कार्तिक आर्यन के 'कोकी पूछेगा' की अगली मेहमान हैं यूएस की मनोचिकित्सक डॉ. गीता जयराम



कार्तिक आर्यन अपने शो 'कोकी पूछेगा' की अगली कड़ी में मानसिक स्वास्थ्य को लेकर बात करने वाले हैं और इसके लिए उनके शो में नज़र आएंगी अमेरिका स्थित जॉन्स हॉपकिन्स अस्पताल की मनोचिकित्सक डॉ. गीता जयराम। अपने सोशल मीडिया पर अपने अपकमिंग एपिसोड का टीज़र जारी करते हुए कार्तिक ने कहा कि दिखती नहीं है और बहुत तेजी से बढ़ रही है। वायरस कम नहीं है मानसिक बीमारियां। 

Kartik aaryan's 'Koki Poochega' next episode with dr geetha jayram from US
कोरोना वायरस महामारी से सभी प्रभावित हो रहे हैं। इस लॉकडाउन की वजह से प्रोफेशनल और पर्सनल दिक्कतों और चैलेंजेस सामने आ रहे हैं। इस दौरान एक अनिश्चितता का माहौल बन गया है, जिससे सभी परेशान हैं। 

जहां देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही हैं। वहीं मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित मामलों में भी वृद्धि हुई है। यह ऐसा विषय है कि लोग खुलकर इस बारे में बात नहीं कर रहे हैं। इसलिए कार्तिक आर्यन ने इस मामले में बात करने का फैसला लिया है।

कार्तिक आर्यन ने इस महामारी से संबंधित विभिन्न मुद्दों के बारे में आम लोगों तक कई सारी बातें की और अब कार्तिक ने 'कोकी पूछेगा' के नए एपिसोड की रिलीज़ तारीख और मेहमान की जानकारी अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिये दी है। 

अपने अपकमिंग एपिसोड का टीज़र जारी करते हुए कार्तिक ने लिखा, 'दिखती नहीं है और बहुत तेजी से बढ़ रही है, वायरस से कम नहीं है मानसिक बीमारियां!'


कार्तिक आर्यन अब जॉन्स हॉपकिंस अस्पताल, यूएसए की एक मनोचिकित्सक डॉ. गीता जयराम का इंटरव्यू लेंगे। यह दो दशकों से प्रैक्टिस कर रही हैं और मानसिक बीमारी, चिंता विकार, सिज़ोफ्रेनिया के इलाज में माहिर हैं। 

कार्तिक के 'कोकी पूछेगा' का अगला एपिसोड 20 जुलाई को रिलीज़ किया जाएगा। 

इन दिनों सभी अपने-अपने घरों में बंद है और कुछ अकेले रह रहे हैं। मानसिक स्वास्थ्य एक महत्वपूर्ण चर्चा है। कार्तिक ने एक प्रमुख मनोचिकित्सक को उन मुद्दों के बारे में बोलने के लिए आमंत्रित किया है, जिन्हें हमेशा पीठ पीछे धकेल दिया जाता है और फुसफुसाते हुए बोला जाता है।

एक डॉक्टर, एक पुलिस अधिकारी, एक पोषण विशेषज्ञ और यहां तक कि पत्रकार बरखा दत्त के इंटरव्यू के बाद, कार्तिक आर्यन का मनोचिकित्सक का इंटरव्यू करने का बुद्धिमानी भरा निर्णय सराहनीय कदम है। 

इस युवा अभिनेता को राष्ट्र का युवा आइकॉन माना जाता है और एक जिम्मेदार युवा आइकॉन होने के नाते, कार्तिक हमेशा सही कदम उठाते है। कई युवाओं को अवसाद या अन्य मानसिक स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन कभी किसी से बात करने या डॉक्टर से सलाह लेने की हिम्मत नहीं होती है, लेकिन अभिनेता ने निश्चित रूप से एक बदलाव लेकर आए हैं। 

सोशल मीडिया पर टीज़र देख चुके नेटिज़न्स उनके इस प्रयास की प्रशंसा कर रहे हैं। इस उभरते हुए सुपरस्टार को सलाम, जो हमेशा बदलाव लाने और जनता के लाभ मिलने के लिए भारी प्रयास करते रहते है।

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां