आमिर खान 'मिस्टर परफेक्शनिस्ट' हैं या 'मिस्टर कॉन्ट्रोवर्शियल'?

आमिर खान फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' की शूटिंग के लिए तुर्की गए हुए हैं और वहां पर उन्होंने वहां के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन की पत्नी एमीन अर्दोआन से मुलाकात की। इस मुलाकात की तस्वीर बाहर आते ही आमिर खान को सोशल मीडिया पर 'एंटी नेशनल' की उपाधि से नवाजा गया है। दरअसल, अर्दोआन अक्सर भारत विरोधी बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। हालांकि, यह पहला मौका नहीं है, जब आमिर खान ने कुछ ऐसा किया है, जिससे बखेड़ा खड़ा हुआ है। इससे पहले भी कई बार कॉन्ट्रोवर्सी क्रिएट कर चुके हैं। देखिए, कब क्या-क्या और कैसे-कैसे...

Aamir Khan turns Mr Controversial to Mr Perfectionist
अपनी अगली फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' की शूटिंग के लिए तुर्की गए आमिर खान विवादों में घिर गए हैं। दरअसल, उन्होंने वहां के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन की पत्नी एमीन अर्दोआन से मुलाकात की। दोनों की यह मुलाकात 15 अगस्त को हुई थी, जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गई। 

इन तस्वीरों को देखने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने आमिर को 'एंटी नेशनल' तक करार दे दिया। दरअसल, तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन अक्सर भारत विरोधी बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। जब भी भारत और पाकिस्तान के मामलों का जिक्र होता है, अर्दोआन हमेशा पाकिस्तान के साथ खड़े नजर आते हैं।

अब आमिर के ऐसे देश में जाना और फिर वहां की फर्स्टलेडी से मुलाकात करने को लेकर कई सारे सवाल खड़े किए जा रहे हैं, तो दूसरी तरफ यह भी फैक्ट है कि आमिर खान ने ऐसा पहली बार नहीं किया है, जिससे विवाद खड़ा हो गया है। 

अक्सर वो अपने बयानों से विवाद खड़ा करते आ रहे हैं। इसलिए अब सोशल मीडिया पर उनको कुछ लोग 'मिस्टर परफेक्शनिस्ट' के बजाय 'मिस्टर कॉन्ट्रोवर्शियल' की उपाधि देते दिख रहे हैं। पर्सनल से लेकर प्रोफेशनल लाइफ में आमिर के कुछ विवादों पर आइए डालते नज़र। 

आमिर ने कहा था, 'इस देश में डर लगता है'

साल 2015 में आमिर खान ने देश में कथित तौर पर बढ़ रहे असहिष्णुता यानी इन्टॉलरेंस के मुद्दे पर कहा था, 'अपने बच्चे को लेकर पहली बार मुझे देश में डर लग रहा है। देश का माहौल देखकर एक बार तो पत्नी किरण ने बहुत बड़ी और डरावनी बात कह दी। किरण ने पूछा कि क्या हमें देश छोड़ देना चाहिए? किरण बच्चे की हिफाजत को लेकर डर महसूस कर रही थीं।'

आमिर खान के इस बयान के बाद उनको आलोचना झेलनी पड़ी। यहां तक कि अनुपम खेर और परेश रावल सरीखे बॉलीवुड कलाकारों ने अपना विरोध जताया। 

जहां अनुपम खेर ने आमिर से सीधे पूछ लिया कि क्या उन्होंने अपनी पत्नी किरण से पूछा है कि वो किस देश में जाना चाहती हैं। क्या आपने उन्हें बताया कि इस देश ने आपको आमिर खान बनाया है? क्या आपने किरण को यह बताया है कि आपने देश में इससे भी बुरे दौर को देखा है, लेकिन कभी देश छोड़ने का विचार आपके मन में नहीं आया।'

वहीं, परेश रावल ने आमिर के इस बयान पर कहा कि भारत में रहने वाला इंसान अपनी मातृभूमि कभी नहीं छोड़ सकता। मैं आमिर के बयान से स्तब्ध हूं।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि आमिर के इसी बयान की वजह से जनवरी 2017 में आमिर खान को इनक्रेडिबल इंडिया (अतिथि देवो भव) के ब्रांड एंबेसडर पद से हटा दिया गया था। 

'शाहरुख मेरे पैर चाट रहा है और...'

आमिर खान ने अपने समकालिक अभिनेता शाहरुख खान को लेकर भी विवादास्पद बयान दिया था। उन्होंने अपनी सोशल मीडिया हैंडल पर लिखा था, 'शाहरुख मेरे पैर चाट रहा है और मैं उसे बिस्कुट खिला रहा हूं।'

दरअसल शाहरुख, आमिर के एक पेट डॉग का नाम था, लेकिन इस बात पर इतना विवाद हुआ कि आमिर को सोशल मीडिया पर सफाई देनी पड़ी थी। इसके बाद शाहरुख और आमिर के बीच कोल्ड वॉर बढ़ा था, लेकिन कुछ वक्त के बाद सब ठीक हो गया।

