कंगना रनौत करेंगी 'अपराजित अयोध्या' का निर्देशन



कंगना रनौत की बतौर निर्माता-निर्देशक पहली फिल्म 'अपराजित अयोध्या' होगी। फिल्म के निर्माण के साथ निर्देशन भी कंगना ही करने वाली हैं। के वी विजयेंद्र की लिखी इस कहानी राम मंदिर केस पर बेस्ड होगी, लेकिन यह फिल्म 'लव-स्टोरी' होगी। 

kangan ranaut all set to direct 'aprajit ayodhya' after 'manikarnika'
कंगना रनौत ने 'मणिकार्णिका : द क्वीन ऑफ झांसी' से अपना डायरेक्शन डेब्यू किया था, लेकिन इस फिल्म में वो को-डायरेक्टर थीं। निर्देशक कृष के साथ मिलकर इस फिल्म को उन्होंने निर्देशित किया था। 

अब एक बार फिर से कंगना निर्देशक की कुर्सी पर बैठने जा रही हैं। के वी विजयेंद्र प्रसाद की लिखी फिल्म 'अपराजित अयोध्या' को न सिर्फ कंगना प्रोड्यूस करेंगी, बल्कि इसे डायरेक्ट भी करेंगी। 

हालांकि, यह ख़बर बीते काफी समय से गर्म थी कि कंगना राम मंदिर केस पर बेस्ड फिल्म 'अपराजित अयोध्या' को प्रोड्यूस-डायरेक्ट करने वाली हैं, लेकिन अब इस ख़बर को कंगना ने कंफर्म कर दिया है। 

एक पोर्टल से बात करते हुए कंगना ने कहा, 'शुरू में इस फिल्म को निर्देशित करने की मेरी योजना नहीं थी। मैं इस प्रोजेक्ट से कॉन्सेप्ट के स्तर पर जुड़ी थी। मैं इस फिल्म को प्रोड्यूस करना चाहती थी और इसके लिए कोई निर्देशक की खोज थी। मैं तब काफी व्यस्त थी और इसके निर्देशन को लेकर मैंने सोचा भी नहीं था। वहीं के वी विजयेंद्र की लिखी स्क्रिप्ट लार्ज कैनवास पर है। इस कहानी में ऐतिहासिक टच है, जो मैं पहले कर चुकी हूं।'

कंगना का कहना है कि उनकी मंशा इस फिल्म को डायरेक्ट करने की नहीं थी, लेकिन उनके पार्टनर ने जब इस फिल्म को लेकर कंगना के एफर्ट्स को देखा, तो उन्होंने इस फिल्म को निर्देशित करने के लिए कंगना से कहा। इस बारे में वो कहती हैं, 'मेरे कोलेबोरेशन पार्टनर्स का मानना है कि मुझे इस फिल्म को निर्देशित करना चाहिए। फिर मुझे भी लगा कि इस फिल्म को मैं निर्देशित करूं, यही सही होगा। इस तरह से अपने आप सब होता चला गया।'

इसके साथ ही कंगना की बतौर सोलो निर्देशक यह पहली फिल्म होगी। इससे पहले उन्होंने 'मणिकार्णिका' को निर्देशित किया था, लेकिन इसमें वो को-डायरेक्टर थीं, यानी कृष के साथ मिल कर उन्होंने 'मणिकार्णिका' का निर्देशन किया था। 

ऐसे में जब उनसे पूछा गया कि क्या वो नर्वस हैं? तो इसके जवाब में उन्होंने कहा, 'नहीं, यह मुझे नर्वसनेस नहीं है। किसी और के विज़न को आगे लेकर जाना मुश्किल है और फिर उसमें अपने विज़न को तलाशना। वहीं इस केस में मैं इस फिल्म से शुरुआती दौर से ही जुड़ी हूं। जब आपकी सोच स्पष्ट हो, तो यह सरल और संतोषजनक होता है।'

वहीं जब कंगना से पूछा गया कि यह काफी विवादित विषय है और ऐसे में इस फिल्म को लेकर विवाद होना लाजिमी है। इसे जवाब में कंगना ने कहा, 'मैं बतौर फिल्ममेकर अपना पूरा ध्यान सिर्फ फिल्म पर लगाऊंगी। मेरे लिए यह विवादित विषय नहीं है। मैंने इसमें प्रेम कहानी देखी है। विश्वास और एकता देखा है। कुल मिलाकर यह फिल्म दिव्यता की कहानी है।'

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां