सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह ने रिया चक्रवर्ती पर लगाए सनसनीखेज आरोप



रिया चक्रवर्ती के खिलाफ सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह ने पटना के राजीव नगर में एफआईआर दर्ज करवाई है। इस एफआईआर में उन्होंने रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार पर कई आरोप लगाए हैं। सुशांत को मानसिक प्रताड़ना देने से लेकर बंधक बनाने और उनको आत्महत्या के लिए उकसाने सरीखे कई सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। फिलहाल बिहार पुलिस की टीम मुंबई पहुंट गई है और रिया के घर पर वकीलों की टीम का जमावड़ा भी लग गया है। 

Sushant singh father KK singh and rhea chakrborty
सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के निधन के 44वें दिन उनके पिता ने केके सिंह ने उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना के राजीव नगर में एफआईआर दर्ज कराई है, जिसकी कॉपी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। 

रिया ने कर दिया था सुशांत का नंबर ब्लॉक 

वायरल एफआईआर के मुताबिक, 8 जून को दिशा सलियन ने सुसाइड किया। इसके बाद जब मीडिया रिपोर्ट्स में उन्हें सुशांत की मैनेजर बताया गया, तो अभिनेता को घबराहट होने लगी थी। उन्होंने रिया को फोन लगाया, लेकिन रिया ने उनका नंबर ब्लॉक कर दिया था। इसके बाद सुशांत अंदर ही अंदर डरने लगे थे कि कहीं रिया उन्हें दिशा के सुसाइड के लिए जिम्मेदार न ठहरा दें। कहीं उन्हें फंसा न दें।

सुशांत के साथ रही बहन

के के सिंह ने लिखा है, 'मेरी बेटी (जो मुंबई में ही रहती है) सुशांत के पास गई और वहां उसके पास 3-4 दिनों तक रही। उसे काफी समझाया और हौसला दिया कि सब कुछ ठीक हो जाएगा। क्‍योंकि मेरी बेटी के बच्चे छोटे हैं। इस कारण वह 3-4 दिनों बाद उसको समझा-बुझाकर वह चली गई, लेकिन इसके 2 दिन बाद (14 जून 2020 को) मेरे बेटे सुशांत ने आत्महत्या कर ली।'

'रिया और उनके परिजनों ने षड़यंत्र के तहत धोखाधड़ी की'

के के सिंह ने आगे लिखा है, 'रिया, उसके परिजन और उसके सहयोगी कर्मचारियों ने षड़यंत्र के तहत मिलकर मेरे बेटे के साथ धोखाधड़ी, बेईमानी की है और उसे काफी समय तक बंधक बनाकर दबाव से अपने आर्थिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया और मेरे बेटे को आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया है।'

इसके आगे के के सिंह ने सिलसिलेवार तरीके से 7 पॉइंट्स में बताया है कि आखिर क्यों रिया और उनके परिजनों के खिलाफ क्यों जांच होनी चाहिए।

