सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुईं श्रीदेवी

करोड़ों दर्शकों के दिलों पर राज करने वाली अभिनेत्री श्रीदेवी पंचतत्व में विलीन हो चुकी हैं। मुंबई के विले पार्ले श्मशान घाट में श्रीदेवी का अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें उनके पति बोनी कपूर ने मुखाग्नि दी। 

श्रीदेवी की अंतिम यात्रा
मुंबई। बॉलीवुड की पहली महिला सुपरस्टार कही जाने वाली श्रीदेवी बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गईं। मुंबई के विले पार्ले के श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार की रस्मों को पूरा करने के लिए तमिलनाडु से पंडित बुलाए गए थे। श्रीदेवी को उनके पति बोनी कपूर ने मुखाग्नि दी। 

इससे पहले सेलिब्रेशन स्पोर्ट्स क्लब में श्रीदेवी के पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था। यहां पर ही उनको ‘गॉर्ड ऑफ ऑनर’ दिया गया। बता दें किं श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को दुल्हन की तरह सजाया गया था। लाल रंग की कांडीवरम साड़ी पहनाई गई थी। माथे पर लाल बिंदी और लाल लिपस्टिक लगा कर श्रृंगार किया गया था। उनके सिर के पास ही मोगरा के फूल का गजरा भी रखा गया था। 

इसके अलावा श्रीदेवी के मुंह में सोने का टुकड़ा भी रखा गया। हिंदू शास्त्रों के अनुसार जब किसी सुहागन की मृत्यु होती है, तो उसे स्वर्ण तांबूल देते हैं। स्वर्ण तांबूल की जगह पर ही श्रीदेवी के मुंह में सोने का टुकड़ा रखा गया। 

श्रीदेवी का निधन दुबई में 24 फरवरी की देर रात को हो गया था। फॉरेंसिंक रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि बाथटब में डूबने की वजह से अभिनेत्री की मृत्यु हुई थी। 

अंतिम दर्शन के लिए उमड़ा जन-सैलाब

श्रीदेवी को अंतिम विदा देने के लिए हज़ारों की तादाद में फैंस आए। यहां तक कि चेन्नई और हैदराबाद से लगभग 40 बसों में सवार फैंस मुंबई पहुंचे। अंतिम यात्रा में हजारों की तादाद में लोग श्रीदेवी के रथ के साथ चल रहे थे। उस रथ पर बोनी कपूर के साथ अर्जुन कपूर, अनिल कपूर, संजय कपूर, मोहित मारवाह, जाह्नवी कपूर और खुशी कपूर भी मौजूद थे। 

पुलिस बंदोबस्त 

बीते साल यानी साल 2017 में शशि कपूर, विनोद खन्ना, ओम पुरी, रीमा लागू सरीखे कलाकारों का भी निधन हुआ था, लेकिन इस तरह का जन सैलाब देखने को नहीं मिला। 

हालांकि, साल 2012 सुपरस्टार राजेश खन्ना के अंतिम संस्कार में भारी भीड़ उमड़ी थी, जिसे संभालने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज तक करना पड़ा था। 

श्रीदेवी की अंतिम इच्छा

श्रीदेवी की अंतिम इच्छा का भी ख्याल बखूबू रखा गया। दरअसल, श्रीदेवी को सफेद रंग से काफी लगाव था और वो चाहती थीं कि उनकी आखिरी विदाई में सफेद रंग का इस्तेमाल किया जाए। 

इसी बात का ध्यान रखते हुए उनके रथ को मोहरे के फूलों से सजाया गया था। वहीं उनके बंगले को भी चारों तरफ से सफेद रंग के कपड़े से घेर दिया गया था। अंतिम दर्शन के लिए उनका शरीर सेलिब्रेशन क्लब में रखा गया था, वहां भी सफेद फूलों का मंडप सजाया गया था। यह मंडप बिलकुल शादी के मंडप की तरह ही था। 

नम आंखों से दी विदाई

कई मशहूर शख्शियतों , बॉलीवुड हस्तियों, राजनेताओं और कारोबारियों सहित हजारों लोगों ने बुधवार को रुपहले पर्दे की रानी को श्रद्घांजलि दी। बुधवार सुबह से ही लोखंडवाला के सेलिब्रेशन स्पोर्ट्स क्लब के बाहर आंखों में आंसू लिए प्रशंसक खड़े श्रीदेवी का सबसे पहले अंतिम दर्शन करने वालों में रेखा, ऐश्वर्या राय बच्चन, अरबाज खान, माधुरी दीक्षित नेने, अक्षय खन्ना, तब्बू, फराह खान, नितिन मुकेश, नील नितिन मुकेश, विद्या बालन, सुष्मिता सेन, शबाना आजमी, जावेद अख्तर, मधुर भंडारकर, दीपिका पादुकोण, संजय लीला भंसाली, फरहान अख्तर, हेमा मालिनी, जया बच्चन, जॉन अब्राहम, सुलभा आर्या, अजय देवगन और काजोल जैसी हस्तियां शामिल रहीं। 

वहीं विले पार्ले के श्मशान घाट पर अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अर्जुन रामपाल, अनिल अंबानी, शक्ति कपूर, अनुपम खेर समेत कई सेलिब्रिटीज पहुंचे।

इससे पहले सलमान खान बीती रात श्रीदेवी के घर ग्रीन एकर्स पहुंचे थे। श्रीदेवी का 24 फरवरी को दुबई में निधन हो गया था। मंगलवार रात को दुबई से उनका पार्थिव शरीर मुंबई पहुंचा और हवाईअड्डे से ग्रीन एकर्स ले जाया गया।

संबंधित ख़बरें