और यहां मनाया जाता है 'अनुपम खेर डे'!



हिन्दी सिने जगत के 'अनुपम' कलाकार अनुपम खेर का जन्मदिन है। 7 मार्च 1955 में शिमला के मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे अनुपम खेर ने हिन्दी और अंग्रेज़ी के अलावा चीनी और जापानी भाषाओं की फिल्में भी की हैं। न सिर्फ फिल्मों बल्कि टीवी शो और थिएटर में भी अपना झंडा बुलंद किया है। फिलहाल अमेरिकी टीवी शो 'न्यू एम्स्टर्डम' के चलते अनुपम आजकल अमेरिका में ज़्यादा वक्त बिता रहे हैं। हालांकि, अपने सोशल मीडिया के जरिये अपने फैन्स से हमेशा जुड़े हैं। आज उनके सालगिरह पर उनसे जुड़ी ख़ास बातों पर आइए डालते हैं नज़र। 
anupam kher birthday
अनुपम खेर हिन्दी फिल्म इडस्ट्री के चमकते सितारे हैं, जिनकी चमक न सिर्फ भारत में बल्कि विश्व में फैली हुई है। 36 साल के करियर में उन्होंने 500 से ज़्यादा फिल्मों में अपने अभिनय किया है। टीवी शो से लेकर थिएटर तक में वो सक्रिय रहे हैं। फिल्म निर्माण से लेकर निर्देशन तक में हाथ आजमाया है। सिनेमा और कला के क्षेत्र में योगदान के लिए भारतीय सरकार ने इन्हें पद्मश्री और पद्म-भूषण से सम्मानित किया है। 

शिमला के मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे अनुपम खेर का मुंबई तक का सफर बहुत आसान नहीं रहा। आज वो जिस मुकाम पर हैं, उसे पाने के लिए वो कई उतार-चढ़ाव से गुज़रे हैं। कड़े संघर्ष के बाद आज उन्होंने अपना एक अलग स्थान बनाया है। चलिए, फिर आज उनसे जुड़ी कुछ रोचक बातों को करते हैं आपसे साझा। 

जब अनुपम खेर ने कहा 'तविता तपूर आई हेट यू'

बचपन में अनुपम खेर को चोट लग गई थी, जिससे उनकी जीभ पर जख्म हो गया था। इसकी वजह से वो 'क' नहीं बोल पाते थे। इसी दौरान उनको 'कविता कपूर' नाम की लड़की से इश्क़ हो गया। अब उस लड़की ने अनुपम खेर की कड़ी परीक्षा ले ली। उस लड़की ने अनुपम खेर के सामने शर्त रख दी कि यदि वह उसका नाम सही से बोलकर 'आई लव यू' कह पाए, तो वह उनका प्रपोज़ल एक्सेप्ट कर लेगी। अनुपम खेर 'कविता कपूर आई लव यू' नहीं बोल पाए, तो झुंझला कर उन्होंन, 'तविता तपूर आई हेट यू' कह दिया। 

मधुमालती के बाद किरण

अनुपम खेर ने मधुमालती से शादी की, लेकिन तालमेल ना बैठ पाने के बाद दोनों अलग हो गए और फिर साल 1985 में अभिनेत्री किरण से उन्होंने दूसरी शादी की। किरण की भी अनुपम से दूसरी शादी है। किरण ने पहले मुंबई के उद्योगपति गौतम बेरी से शादी की थी, जिससे उन्हें एक बेटा सिकंदर खेर हैं। गौतम से तलाक के बाद किरण ने अनुपम से शादी की। 

मां के मंदिर से चुराए पैसे

अभिनय की बारीकियां सीखने के लिए नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लिया और उसके बाद उन्होंने मुंबई का सफर शुरू किया। एक इंटरव्यू के दौरान अनुपम खेर ने बताया था कि उन्होंने अपनी मां के मंदिर से सौ रूपए चुराए थे और एक्टिंग में दाखिले के लिए पंजाब गए। मुंबई आए तो यहां पर उन्होंने एक कमरा किराये पर लिया, जिसमें अन्य चार लोगों के साथ वो कमरा शेयर करते थे। यानी कि एक कमरे में कुल पांच लोग सोते थे। यहां तक कि कई बार तो उन्हें भूखा सोना पड़ता था और कई राते रेल्वे स्टेशन्स पर काटीं।

'सारांश' नहीं 'आगमन'

कई लोग लिखते हैं कि अनुपम खेर की पहली फिल्म 'सारांश' है, लेकिन यह तथ्य ग़लत है। अनुपम खेर की पहली फिल्म का नाम 'आगमन' है। मुजफ्फर अली के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अनुपम खेर ने सुरेश ओबेरॉय के पिता की भूमिका में थे। हाल ही में जब विवेक ओबेरॉय अमेरिका में अनुपम खेर से मिलने उनके घर पहुंचे, तब अनुपम खेर ने यह बात बताई। 

बता दें फिल्म 'आगमन' साल 1982 में आई थी और फिल्म 'सारांश' 1884 में आई थी। हालांकि, फिल्म 'सारांश' अनुपम खेर की पहली हिट फिल्म है। 

लास वेगास में मनाते हैं 'अनुपम खेर डे'

नेवाडा के लास वेगास में 'अनुपम खेर डे' मनाया जाता है। 10 सितंबर को हर साल 'अनुपम खेर डे' के रूप में सेलीब्रेट करते हैं। यह सिलसिला साल 2015 से शुरू हुआ है। इस इंडियन एक्टर ने इन विदेशियों पर कैसी छाप छोड़ी है कि उसके लिए एक 'डे' ही डिसाइड कर लिया गया है।

चीनी-जापानी फिल्मों में अनुपम खेर

बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक में काम करने वाले अनुपम खेर को इंटरनैशनल स्टार कहना ग़लत न होगा। हिन्दी के साथ भारतीय क्षेत्रिय भाषाओं में भी फिल्में करने वाले अनुपम खेर हॉलीवुड में भी अपनी अच्छी-ख़ासी पैठ रखते हैं। यहां तक कि उनकी फिल्मोग्रॉफी में चाइनीज़ और जापानी फिल्मों के नाम भी शुमार है। बता दें कि साल 1998 में आई जापानी फिल्म 'प्राइड' में अनुपम खेर सुभाष चंद्र बोस की भूमिका में थे। वहीं चाइनीज़ फिल्म 'लस्ट कॉशन' में 'ख़ालिद सईद उद-दीन' के किरदार में थे। फिलहाल वो अमेरिकी टीवी शो 'न्यू एम्स्टर्डम' की शूटिंग में व्यस्त हैं। बता दें कि इस शो को ऑडियंस का भरपूर प्यार मिल रहा है, तभी तो इसे तीन साल का रिकॉर्ड एक्सटेंशन मिला है। 

ग़ौरतलब है कि अनुपम खेर को आठ बार फिल्‍मफेयर अवॉर्ड से नवाज़ा जा चुका हैं। वहीं दो बार राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार से भी नवाजे जा चुके हैं। पांच बार कॉमेडी के लिए फिल्मफेयर का अवॉर्ड मिला है।