बीते जमाने की अभिनेत्री निम्मी का निधन

बॉलीवुड अभिनेत्री निम्मी उर्फ नवाब बानो का बुधवार को हृदय गति रूकने की वजह से निधन हो गया है। 88 वर्षीय निम्मी पिछले काफी समय से बीमार चल रही थीं। निम्मी को अभिनेता राज कपूर की पहली खोज कहा जाता है।
actress Nimmi passed away
बीते ज़माने की अदाकारा निम्मी उर्फ नवाब बानो का बुधवार की शाम को निधन हो गया। 88 वर्षीय निम्मी का निधन हृदय गति रूकने की वजह से हुआ। बीते कुछ समय से वह बीमार चल रही थीं। मुंबई के सरला नर्सिंग होम में उन्होंने अपनी आख़िरी सांस ली। 

निम्मी का जन्म 18 फरवरी 1933 में आगरा में हुआ था। हालांकि, उनके पिता जी मेरठ के रहने वाले थे। फिल्मों में निम्मी इत्तेफ़ाक से आई थीं। दरअसल, मां वहीदन तब हिन्दी फिल्मों में काफी कामयाबी हासिल कर चुकी थीं। फिल्मकार महबूब खान के साथ कुछ फिल्में कर चुकी थीं, लेकिन जब निम्मी महज नौ साल की थीं, तो उनकी मां की मृत्यु हो गई और फिर वो अपनी दादी के पास पली बढ़ीं। 

भारत-पाक विभाजन के बाद निम्मी मुंबई आईं और फिर यहीं की होकर रह गईं। फिल्मों में ब्रेक पाने के लिए उन्होंने अपनी मां का रिफरेंस दिया और निर्माता-निर्देशक महबूब खान से मुलाकात की। उस वक्त महबूब खान फिल्म 'अंदाज़' का निर्माण कर रहे थे और उन्होंने निम्मी को मिलने के लिए स्टूडियो ही बुला लिया। 

फिल्म 'अंदाज़' के सेट पर ही निम्मी की मुलाक़ात राज कपूर से हुई, जो अपनी फिल्म 'बरसात' के लिए नए चेहरे की तलाश में थे। हालांकि, तब तक वो अपनी फिल्म के लिए नर्गिस को साइन कर चुके थे, लेकिन राज कपूर ने उनको फिल्म में सपोर्टिंग एक्ट्रेस का रोल ऑफर किया और निम्मी ने झट से मान लिया। 

साल 1949 में रिलीज़ हुई फिल्म 'बरसात' में सपोर्टिंग एक्ट्रेस के रूप में नज़र आईं निम्मी ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा। इसके बाद उन्होंने 'सजा', 'दीदार', 'बेदर्दी', 'आन', 'दाग़', 'आंधियां', 'अमर', 'कुंदन' 'मेरे महबूब' सरीखी कई फिल्मों में काम किया। 50 के दशक में वो टॉप एक्ट्रेस में शुमार हुईं। 

साल 1965 में रिलीज़ हुई फिल्म 'आकाश दीप' उनके सिने करियर की आखिरी फिल्म रही। इस फिल्म के बाद निम्मी ने अभिनय से सन्यास ले लिया। अपने चार दशके लंबे करियर में उन्होंने लगभग 50 फिल्मों में अभिनय किया है। निम्मी ने शहूर लेखक अली रज़ा से शादी की थी।