सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

‘बिग बॉस’ के घर में गूंजती हैं दो आवाज़ें

‘बिग बॉस’ का चेहरा कैसा है, यह तो कोई नहीं देख पाया है, लेकिन  'बिग बॉस चाहते हैं'... इस आवाज़ को कलर्स का ‘बिग बॉस’ देखने वाले खूब पहचानते हैं।‘बिग बॉस’ में अब करीब तीन महीने यही आवाज़ आपको सुनाई देगी। 

बिग बॉस’ में प्रतिभागियों को दिशा-निर्देश देने से लेकर फटकार लगाने में सुनाई देती अतुल कपूर की आवाज और दूसरी आवाज़ जो कि शो में समय से लेकर घटनाओं के रीकेप की जानकारी देते हैं, वो हैं विजय विक्रम सिंह।
‘बिग बॉस’ सिर्फ लड़ाई-झगड़ों या विवादों के लिए लोग नहीं देखते हैं। इसके होस्ट सलमान खान और ‘बिग बॉस’ में सुनाई देने वाली आवाज़ के लिए भी देखते हैं।

यदि आप ‘बिग बॉस’ के नियमित दर्शक हैं, तो फिर इस शो में सुनाई देने वाली दो आवाज़ों से सौ फीसदी वाकिफ होंगे।

एक आवाज़ तो ‘बिग बॉस चाहते हैं’ और दूसरी वो आवाज़ जो बताती है कि ‘सुबह के दस बज चुके हैं या फिर रात में ये सब हुआ है’...समझे।

सबसे पहले उस आवाज़ के बारे में बताते हैं, जो घर में आए हुए प्रतिभागियों को दिशा-निर्देश देने से लेकर फटकार लगाने तक में सुनाई देती है।

इस आवाज़ के मालिक हैं अतुल कपूर। दूसरी आवाज़ जो शो में समय से लेकर घटनाओं के रीकेप की जानकारी देते हैं, वो हैं विजय विक्रम सिंह।

अतुल यूं तो वॉइस ओवर इंडस्ट्री के जाने-पहचाने चेहरे हैं, लेकिन उनकी कहानी कुछ जुदा है। दरअसल, अतुल मुंबई एक्टर बनने आए थे, लेकिन उनकी आवाज़ के लोग इस कदर मुरीद हुए कि उन्होंने वॉइस ओवर इंडस्ट्री में ही अपनी पहचान बना ली। हिन्दी के साथ अंग्रेज़ी में भी अच्छी पकड़ है और साथ ही उनका लहजा भी साफ है।
अतुल मुंबई आए थे? मतलब....जी, मतलब कि मुंबई के रहने वाले नहीं है। अतुल नवाबों के शहर लखनऊ के रहने वाले हैं। लखनऊ से मुंबई अतुल एक्टर बनने का सपना लेकर आए हैं।

सलमान खान से है अजब संयोग

बिलकुल, ‘बिग बॉस’ के होस्ट सलमान खान से उनका एक ग़जब का संयोग है। दरअसल, दोनों का जन्मदिन एक दिन के अंतर में आता है। अतुल, सलमान से एक साल एक दिन छोटे हैं। बता दें कि सलमान का जन्म 27 दिसंबर 1965 को हुआ, जबकि अतुल 28 दिसंबर, 1966 को पैदा हुए थे।

काम-धाम

अतुल ने अपने करियर की शुरुआत साल 2002 में की थी। तब वो कई छोटे-बड़े सीरियल्स और रियलिटी शोज़ में अपनी आवाज़ देते थे, लेकिन छोटे-मोटे काम से वो कुछ खास खुश नहीं थे। फिर भी साल-दर-साल काम करते गए।

उनको वॉइस ओवर इंडस्ट्री में एक अलग पहचान दिलाने वाला शो उनको साल 2006 में मिला। जी हां, हम बात कर रहे हैं ‘बिग बॉस’ की। साल 2006 में ‘बिग बॉस’ के पहले सीज़न का प्रसारण किया गया था। तब से लेकर आज तक अतुल इस शो का हिस्सा बने हुए हैं।

अतुल सिर्फ ‘बिग बॉस’ के ही आवाज़ नहीं बनते, बल्कि कई हॉलीवुड फिल्मों के हिन्दी वर्जन में भी उनकी आवाज़ सुनाई देती है। उनको पहला मौका मिला गुएर्मो डेल टोरो की साल 2008 में आई फिल्म ‘हेलबॉय 2’ में। ये वहीं गुएर्मो डेल टोरो हैं, जिनकी साल 2017 में आई फिल्म ‘दी शेप ऑफ वॉटर’ को ऑस्कर अवॉर्ड्स में ‘बेस्ट फिल्म’ का अवार्ड मिला।

