

स्वपनिल जोशी कई धारावाहिकों में दिखाई दिए, लेकिन मशहूर वो कृष्ण सो ही हुए। स्वपनिल 'कैंपस', 'हद कर दी', 'देश में निकला होगा चांद' और 'घर की बात है' समेत कई मराठी शोज में भी नजर आए।

उनके फैन्स उन्हें आज भी रामानंद सागर के शो 'कृष्णा' के लिए ही याद करते हैं। स्वपनिल ने 'उत्तर रामायण' में 9 साल की उम्र में 'कुश' का किरदार भी निभाया किया था।

स्वपनिल ने एक डेंटिस्ट से शादी की है। स्वपनिल स्टैंडअप कॉमेडी भी करते हैं और मराठी फिल्मों में काफी सक्रिय हैं। स्वपनिल एक क्वालीफाइड वकील हैं। 

सौरभ राज जैन

एकता कपूर ने साल 2013 में नया 'महाभारत' बनाया था, जिसमें सौरभ राज जैन कृष्ण की भूमिका में दिखे थे। दिल्ली के रहने वाले सौरभ एमबीए हैं और वो फुटबॉल के दीवाने हैं।

धारावाहिक 'महाभारत' से पहले 'कसम से', 'यहां मैं घर-घर खेली', 'परिचय', 'देवों के देव महादेव' और 'उतरन' में नजर आ चुके हैं। सौरभ फिल्म 'कर्मा' में भी काम कर चुके हैं। 


सौरभ पांडे

मशहूर धारावाहिक ‘सूर्यपुत्र कर्ण’ में ‘श्रीकृष्ण’ का रोल निभा चुके सौरभ पांडे ने फिक्शन शो 'जिया जले' से अपना एक्टिंग डेब्यू किया था।

सूर्यपुत्र कर्ण में कृष्ण का रोल करने के लिए पहले अभिनेता हिमांशु सोनी करने वाले थे, लेकिन बाद में यह भूमिका सौरभ पांडे का झोली में गिरा।

छोटे परदे के क़ष्ण - धृति भाटिया, स्वपनिल जोशी और सौरभ पांडे

धृति भाटिया

अब बात करते हैं टीवी के सबसे मासूम कृष्ण की। धारावाहिक  'जय श्री कृष्णा' में 2 साल के कृष्ण की भूमिका को धृति भाटिया ने निभाया था। इस भूमिका ने उन्हें मशहूर बना दिया। 

अपने टीवी डेब्यू में ही एक लड़के की भूमिका निभाने के बाद धृति ने 'माता की चौकी' में छोटी दुर्गा का किरदार भी निभाया। 

अब धृति ने अपनी मैथोलॉजिकल छवि को अपने पिता गगन भाटिया की मदद से तोड़ दिया है। वो बबली के किरदार में टीवी सीरियल 'प्यार को क्या नाम दूं' में भी दिख चुकी हैं। 

विशाल करवाल

अभिनेता विशाल करवाल इंडस्ट्री में एम टीवी के शो रोडिज़ के साथ एंटर हुए और फिर उनको 'द्वारिकधीश' में कृष्ण का किरदार निभाने का मौक़ा मिला। विशान प्रशिक्षित पायलेट भी हैं।


संबंधित ख़बरें
आगे अक्टूबर से प्रसारित होने जा रहे ‘बिग बॉस 11’ में होंगे यह बदलाव