सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

राजेश खन्ना ने ‘आनंद’ के लिए घटाई थी अपनी फीस

राजेश खन्ना की यादगार फिल्मों के नाम गिनाने बैठे, तो कई नाम याद आएंगे। सभी सिनेप्रेमियों की लिस्ट अलग होगी, लेकिन सबकी लिस्ट में फिल्म ‘आनंद’ का नाम ज़रूर होगा। लेकिन इस फिल्म में काम पाने के लिए राजेश खन्ना ने काफी पापड़ बेलने पड़े। यहां तक कि उन्होंने इस फिल्म के निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी की कई शर्तें भी मान लीं। उनकी पुण्यतिथि पर इस क़िस्से का ब्यौरा आप सबके लिए...

ऋषिकेश मुखर्जी की ‘आनंद’ में काम करने के लिए राजेश खन्ना ने आठ लाख से फीस घटा कर एक लाख कर दिया था।
मुंबई। निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी एक फिल्म बना रहे थे। इस लो बजट फिल्म में वो अपने जिगरी दोस्त राज कपूर को लेना चाहते थे, लेकिन उन दिनों राज बहुत बीमार चल रहे थे। 

वहीं फिल्म के अंत में वो किरदार मर जाता है, जिसके लिए राज को ऋषिकेश कास्ट करना चाहते थे। फिल्म के अंत को देखकर राज की निजी जिंदगी पर भी गहरा असर होता, सो उन्होंने राज को अपनी फिल्म में कास्ट करने का विचार ही छोड़ दिया। 

इसके बाद ऋषिकेश बांग्ला फिल्मों के सुपरस्टार उत्तम कुमार के पास पहुंचे। वहां भी बात न बनीं। फिर वो शशि कपूर, किशोर कुमार को भी इस फिल्म में काम करने के लिए मनाने पहुंचे, लेकिन उन दोनों ने भी फिल्म का हिस्सा बनने से मना कर दिया। 

परेशान ऋषि अपनी इस लो बजट फिल्म के लिए कलाकार खोजने में व्यस्त थे। उधर ऋषिकेश के दोस्त गुलज़ार की मुलाक़ात अचानक एक दिन राजेश खन्ना से हुई और बातो-बातों में फिल्म ‘आनंद’ की कहानी का जिक्र हुआ। 

राजेश खन्ना को यह कहानी और ख़ासतौर से किरदार इतना भा गया कि उन्होंने इस फिल्म में काम करने का मन बना लिया। अगले दिन राजेश, ऋषिकेश मुखर्जी से मिलने जा पहुंचे। अपने दफ्तर में सुपरस्टार राजेश को देखकर वो भी दंग रह गए। 

ख़ैर, दुआ-सलाम के बाद राजेश ने ऋषिकेश मुखर्जी से फिल्म ‘आनंद’ में काम करने की इच्छा जताई। उनकी इच्छा जानकर ऋषिकेश अचरज में पड़ गए। उन्हें आश्चर्य हो भी क्यों न! एक ऐसा अभिनेता, जिसकी दो फिल्में ‘आराधना’ और ‘दो रास्ते’ कमर्शियली हिट हों और उसे सुपरस्टार कहा जाता हो और वो एक फिल्म के आठ लाख लेता हो। अब ऐसे में यदि वो एक लो बजट फिल्म में काम करने की इच्छा जताए, तो अचरज करना बनता है। 

ऋषिकेश ने राजेश खन्ना को समझाते हुए कहा कि देखो यह फिल्म लो बजट है। ऐसे में मैं तुमको कास्ट नहीं कर सकता, लेकिन राजेश खन्ना मानने को तैयार ही न थे। राजेश खन्ना की ज़िद देखते हुए, ऋषिकेश मुखर्जी ने उनके सामने दो शर्ते रखीं। 

पहली शर्त के मुताबिक़ उनको इस फिल्म के लिए सिर्फ एक लाख रुपये दिए जाएंगे और वो शूटिंग सेट पर समय पर आएंगे। 

दूसरी शर्त यह थी कि वो अपनी बल्क डेट्स यानी ढेर सारी डेट एकसाथ दें। 

ऋषिकेश की दोनों शर्तों के लिए तैयार राजेश खन्ना ने अपनी डायरी उनकी टेबल पर रख दी और कहा कि जो मन करे, वो डेट आप इस डायरी में लिख दीजिए। इस फिल्म को लेकर आप जो कहोगे, मैं वो करूंगा। 

इस तरह राजेश खन्ना ने ज़िद करके ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म में काम पा ही लिया। राजेश अपनी जिजिविषा के लिए जाने जाते थे। वो बुलंदियों पर पहुंचे, नीचे फिसले और फिर बुलंदियां छुई हैं। तभी तो कहा जाता था, ‘ऊपर आका, नीचे काका’।

संबंधित ख़बरें