फिर अतुल ‘आयरनमैन’ में टोनी स्टार्क की बनाई मशीन ‘जार्विस’ (J.A.R.V.I.S) की आवाज़ बने। अतुल आयरनमैन सीरीज़ समेत ‘एवेंजर्स’ और ‘एवेंजर्स- एज ऑफ अल्ट्रॉन’ जैसी फिल्मों में भी ‘जार्विस’ की आवाज़ बन चुके हैं।

साल 2011 में आई ‘शरलॉक होम्स- अ गेम ऑफ शैडोज़’ में प्रोफेसर जेम्स मोरार्टी की भी आवाज़ अतुल ही बने। इसके अलावा ‘कैप्टन अमेरिका’ और ‘एवेंजर्स इन्फिनिटी वॉर’ जैसी फिल्मों में ‘विज़न’ नाम के सुपरहीरो किरदार तो इनके नाम का इस्तेमाल किया गया।

हॉलीवुड ही नहीं, साउथ इंडियन फिल्मों में भी इनकी आवाज़ काफी कमाल कर रही है। साल 2017 में रिलीज़ हुई अजीत कुमार के लीड रोल वाली तमिल फिल्म ‘विवेगम’ के हिंदी वाले वर्ज़न में इन्होंने सूत्रधार की भूमिका के लिए अपनी आवाज़ दी थी।

इस फिल्म से जुड़ा एक दिलचस्प क़िस्सा यह है कि इस मूल फिल्म में नैरेशन जैसा कुछ नहीं था, लेकिन हिन्दी में नरैशन वर्जन क्रिएट किया गया।

अब यह तो है अतुल कपूर की बातें, लेकिन एक और आवाज़ जिसका जिक्र हमने शुरू में किया था। वह है विजय विक्रम सिंह।

विजय विक्रम सिंह

विजय विक्रम सिंह ‘बिग बॉस’ में सुनाई देने वाली दूसरी आवाज़ हैं। उत्तर प्रदेश के कानपुर में 26 नवंबर 1977 में मिडिल क्लास फैमिली में जन्में विजय ने वॉइस ओवर आर्टिस्ट बनने का फैसला अपनी कलिग के कॉम्प्लीमेंट के बाद लिया। दरअसल, एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम कर रहे विजय को उनकी सहयोगी ने कहा कि आपकी आवाज़ काफी अच्छी है।

ख़ैर, साल 2005 में उनकी कंपनी ने उनको मुंबई ट्रांसफर कर दिया। यहां पर भी उनके सहयोगियों ने उनकी आवाज़ की तारीफ की। फिर उनकी दोस्त ने उनको रेडियो स्टेशन जॉइन करने सलाह दी। कुछ वक्त काम करने के बाद साल 2009 में उनको बतौर वॉइस ओवर आर्टिस्ट बड़ा ब्रेक मिला। उस ‘डांस इंडिया डांस’ के पहले सीज़न के लिए इन्होंने आवाज़ दी।

‘बिग बॉस’ में कब से जुड़े। ये सवाल कौंधा। दरअसल, विजय ‘बिग बॉस’ के चौथे सीज़न से जुड़े हैं, जो अब तक जारी है।

अब जहां अतुल काफी प्राइवेट पर्सन हैं, तो वहीं विजय एक्टिंग के तरफ भी मुड़ रहे हैं। उन्होंने कुछ विज्ञापनों में आवाज़ तो दी ही है, लेकिन एक्टिंग में भी हाथ आजमा रहे हैं।

यह दोनों अब ‘बिग बॉस’ में व्यस्त रहेंगे। आपको एक दिलचस्प बात और बताते हैं। इन प्रतिभागियों की तरह ही अतुल कपूर भी तीन महीने ‘बिग बॉस’ के घर में रहते हैं, लेकिन इनको क़ैद नहीं किया जाता। बल्कि चालाक जेलर की तरह यह उन सभी पर निगाह रखते हैं।

लोनावाला में ‘बिग बॉस’ के सेट से तकरीबन पांच मिनट की दूरी पर यह दोनों रहते हैं और अल सुबह, यानी प्रतिभागियों के जागने से पहले सेट पर आ धमकते हैं और लाइट्स आउट के बाद ही यह अपने ठहरने के स्थान पर जाते हैं।

संबंधित ख़बरें