सुशांत सिंह राजपूत के अंतिम संस्कार के बाद दोस्त संदीप सिंह को मिला 'पॉवरफुल' लोगों का शिकायती मैसेज



सुशांत सिंह राजपूत के करीबी दोस्त प्रोड्यूसर संदीप सिंह ने एक वेब पोर्टल से बात करते हुए कहा कि सुशांत के अंतिम संस्कार से वापस लौटने के बाद उनको कुछ मैसेज और कॉल्स मिले, जिनमें लिखा था कि 'हम पॉवरफुल लोग हैं, तुमने हमें अंतिम संस्कार में क्यों नहीं बुलाया।' संदीप कहते हैं यह मैसेज देख कर वो चौंक गए। 

 Sandip ssingh says he got call from 'powerfull' people of bollywood for sushant singh rajput's funeral
प्रोड्यूसर संदीप सिंह, सुशांत सिंह राजपूत के दोस्तों में से एक हैं। सुशांत के निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाने से लेकर, बहन और परिवार को संभालना और अंतिम संस्कार तक की प्रक्रिया को संदीप ने पूरा किया। 

अपने जिगरी दोस्त को खोने के बाद संदीप गहरे दुख में हैं। वह सोशल मीडिया पर सुशांत से जुड़ी कई यादें लगातार शेयर कर रहे हैं। इसी बीच उन्होंने एक इंटरव्यू में सुशांत को लेकर कई सारी बातें साझा की हैं। 

अपने हालिया दिए इंटरव्यू में संदीप ने कहा, 'लोगों ने सुशांत की मौत का तमाशा बना दिया, जो उन्हें यह सब बिलकुल पसंद नहीं था। उनके अंतिम संस्कार के बाद जब मैं घर पहुंचा, तो मुझे कुछ फोन कॉल्स और मैसेज आए जिनमें मुझसे पूछा गया कि मैंने उन्हें अंतिम संस्कार में 'इन्वाइट' क्यों नहीं किया। कुछ मैसेजेस में लिखा था, हम बहुत ही 'पॉवरफुल' लोग हैं। तुमने हमें नहीं बुलाया। तब मैंने सोचा कि ऐसे लोगों के दिमाग़ में क्या चलता है? शॉकिंग!'

संदीप आगे कहते हैं, 'एकता कपूर को विवादों में घसीटा गया, लेकिन वो अपने आप अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आई थीं। श्रद्धा कपूर, रणदीप हुड्डा, ये सारे लोग वहां आकर बारिश में खड़े थे, रो रहे थे। सुशांत की मौत से ज्यादा लोग जो हरकतें कर रहे हैं। मुझसे उससे बेहद दुख हो रहा है।' 

संदीप ने लोगों से परिवार को अकेला छोड़ने की अपील की। उन्होंने कहा, 'कुछ लोग ब्लेम गेम खेल रहे हैं, लेकिन किसी को परिवार की चिंता नहीं है। उसके परिवार को थोड़ा अकेला छोड़ दो। समझो उसकी परिवार के दर्द को थोड़ा। क्या दर्द होगा, उसके जैसे सफल इंसान ने ये कदम उठा लिया। लोग कह रहे हैं कि सुशांत को सात फिल्मों से निकाला गया था, कोई उसके रिलेशनशिप स्टेटस पर सवाल उठा रहा। कोई कह रहा कि उसके पास पैसे नहीं थे, लेकिन यह सब कयास भर हैं।'

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां