'छिछोरे' में सुशांत सिंह राजपूत के बेटे बने मोहम्मद समद ने लिखा इमोशनल पोस्ट



सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म 'छिछोरे' में उनके बेटे की भूमिका में नज़र आए मोहम्मद समद ने एक इमोशनल पोस्ट लिखा है। इस पोस्ट में वो लिखते हैं, 'एक पढ़ा-लिखा इंसान यह कैसे कर सकता है। आपसे से बहुत कुछ सीखा था और अभी सीखना बाकी था।'

Sushant Singh Rajput with mohammad samad in film 'Chhichhore'
सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या के कदम से उनके परिवार और करीबी गहरे दुख में डूब गए हैं। सभी लोग अपनी-अपनी भावनाओं को सोशल मीडिया पर व्यक्त कर रहे हैं। साथ ही सुशांत को श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

इसी कड़ी में फिल्म 'छिछोरे' में सुशांत सिंह राजपूत के बेटे बने मोहम्मद समद ने एक इमोशनल पोस्ट लिख कर उनको याद किया। 

बता दें फिल्म में मोहम्मद समद ने 'राघव' नाम का किरदार निभाया था। इंजीनियरिंग में सिलेक्शन न हो पाने के कारण वो, फिल्म में आत्महत्या करने की कोशिश करता है। 

मोहम्मद समद ने फिल्म का एक सीन शेयर करते हुए लिखा, 'एक पढ़ा-लिखा इंसान यह कैसे कर सकता है? यह विश्वास करना मुश्किल है। मैंने आपसे बहुत कुछ सीखा है और अभी बहुत कुछ सीखना बाकी था। मैं अब भी यकीन नहीं कर पा रहा हूं। भगवान आपको स्वर्ग में सबसे ऊंचा स्थान दें। आपकी आत्मा को शांति मिले सर।'


बता दें कि फिल्म 'छिछोरे' में ऐसे लूजर्स की कहानी थी, जो कभी हार नहीं मानते थे। फिल्म में सुशांत सिंह ने 'अनिरुद्ध पाठक' नाम का किरदार निभाया था, जिसे उसके दोस्त प्यार से अन्नी बुलाते थे। फिल्म में श्रद्धा कपूर ने उनकी पत्नी 'माया पाठक' की भूमिका निभाई थी। 'माया' और 'अनिरुद्ध' का बेटा 'राघव' रहता है, जिसका किरदार मोहम्मद समद ने निभाया था। राघव हमेशा पढ़ाई को लेकर तनाव में रहता है और फेल होने के बाद छत से कूद जाता है।

इसके बाद, राघव को आईसीयू में भर्ती करवाया जाता है। इस दौरान अनिरुद्ध पाठक यानी सुशांत सिंह उन्हें हौसला देते हैं और बताते हैं कि वह कॉलेज में टॉपर होने के बाद भी लूजर थे, लेकिन उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी। इसी दौरान का एक डायलॉग जिसमें वह कहते हैं,'आत्महत्या कोई समाधान नहीं है बजाय इसके की हम लड़े और जीते रहें।'

सुशांत के निधन के बाद उनके फैन्स इस डायलॉग को शेयर कर रहे हैं।

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां