सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

टूट गया 'काका' का ‘वरदान आशीर्वाद’

बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना का ‘वरदान आशीर्वाद’ ढहाया जा रहा है। बांद्रा के कार्टर रोड पर मौजूद 'काका' का यह बंगला साल 2014 में शशि किरण शेट्टी ने 95 करोड़ में खरीदा था और यह 6,500 वर्ग फीट में फैला हुआ है। इस बंगले को लेकर खुद को राजेश खन्ना की लिव इन पार्टनर बताने वाली अनीता आडवाणी ने काफी हो हल्ला भी किया था। लेकिन इसके बाद भी इसे राजेश खन्ना की बेटियों ट्विंकल और रिंकी ने बेच दिया। कभी जुबली कुमार राजेंद्र कुमार से साढ़े तीन लाख में काका ने यह बंगला खरीदा था। यही बंगला कभी राजेंद्र कुमार के लिए 'अनलकी' रहा था, लेकिन राजेश खन्ना के लिए 'लकी' सा‍बित हुआ।

राजेश खन्ना और उनका बंगला वरदान आशीर्वाद
मुंबई। जिस बंगले में कभी बॉलवुड के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना रहा करते थे, उसे अब जेसीबी मशीनें ज़मीदोज़ कर रही हैं। बॉलीवुड में 'काका' के नाम से मशहूर इस अभिनेता के बंगले ‘वरदान आशीर्वाद’ ने जानें कितनी रंगीन शामें और सिंदूरी सुबहें देखी होंगी और आज इसकी हर ईंट भराभर कर गिर रही है।

इस बंगले को तोड़ने का फैसला इसके नए मालिक शशि किरण शेट्टी ने लिया है। वे इसे तुड़वाकर तीन या चार मंजिला इमारत बनाएंगे। शशि का कहना है कि बंगला 50 साल पुराना है, इसी वजह से इसे तोड़ने का फैसला किया गया है। आपको बता दें कि साल 2014 में 95 करोड़ रुपए का खरीदा था, यह बंगला 6,500 वर्ग फीट में फैला हुआ है।

बंगले के मालिक शशि किरण

इस बंगले के नए मालिक शशि किरण शेट्टी ऑल लॉजिस्टिक्स लिमिटेड के सीएमडी और फाउंडर हैं। शशि ने एक अंग्रेज़ी अख़बार को बताया कि बंगले का ढांचा तकरीबन 50 साल पुराना है। यही वजह है कि इसे तोड़कर यहां नई तीन चार मंजिला इमारत बनाई जाएगी। वहीं बीएमसी के बिल्डिंग प्रपोजल डिपार्टमेंट के अनुसार शेट्टी ने इस तरह की कार्रवाई के लिए मंजूरी पहले ही ले ली थी।

ग़ौरतलब है कि शेट्टी ने 6,500 स्क्वेयर फीट में फैले इस बंगले को अगस्त, 2014 में 95 करोड़ रुपए में खरीदा था। शेटटी नई इमारत बनाने का काम जल्दी से जल्दी पूरा कर के उसमें डेढ़ साल के भीतर शिफ्ट होना चाहते हैं। पुराने ढांचे को ढहाने के बाद नई इमारत का काम एक दो महीने में ही शुरू हो जाएगा। 

ट्विंकल - रिंकी ने बेचा था बंगला 

राजेश खन्ना के बंगले को तोड़ती जेसीबी मशीन

राजेश खन्ना का निधन 18 जुलाई, 2012 को हुआ था, काका ने अपने इस बंगले को ट्विंकल और रिंकी के नाम कर दिया था। दोनों बेटियों ने बाद में इसे बेचने का फैसला किया। हालांकि, ख़ुद को राजेश खन्ना की लिव इन पार्टरन कहने वाली अनीता ने इस पर अपना दावा भी किया। 


अनीता का विरोध 

जब इस बंगले को बेचने की ख़बर अनीता को लगी, तो उन्होंने इसका पुरजोर तरीके से विरोध किया। मीडिया के सामने आकर अनीता ने कहा था कि यह वाकई बहुत चौंकाने वाली बात है। जब काका थे, तब हम हर साल इस घर में गणेशजी की स्थापना किया करते थे और इसे बेचकर वे सभी यादें मिटा रहे हैं।

अनीता ने कहा था कि मुझे लगता है कि बंगले को बेचने वालों के मन में काका के लिए कोई सम्मान ही नहीं है। लानत है उन लोगों पर। यदि मैं काका की बेटियों की जगह पर होती, तो कभी इसे नहीं बेचती। क्योंकि काका भी इसे बेचना नहीं चाहते थे। 

राजेंद्र कुमार के लिए 'अनलकी', ‘काका’ के लिए लकी

इस बंगले की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। यह बंगला जुबली  कुमार के नाम से मशहूर राजेंद्र कुमार ने मात्र 60 हज़ार में खरीदा था। इसे खरीदने के बाद राजेंद्र कुमार ने इसका नाम 'डिंपल' रखा था। लेकिन इस बंगले के मालिक बनने के बाद राजेंद्र कुमार की फिल्में पिटने लगीं।

अब राजेंद्र इसे बेचने की फिराक में लग गए। तभी उनकी मुलाकात काका यानी राजेश खन्ना से हुई। राजेश ने राजेंद्र कुमार के बंगले को खरीदने की पेशकश की। राजेंद्र ने उन्हें चेताया कि यह बंगला 'अनलकी' है। लेकिन राजेश ने कहा कि यदि आपको बेचना है, तो मुझे क्यों नहीं बेच देते। 'अनलकी' जैसी बात को मैं नहीं मानता।

तब राजेंद्र कुमार ने काका को यह बंगला 3.5 लाख रुपए में बेच दिया। राजेश खन्ना ने इसे खरीदने के बाद इसका नाम बदलकर ‘वरदान आशीर्वाद’ रख दिया। यहां आने के बाद राजेश ने लगातार 15 हिट फिल्में दीं। यह बंगला उनके लिए बहुत 'लकी' साबित हुआ। काका ने डिंपल कपाड़िया से शादी करने से पहले इसे खरीदा था।

संबंधित ख़बरें
आगेआलिया पर भिड़े सिद्धार्थ और केआरके