दीप्ति नवल के साथ गीतिका विद्या की समानताएं जानकर चौंक जाएंगे आप

बॉलीवुड में धीरे-धीरे कदम जमाती अभिनेत्री गीतिका विद्या ने वेब सीरीज़ 'पवन एंड पूजा' की को-स्टार दीप्ति नवल को लेकर कई बातें कहीं। गीतिका का कहना है कि उनमें और दीप्ति नवल में काफी समानताएं हैं। आइए जानते हैं, क्या-क्या समानताएं हैं दोनों में। 

geetika vidya and deepti naval in web series pawan and pooja
'सोनी' और 'थप्पड़' सरीखी फिल्मों में अपने अभिनय से आलोचकों की तारीफ पाने वाली गीतिका विद्या की अगली फिल्म 'बारह बाय बारह' रिलीज़ को तैयार है। इस फीचर फिल्म को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल्स में काफी सराहना मिली है। 

वहीं खूबसूरत अभिनेत्री गीतिका वेब सीरीज़ 'पवन एंड पूजा' में बेहतरीन अदाकारा दीप्ति नवल के साथ नज़र आने वाली हैं। दीप्ति और गीतिका में एक खूबसूरत समानता है। एक तो यह दोनों आउटसाइडर हैं, जिन्होंने बिना गॉडफादर के सहायता के लिए खुद को स्थापित किया है। वहीं यह दोनों अभिनेत्रियां सिनेमा से पहले थिएटर से भी जुड़ी रही हैं। 

एक्टिंग की पावरहाउस यह एक्ट्रेस जिस सरलता और सहजता से अपने-अपने किरदारों को जीवंत करती हैं, वह अविश्वसनीय है। यह एक ऐसा गुण है, जो उन्हें दर्शकों के लिए खुद को तैयार करने में मदद करता है।

सत्तर और अस्सी के दशक में दीप्ति नवल इमर्जिंग पैरलेल सिनेमा का चेहरा थीं और गीतिका, अपनी ऑफबीट भूमिकाओं के साथ, जल्द ही इस दौर के के सिनेमा की लहर के साथ ताल मिलाती दिख रही हैं। 

दीप्ति नवल से मुलाकात के बारे में गीतिका कहती हैं, 'हमारी पहली बातचीत उनके खूबसूरती से जगमगाती वैन में हुई। इसी दौरान मैंने ऑब्जर्व किया की किस तरह वह 'पूजा', वेब सीरीज में उनके किरदार के लिए कपड़े के फैब्रिक पर बारीकी से ध्यान दे रही हैं। मुझे अपनी स्टेज सेंसिबिलिटी की याद आ गई कि एक एक्टर की सजगता और आत्म-मूल्य की समझ, कागज पर लिखे चरित्र को एक विश्वसनीय और सम्मानजनक जीवन देती है। इफिशन्ट डिपार्ट्मेन्ट हेड्स और सेन्सबल प्रोडक्शन हाउस हम जैसे थिएटर कलाकारों के लिए आशीर्वाद है। ऐसे लोगों के साथ काम करने की हम दुआ करते हैं।'

वेब सीरीज़ 'पवन एंड पूजा' में गीतिका और दीप्ति के अलावा महेश मांजरेकर, शरमन जोशी, गुल पनाग, मृणाल दत्त, नताशा भारद्वाज और सुपरमॉडल मैरियट वाल्सन अहम भूमिकाओं में दिखाई देंगे। इस सीरीज़ से सिद्धार्थ पी मल्होत्रा, शाद अली और अजय भुयान जैसे नामचीन मेकर्स जुड़े हैं।'

दीप्ति और गीतिका के बीच समानताएं यहीं खत्म नहीं होती हैं। इसकी लंबी फेहरिस्त है। यह दोनों अभिनेत्रियां बिना एक्टिंग कोर्स के बॉलीवुड में आईं। दोनों अपने-अपने प्रोजेक्ट्स को लेकर एक तरह से ही तैयारियां करती हैं। 

जिस तरह 'चश्मे बद्दूर' में दीप्ति नवल ने अपने मध्यवर्गीय चरित्र का असर छोड़ा था। ठीक वैसे ही गीतिका ने फिल्म 'सोनी' में मध्यवर्गीय सब इंस्पेक्टर की भूमिका से दर्शकों के मन पर छाप छोड़ी।

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां