शहनाज़ गिल से शादी के बारे में सिद्धार्थ शुक्ला ने कहा, 'सोचा जा सकता है'



'बिग बॉस 13' के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला और शहनाज़ गिल के बीच 'दोस्ती या प्यार' की पहेली में आम जनता बेचारी फंसी हुई है। किसी को लगता है कि सिर्फ दोस्ती है, तो कुछ को दोनों की आंखों में प्यार दिखता है। हालांकि, शहनाज़ कई दफा कह चुकी हैं कि वो सिद्धार्थ से प्यार करती हैं। हाल ही में सिद्धार्थ ने भी शहनाज़ को लेकर कहा कि शादी के बारे में सोचा जा सकता है। 
sidharth shukla and shehnaz gil in BB13
कलर्स टीवी के रियलिटी शो ने कई रिकॉर्ड्स ब्रेक किए, लेकिन कुछ जोड़ियां भी इस शो में बनी। पारस-माहिरा, हिमांशी-आसिम, सिद्धार्थ-शहनाज़...इनमें से एक ने प्यार का इज़हार 'बिग बॉस' हाउस में कर लिया था, तो बाकी दो ने 'फ्रेंड ज़ोन' बरकरार रखा है। 

शो खत्म होने के बाद जि जोड़ी को सबसे ज्यादा लोग याद कर रहे हैं और उनको साथ देखने की दुआ कर रहे हैं, वह है सिद्धार्थ और शहनाज़ की जोड़ी। दोनों की केमिस्ट्री शो में तो देखने को मिली ही, लेकिन कलर्स टीवी के हालिया शो 'मुझसे शादी करोगे' के सेट पर भी सिद्धार्थ और शहनाज़ का प्यार दिखा। 

हालांकि, शहनाज़ 'मुझसे शादी करोगे' में अपने लिए दूल्हा खोज रही हैं, लेकिन सोशल मीडिया यूजर्स की माने, तो वो अपना दिल सिद्धार्थ को दे चुकी हैं और सिद्धार्थ भी शहनाज़ को प्यार करते हैं, बस जाहिर नहीं कर रहे हैं। 

अब इनदोनों के रिलेशनशिप स्टेटस को जानने को बेताब जनता के सवाल को एक न्यूज़ चैनल के प्रोग्राम में पूछा गया, 'प्यार को प्यार ही रहने दो कोई नाम न दो, फिर क्यों सिद्धार्थ को नाम देना पड़ रहा है?'

इस पर सिद्धार्थ ने कहा कि हां प्यार है, दोस्ती है। 

फिर सिद्धार्थ से पूछा कि क्या सिर्फ दोस्ती है। इसके जवाब में सिद्धार्थ ने कहा, 'हां सिर्फ दोस्ती है'। सिद्धार्थ के इस जवाब को सुनने के बाद वहां मौजूद दर्शक हूटिंग करने लगे। 

जब सिद्धार्थ से उनकी और शहनाज़ की दोस्ती आगे न बढ़ने की वजह पूछी गई, तो बोले कि शहनाज़ एक शो कर रही हैं, जिसमें वो जल्दी ही शादी करने वाली हैं। 

वहीं जब सिद्धार्थ से कहा कि आप भी शादीशुादा नहीं हो, तो सोचा जा सकता है। इस पर वो कहते हैं, 'बिलकुल सोचा जा सकता है। शहनाज़ को लेकर मेरी फीलिंग्स में कोई बदलाव नहीं आया है।'

जब शहनाज़ को डिस्क्राइब करने के लिए सिद्धार्थ से कहा गया, तो उन्होंने कहा कि शहनाज़ वो हैं, जिसके साथ बैठकर आप एक मिनट भी बोर नहीं हो सकते। यदि आपकी बातें खत्म हो गई हो, तो आप उनकी बातें करने लग जाइए। वो खुश हो जाएंगी। 



शहनाज़ के बारे में सिद्धार्थ जब बातें कर रहे थे, तो उनके चेहरे पर एक अलग खुशी साफ झलक रही थी। उनके दिल में 'कुछ-कुछ' ज़रूर होता है। 'बात पक्की' कब होगी, यह तो सिद्धार्थ और शहनाज़ ही जानें।