  • इस कॉपी के मुताबिक रिया पर कई सनसनीखेज आरोप लगे हैं। इसमें कहा गया है कि सुशांत को डर था कि कहीं रिया उन्हें उनकी मैनेजर दिशा सलियन के सुसाइड केस में न फंसा दें। इतना ही नहीं, सिंह ने एक्ट्रेस पर सुशांत के अकाउंट से 15 करोड़ रुपए निकालने, उन्हें डराने-धमकाने और आर्थिक इस्तेमाल के लिए बंधक बनाने जैसे कई संगीन आरोप भी लगाए हैं।
  • साल 2019 से पहले जब मेरे बेटे सुशांत सिंह को कोई भी दिमाग़ी परेशानी नहीं थी, तो रिया के संपर्क में आने के बाद अचानक क्या हुआ कि सुशांत सिंह को दिमाग़ी रूप से एकदम परेशानी हो गई, इसकी जांच की जाए। 
  • यदि इस दौरान वो मानसिक रूप से परेशान था या उसका कोई इलाज चल रहा था, तो इस संबंध में हमसे लिखित या मौखिक अनुमति क्यों नहीं ली गई, क्योंकि जब कोई व्यक्ति मानसिक रूप से बीमार होता है, तो उसके सारे अधिकार उसके परिवार के होते हैं, इसका जांच की जाए।
  • इस दौरान जिन-जिन डॉक्टरों ने रिया के कहने पर मेरे बेटे सुशांत सिंह का इलाज किया है। मुझे लगता है कि यह डॉक्टर भी रिया के साथ इस सारे षड़यंत्र में शामिल थे। इस बात की जांच होनी चाहिए कि उन्होंने क्या-क्या इलाज किया तथा कौन-कौन सी दवाईयां मेरे बेटे को दी?
  • जब रिया को पता था कि मेरे बेटे की मानसिक हालत नाजुक चल रही है, तो इस स्थिति में उसका ठीक तरीके से इलाज न करवाना और उसके इलाज के सारे कागजात अपने साथ ले जाना और मेरे बेटे को उस नाजुक हालत में अकेला छोड़ देना और उससे हर तरह के संपर्क तोड़ लेना, जिसके कारण मेरे बेटे ने आत्महत्या कर ली, तो उसकी मौत का जिम्मेदार रिया एवं उसके परिजन एवं सहयोगी ही हैं, इसकी जांच की जाए। 
  • मैने अपने पुत्र के एक बैंक खाता की स्टेटमेंट से पता लगाया है कि पिछले एक साल में लगभग 17 करोड़ रुपए मेरे बेटे के इस खाता नंबर 1011972591 कोटेक महेंद्रा में रहा था इस खाता से, इस दौरान करीब 15 करोड़ रुपए निकला है। इस खाता से पैसा ऐसे खातों में ट्रांसफर हुआ है, जिनसे मेरे बेटे का कोई लेना-देना नहीं है। मेरे बेटे के सभी खातों की जांच की जाए कि इन बैंक खातों/क्रेडिट कार्ड से कितना पैसा रिया ने अपने परिजनों एवं सहयोगियों के साथ धोखेबाजी षड़यंत्र से ठगा है। 
  • इस प्रकरण से पहले सुशांत सिंह का अभिनय जगत में पूरा नाम था, तो ऐसे क्या कारण रहे कि रिया के आने के बाद सुशांत सिंह की फिल्में एकदम कम हो गईं, इसकी जांच की जाए।
  • मेरा बेटा सुशांत सिंह ऑर्गेनिक खेती के व्यवसाय के लिए कुर्ग केरला अपने दोस्त महेश के साथ जाना चाहता था, जिसके लिए वो ज़मीन तलाश रहे थे, जब रिया को इस बात का पता चला तो उसने इस बात विरोध किया और सुशांत को धमकी दी कि मैं तुम्हारे इलाज के सारे पेपर मीडिया में हाइलाइट कर दूंगी और अपने अच्छे रसूख के चलते तुम्हारा सबकुछ बर्बाद कर दूंगी। लेकिन जब सुशांत सिंह ने उसकी इस बात का विरोध किया, तो रिया को लगा कि सुशांत सिंह इसके अब किसी काम का नहीं रहा है, तो रिया वहां से लैपटॉप, कैश, जेवर, क्रेडिट कार्ड, इलाज के दस्तावेज, पिन नंबर पासवर्ड, साथ लेकर चली गई। इस प्रकरण की जांच की जाए। 

बुजुर्ग हूं, शोक में हूं-के के सिंह

मैंने घर पटना, बिहार में रहते हुए, बहुत बार अपने बेटे सुशांत से बात करने की कोशिश की, लेकिन रिया व इसके परिजन व सहयोगियों ने हमेशा मेरी सारी कोशिशों को नाकाम कर दिया और ना ही उसे मेरे पास पटना आने दिया। मैं बुजुर्ग आदमी हूं, मेरी उम्र 74 साल है। मैं, अपने बेटे के निधन के चलते शोक में हूं, करीब 40 दिन गुजर चुके हैं, लेकिन मुंबई पुलिस मुख्य आरोपियों के खिलाफ कार्यवाई न करके जिन लोगों की इस प्रकरण में कम भूमिका रही है, उनके ऊपर जांच किए जा रही है। 

25 जुलाई को दर्ज हुई एफआईआर

पटना सेंट्रल जोन के आईजी संजय कुमार ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि यह एफआईआर आज (28 जुलाई को) नहीं, बल्कि तीन दिन पहले 25 जुलाई को दर्ज कराई गई है। दर्ज कराने वाले स्वयं सुशांत के पिता के के सिंह है। एफआईआर में मुख्य रूप से आईपीसी की छह धाराओं 341, 342, 380, 406, 420 और 306 का जिक्र किया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पटना में एफआईआर दर्ज कराने और इसकी जानकारी मीडिया से छुपाने की सलाह सिंह के वकीलों ने उन्हें दी थी।


टिप्पणियां