सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

प्रतिभाओं के भंडार फरहान

डायरेक्शन से लेकर एक्टिंग, राइटिंग से लेकर सिंगिग, सिनेमा के हर विधा में अपना लोहा मनवाने वाले फरहान अख़्तर 42 साल के हो गए। सिनेजगत के प्रतिभावान कपल जावेद अख़्तर और हनी ईरानी के बेटे फरहान को प्रतिभा तो विरासत में ही मिली है। फरहान से जुड़ी कुछ ख़ास बातों को अाज हम उनके जन्म दिवस पर आपसे साझा कर रहे हैं ... नीचे क्लिक कीजिए।

फरहान अख़्तर एक फ़िल्म के दृश्य में
मुंबई। फरहान अख़्तर सिनेजगत में ऐसे शख़्स का नाम है, जो डायरेक्टर, स्क्रीन राईटर, प्रोड्यूसर, एक्टर, प्लेबैक सिंगर, गीतकार के साथ शो होस्ट भी है। गीतकार जावेद अख़्तर और पटकथा लेखक हनी ईरानी के बेटे फरहान ने अपने हुनर ​​से अपनी एक अलग पहचान बनाई है। मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट अधुना अख़्तर इनकी पत्नी हैं और फ़िल्म डायरेक्टर ज़ोया अख़्तर इनकी बहन हैं।

सफर पर नज़र

बॉलीवुड में अपनी प्रतिभा का मुरीद बनाने वाले फरहान अख़्तर ने अपने कॅरियर की शुरुआत साल 1991 में की थी। बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर उन्होंने फ़िल्म 'लम्हें' में काम किया। इसके बाद साल 1997 में आई फ़िल्म 'हिमालय पुत्र' में भी वो असिस्टेंट डायरेक्टर ही रहे।

इसके बाद साल 2001 में फरहान ने रितेश सिधवानी के साथ मिलकर एक प्रोडक्शन कंपनी शुरू की। इसी के बैनर तले उन्होंने 'दिल चाहता है' बनाई। इसका डायरेक्शन भी फरहान ने ही किया। बतौर डायरेक्टर उन्होंने इस फ़िल्म से डेब्यू किया। दर्शकों के साथ आलोचकों ने भी काफी सराहा। यहां तक ​​कि इस फ़िल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार से भी नवाजा गया। फिर फ़िल्म 'लक्ष्य' (2004) और 'डॉन' (2006) के साथ ही जागरुकता फैलाने के लिए 'पॉजिटिव' नाम से शॉर्ट मूवी भी बनाई।

साल 2008 में आई फिल्म 'रॉक ऑन' से फरहान ने एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा। इस फ़िल्म को भी राष्ट्रीय पुस्कार मिला। फरहान को साल 2013 में आई फ़िल्म 'भाग मिल्खा भाग' के लिए फिल्मफेयर का बेस्ट एक्टर अवॉर्ड मिला।


कुछ दिलचस्प बातें ...

फरहान ने अपना करियर महज सत्रह साल की उम्र में बतौर असिस्टेंड डायरेक्टर शुरू किया था।
वर्ष 1999 में फरहान अख्तर ने रितेश सिद्धवानी के साथ मिलकर एक्सेल एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड बनाई। इसके बाद साल 2001 उन्होंने हिट फ़िल्म 'दिल चाहता है' से हिंदी सिनेमा में लेखन और निर्देशन करियर की शुरुआत की।
इसके बाद उन्होंने फिल्म 'लक्ष्य' (2004) का निर्माण किया। फिल्म में रितिक रोशन और प्रीति जिंटा ने मुख्य भूमिका निभाई थी। हालांकि, फ़िल्म टिकट खिड़की पर कुछ ख़ास कमाल नहीं कर पाई, लेकिन समीक्षकों ने इसे काफी सराहा।

वर्ष 2006 में उन्होंने अभिनेता शाहरुख खान को लेकर 'डॉन 2' बनाई। यह फ़िल्म अमिताभ बच्चन की 'डॉन' की सीक्वल थी। फ़िल्म सुपरहिट रही। यह उस साल की पांचवी सबसे बड़ी हिट थी।

वर्ष 2008 में उन्होंने फिल्म 'रॉकऑन' का निर्माण किया। इस फ़िल्म में उन्होंने बतौर अभिनेता अपने करियर की शुरुआत की। यहां तक ​​कि इस फ़िल्म के कई गाने खुद फरहान ने ही गाये थे। इसे दर्शकों की काफी सराहना मिली और फरहान की झोली में राष्ट्रीय पुरस्कार भी आया।

वर्ष 2011 फरहान अख्तर के लिए अहम साल साबित हुआ। इस साल 'लक बाय चांस', 'जिदंगी न मिलेगी दोबारा', 'डॉन 2', 'कार्तिक कॉलिंग कार्तिक' और 'गेम' जैसी फ़िल्मों में काम किया।

वर्ष 2013 में फरहान अख्तर ने फ़िल्म 'भाग मिल्खा भाग' में अभिनय किया। यह बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही थी। फरहान ने इसमें धावक मिल्खा सिंह की भूमिका निभाई थी।

फरहान ने वर्ष 2015 में फ़िल्म 'दिल धड़कने दो' में काम किया था। इसका निर्देशन उनकी बहन जोया अख्तर ने किया था। इसमें फरहान और प्रियंका चोपडा ने एक गाना भी गाया था।

फरहान अख्तर की शादी हेयर स्टाइलिस्ट अधुना भावनी से हुआ है। उनके दो बच्चे अकीरा और शाक्य हैं। वे अभिनेता रितिक रोशन के बहुत अच्छे दोस्त हैं।

फरहान अख्तर जल्द ही आगामी फ़िल्म 'रॉकऑन 2' में नजर आयेंगे। साथ ही वे शाहरुख खान को लेकर 'रईस' बना रहे हैं। हाल ही में उनकी फ़िल्म 'वजीर' रिलीज हुई है, जिसमें उनके अलावा अमिताभ बच्चन और अदिति राव हैदरी भी मुख्य भूमिका में हैं।

संबंधित खबरें।

आगे किश्वर ने कहा 'जबरन' निकाला मुझे