सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Sridevi Death : रामगोपाल वर्मा ने खोले श्रीदेवी से जुड़े कई राज़

जाने-माने फिल्म निर्देशक रामगोपाल वर्मा ने अभिनेत्री श्रीदेवी की ज़िंदगी से जुड़े कई राज़ खोले। श्रीदेवी के अचानक निधन से लगातार अपने सोशल नेटवर्किंग साइट पर लगातार लिख रहे हैं। अब उन्होंने फेसबुक अकाउंट पर ‘माय लव लेटर टू श्रीदेवी फैंस’ नाम से ओपन लेटर भी लिखा है, जिसमें कई खुलासे किए हैं। 

श्रीदेवी थीं भीतर से दुखी महिला
मुंबई। हिंदी सिने जगत की पहली महिला सुपरस्टार कही जाने वाली श्रीदेवी के अचानक निधन से फिल्म जगत स्तब्ध है। कोई इस दुख को खुल कर व्यक्त कर रहा है, तो कोई चुप-चाप रह कर उनके परिवार को सांत्वना दे रहा है। 

ख़ैर, इसी बीच जानेमाने फिल्म निर्देशक रामगोपाल वर्मा सोशल साइट पर काफी सक्रिय हो गए हैं। श्रीदेवी के निधन की ख़बर मिलते ही, पहले तो ऊपरवाले को भला-बुरा कहा, फिर श्रीदेवी से भी शिक़ायत की। इन सबके अलावा श्रीदेवी से जुड़ी कई यादें भी शेयर कर रहे हैं। 

हाल ही उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर ‘माय लव लेटर टू श्रीदेवी फैंस’ नाम से ओपन लेटर लिखा, जिसमें उन्होंने श्रीदेवी की ज़िंदगी के कई राज़ से पर्दा उठाया। 

रामगोपाल वर्मा ने अपने इस ओपन लेटर में श्रीदेवी को काफी दुखी महिला बताया। उन्होंने लिखा है कि यह एकदम आदर्श मामला है, दुनिया जिस शख्स को जैसा समझती है, असल में उसकी ज़िंदगी बिलकुल अलग होती है। 

क्या श्रीदेवी खुशहाल ज़िंदगी जी रही थीं?

अपने लेटर में रामगोपाल वर्मा ने सवाल उठाया कि क्या वाकई श्रीदेवी खुशहाल ज़िंदगी जी रही थीं। बेहद खूबसूरत, हरदिल अजीज और सुपरस्टार थीं, लेकिन यह तो कहानी का सिर्फ एक पहलू है। 

वो आगे लिखते हैं, ‘कई लोगों के लिए श्रीदेवी की लाइफ एकदम परफेक्ट थी। खूबसूरत चेहरा, गज़ब का टैलेंट, दो बेटियो के साथ अच्छा परिवार। बाहर से सबकुछ ऐसा ही नज़र आता था...लेकिन क्या श्रीदेवी खुश इंसान थीं और क्या वो बेहद खुशहाल ज़िंदगी जी रही थीं?’ 

रामगोपाल कहते हैं, हकीकत इसके उलट थी। मैं तो उन्होंने फिल्म ‘क्षण-क्षणम’ के समय से जानता हूं। 

तो क्या श्रीदेवी रिश्तेदारों के धोखे की शिकार हुई थीं?

इसी खुले ख़त में रामगोपाल वर्मा दावा करते हैं कि श्रीदेवी के रिश्तेदारों ने उनको धोखा दिया था। वो लिखते हैं, ‘मैंने अपनी आंखों से देखा था कि उनके पिता की मौत तक उनकी ज़िंदगी किस तरह आसमान में उड़ते आज़ाद परिंदे की तरह थी, लेकिन पिता के निधन के बाद उनकी ज़िंदगी पिंजरे में क़ैद किसी परिंदे की तरह हो गई थी। दरअसल, श्रीदेवी की मां उनको लेकर कुछ ज्यादा ही प्रोटेक्टिव थीं।’

वो आगे लिखते हैं कि उन दिनों कलाकारों को लेकर भुगतान ब्लैकमनी से होता था। श्रीदेवी पिता ने इनकम टैक्स के छापों के डर से यह पैसा अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के पास रखा था। पिता की मौत के बाद उन रिश्तेदारों और दोस्तों ने धोखा दे दिया और वो पैसे वापस नहीं किए। 

रामगोपाल आगे लिखते हैं कि इसके बाद श्रीदेवी की मां ने कानूनी मामलों में फंसी प्रॉपर्टी में लगाया दिया। इन सब वजह से वे बाद में पैसों को लेकर मोहताज हो गईं। तभी श्रीदेवी की ज़िंदगी में बोनी कपूर आए। बोनी खुद भी काफी कर्ज में थे। ऐसे में वे उनका सिर्फ दुख ही बांट सकते थे। 

श्रीदेवी की बहन ने ही किया उन पर केस

रामगोपाल वर्मा ने श्रीदेवी और उनकी बहन के विवाद को लेकर भी खुलासा किया। वर्मा लिखते हैं, ‘मां की मृत्यु के बाद श्रीदेवी की छोटी बहन ने उनके पड़ोसी के बेटे से शादी कर लिया। मां ने सारी प्रॉपर्टी श्रीदेवी के नाम कर दी थी, लेकिन उनकी बहन ने प्रॉपर्टी में से आधा हिस्सा मांगा और इसके लिए उनपर केस भी किया। बहन ने दावा किया कि जब मां ने दस्तावेजों पर साइन किया था, तब वो होश में नहीं थीं। दरअसल, उस समय उनकी ब्रेन सर्जरी हुई थी। लिहाजा एक बार फिर से श्रीदेवी के हाथों से संपति फिसल गई और खाली हाथ रह गए। उस समय जब उनके लाखोंचाहने वाले थे, निजी ज़िंदगी में काफी अकेली थी। उस समय श्रीदेवी के पास अपना कहने वाला सिर्फ बोनी कपूर ही थे।’

सास के लिए होमब्रेकर थीं श्रीदेवी

कहा जाता है कि मोना कपूर यानी बोनी कपूर की पहली पत्नी की मां सती शौरी ने गर्भवती श्रीदेवी को पेट पर लात मारा था। जबकि रामगोपाल वर्मा अपने ओपन लेटर में लिखते हैं कि श्रीदेवी के पेट पर उनकी सास ने पंच मारा था। क्योंकि श्रीदेवी को उनकी सास होमब्रेकर मानती थीं और अपना गुस्सा उतारने के लिए उनके पेट पर पंच मार दिया था। 

वर्मा लिखते हैं कि उनका बचपन कोई आम बचपन नहीं था। उनके दुख तक कोई न पहुंच पाए। इसलिए अपने आसपास चुप्पी की दीवार खड़ी कर रखी थी। 

ऐसे में जब वो कैमरे के सामने आती, तो अपनी बुनी हुई फैंटसी वर्ल्ड में जीने लगतीं। कैमरे के सामने ‘एक्शन’ और ‘कट’ के बीच ही वो शांति तलाश लेती थीं।

रामगोपाल वर्मा का यह खत आप यहां पढ़ें...


ग़ौरतलब है कि 54 वर्षीय श्रीदेवी का शनिवार रात दुबई में निधन हो गया था। वे वहां अपने पति के भांजे की शादी में शरीक होने गई थीं। जांच-पड़ताल के बाद उनके शव को भारत के लिए रवाना कर दिया गया है। मंगलवार की रात तक उनका शव भारत पहुंच जाएगा और बुधवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा।

संबंधित ख़बरें