'पीके' के पोस्टर पर बवाल

साल 2014 में 'पीके' का पहला पोस्टर जब रिलीज हुआ था, उसमें आमिर न्यूड नजर आ रहे थे। गले में ट्रांजिस्टर डाले आमिर किसी रेलवे ट्रैक पर खड़े हुए थे। आमिर के इस 'न्यूड लुक' पोस्टर पर जमकर विवाद हुआ था। आमिर के इस पोस्टर को लेकर कोर्ट में याचिका तक दर्ज करवाई गई थी। 

इसके अलावा फिल्म 'पीके' में एक सीन पर भी काफी बवाल हुआ था। फिल्म में एक सीन था, जिसमें भगवान शंकर बना आदमी शहरभर में भागता है और आमिर उसके पीछे होते हैं। फिल्ममेकर्स ने इस सीन को स्टोरी की डिमांड कहा था, लेकिन सवाल उठे कि मनोरंजन के नाम पर देवी देवताओं का अपमान भला क्यों किया जा रहा है।

इस सीन को लेकर भी आमिर पर आरोपों के बौछार किए गए और साथ ही आमिर की मंशा पर भी सवाल खड़े किए गए। 

भाई फैज़ल के आरोप

आमिर खान पर उनके भाई फैज़ल ने आरोप लगाया था कि आमिर ने उन्हें घर में कैद करके रखा था। उन्हें मानसिक रूप से बीमार बताकर दवाइयां लेने को भी मजबूर किया जाता था। फैज़ल द्वारा आमिर पर लगाए गए इन आरोपों ने इंडस्ट्री में तहलका मचा दिया था। हालांकि, इस दौरान फैज़ल मानसिक बीमारी से जूझ रहे थे। इसके बाद फैज़ल ने आमिर पर अपनी संपत्ति हड़पने के भी आरोप लगाए थे, लेकिन बाद में दोनों के बीच के विवाद आपसी सहमति से सुलझ गए थे।

बता दें फैज़ल खान, आमिर खान के साथ फिल्म 'मेला' में नजर आए थे। इसके बाद कुछ और फिल्में की, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की माने, तो साल 2007 में वे अपना मानसिक संतुलन खो बैठे थे और एक दिन बिना बताए घर से भाग गए थे। हालांकि, कुछ दिनों बाद फैजल वापस लौट आए थे।

मेधा पाटकर का समर्थन

साल 2006 में आमिर खान ने नर्मदा बचाओ आंदोलन को अपना समर्थन दिया। मेधा पाटकर के साथ वो धरने पर भी बैठे। आमिर के इस कदम का भी पुरजोर तरीके से विरोध हुआ। यहां तक कि तब गुजरात में उनकी फिल्में थिएटर में नहीं लगने दी गई थीं। 

अमिताभ बच्चन की आलोचना

आमिर खान इतने बड़बोले हैं कि उन्होंने अमिताभ बच्चन को लेकर भी टिप्पणी कर दी थी। दरअसल, फिल्म 'ब्लैक' देखने के बाद एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें यह फिल्म और अमिताभ बच्चन की एक्टिंग समझ में नहीं आई। यहां तक कि फिल्म को असंवेदनशील फिल्म तक कह डाला था। 

आमिर ने कहा था कि इस फिल्म में दिखाया गया है कि एक मूक-बधिर और नेत्रहीन लड़की को पढ़ाने-सिखाने की जिम्मेवारी एक शराबी आदमी को दी जाती है और वह उस लड़की को थप्पड़ भी मारता है। इसे किसी भी तरह सही नहीं ठहराया जा सकता। 

अपनी फिल्म 'ब्लैक' को लेकर आमिर की प्रतिक्रिया पर अमिताभ बच्चन ने तब कहा था कि वह आमिर की प्रतिक्रिया का स्वागत करते हैं। हो सकता है कि 'ब्लैक' आमिर के सिर के ऊपर से गुजर गयी हो। यदि 'ब्लैक' में दिखायी गई कोई बात उन्हें अच्छी नहीं लगी, तो वह आगे इसका खयाल रखेंगे।

वहीं अमिताभ ने कहा कि आमिर को भी अपनी फिल्म 'लगान' में इस बात का ध्यान रखना चाहिए था कि एक पोलियोग्रस्त शख्स क्रिकेट के मैच में इतनी अच्छी बॉलिंग कैसे कर सकता है? इसके अलावा, फिल्म 'फना' में आमिर ने जो किरदार निभाया था, उसने दृष्टिहीन बनी काजोल के साथ जो कुछ किया था, क्या वह संवेदनशील था?

इस वाकये के बाद से आमिर और अमिताभ बच्चन में कोल्ड वॉर शुरू हो गया था, जो बाद में खत्म हुआ, जब दोनों ने फिल्म 'ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां' में साथ में काम किया। 

कॉन्ट्रोवर्सी या पब्लिसिटी स्टंट

कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि आमिर खान अपनी फिल्मों के प्रचार को लेकर इस तरह की कॉन्ट्रोवर्सी क्रिएट करने का हथकंडा अपनाते हैं। यदि आप गौर करेंगे, तो पाएंगे इन सभी कॉन्ट्रोवर्सीज़ के दौरान उनकी फिल्में तकरीबन रिलीज़ पर थीं। अब यह महज संयोग है या कुछ और....यह तो आमिर ही जाने।

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां