अमिताभ बच्चन ने अमर सिंह के लिए लिखा, 'निकट प्राण, संबंध निकट, वो आत्मा...'



अमिताभ बच्चन ने अपने करीबी दोस्त रहे राजनेता अमर सिंह के निधन पर भावुक पक्तियां लिख कर श्रद्धांजलि दी है। अक्सर अपने ब्लॉग पर लंबे-चौड़े पोस्ट लिखने वाले अमिताभ बच्चन ने दो पंक्तियों में अपनी भावनाओं को व्यक्त किया। इन पंक्तियों के साथ उन्होंने सिर को झुकाए एक तस्वीर भी पोस्ट की। 

amitabh bachchan wrote bog for amar singh
कुछ समय से नानावटी अस्पताल कोविड-19 का इलाज करवा रहे अमिताभ बच्चन ने आइसोलेशन वार्ड से अपने दोस्त रहे राजनेता अमर सिंह को श्रद्धांजलि दी है। 

बीते काफी समय से किडनी संबंधित बीमारी का इलाज करवा रहे अमर सिंह का शनिवार को निधन हो गया। 

वहीं एक ज़माने में अमिर सिंह और अमिताभ बच्चन की करीबी से सभी वाकिफ हैं। हालांकि, बाद के दिनों में दोनों की दोस्ती में दरार आ गया। 

बताया जाता है कि साल 2012 में अनिल अंबानी की एक पार्टी में जया बच्चन और अमर सिंह के बीच कहासुनी हुई, जिसके बाद बच्चन परिवार से अमर सिंह का असोसिएशन खत्म हो गया था। बाद के दिनों में अमर सिंह ने काफी तल्ख बातें बच्चन परिवार के लिए कहा, लेकिन बच्चन परिवार की तरफ से इसे लेकर कुछ नहीं कहा गया। 

कुछ समय पहले ही अमर सिंह ने बच्चन परिवार को लेकर कही गई बातों के लिए माफी भी मांगी थी, जिस पर भी अमिताभ बच्चन ने कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी थी। 

ऐसे में उनके गुजर जाने के बाद अमिताभ बच्चन ने अपने सोशल मीडिया और ब्लॉग पर अपनी भावनाओं को व्यक्त किया। 

इस पोस्ट में अमिताभ बच्चन ने एक तस्वीर भी शेयर की, जिसमें वो अपने सिर को झुकाए खड़े हैं और साथ में दो पंक्तियां लिखी, हैं...

'शोक ग्रस्त, मस्तिष्क झुका, प्रार्थनाएं केवल रहीं,
निकट प्राण, संबंध निकट, वो आत्मा नहीं रही!'

अमर सिंह से बच्चन परिवार की दूरियां 

एक इंटरव्यू में अमर सिंह ने कहा था, 'अमिताभ ने उस झगड़े में अपनी पत्नी का साथ दिया था। तभी से हमारे बीच दूरियां बढ़ गई थीं।'

कई बार अमर सिंह ने बच्चन परिवार को लेकर कई आरोप भी लगाए हैं। एक इवेंट में उन्होंने कहा था, 'अमिताभ बच्चन एक ऐसे एक्टर हैं, जो कई आपराधिक मामलों में लिप्त हैं। पनामा पेपर्स विवाद में भी उनका नाम आ चुका है।'

एक अन्य कार्यक्रम के दौरान अमर सिंह ने कहा था, 'ऐश्वर्या मेरी बहुत इज्जत करती है। अभिषेक ने भी आज तक मेरे खिलाफ कुछ नहीं कहा। मुझे अमिताभ बच्चन से भी कोई गिला नहीं है। उन्होंने खुद मुझे चेतावनी दी थी कि मैं जया बच्चन को पॉलिटिकल फील्ड में न उतारूं। मैंने ही उनकी भली सलाह नहीं मानी।'

अमिताभ बच्चन से मांगी थी माफी

अमर सिंह ने 18 फरवरी 2020 को अमिताभ बच्चन से माफी मांगी थी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा था, 'आज मेरे पिताजी की पुण्यतिथि है और मुझे इसी वजह से अमिताभ बच्चन जी ने मैसेज भेजा। जिंदगी के ऐसे मोड़ पर जब मैं जीवन और मौत के संघर्ष में जूझ रहा हूं। मैं अमित जी और उनके परिवार के प्रति बेवजह की बयानबाजी के लिए खेद प्रकट करता हूं। भगवान उन सबकी रक्षा करे।'

अमर सिंह ने ट्वीट के अलावा फेसबुक पर वीडियो भी पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने कहा, 'पिछले 10 वर्षों से मैं न सिर्फ बच्चन परिवार से दूर रहा, बल्कि यह भी प्रयत्न किया कि उनके दिल में मेरे लिए नफरत हो, लेकिन आज अमिताभ बच्चनजी ने फिर मेरे पिताजी का स्मरण किया, तो मुझे ऐसा लगा कि इसी सिंगापुर में 10 साल पहले गुर्दे की बीमारी के लिए मैं और अमित जी लगभग 2 महीने तक साथ रहे थे और इसके बाद हमारा और उनका साथ छूट-सा गया।'

इस वीडियो में आगे कहते हैं, '10 साल बीत जाने पर भी उनकी निरंतरता में कोई बाधा नहीं आई और वे लगातार अनेक अवसरों पर, चाहे मेरा जन्मदिन हो या पिताजी के स्वर्गवास का दिन हो...वे हर दिन का स्मरण कर अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे हैं। मुझे लगता है कि मैंने अनावश्यक रूप से ज्यादा उग्रता दिखाई। 60 से ऊपर जीवन की संध्या होती है। एक बार फिर मैं जिंदगी और मौत की चुनौती के बीच से गुजर रहा हूं। वे मुझसे उम्र में बड़े हैं। इसलिए उनके प्रति मुझे नरमी रखनी चाहिए थी और जो कटुवचन मैंने बोला है, उसके लिए खेद भी प्रकट कर देना चाहिए।'

अमर सिंह ने उस वीडियो में आगे कहा था, 'मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्यादा उनके व्यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न तो कटुता है और न ही निराशा। ईश्वर से यही प्रार्थना है कि सबको ईश्वर उनके कर्मों के अनुसार यथोचित न्याय दें। हमें सब ईश्वर पर छोड़ना चाहिए, बजाय इसके कि हम उसके काम में खुद दखल दें। अमित जी बहुत-बहुत धन्यवाद।'


टिप्पणियां