सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सुशांत सिंह राजपूत बनेंगे ‘द ग्रेट खली’

सुशांत सिंह राजपूत के हाथ एक और बड़ी बायोपिक लगी है। ख़बरें हैं कि ‘द ग्रेट खली’ के नाम से मशहूर रेसलर दिलीप सिंह राणा पर बायोपिक बनने जा रही है, जिसके लिए एक बड़े स्टूडियो ने सुशांत को प्रस्ताव भेजा और सुशांत ने उसे स्वीकार कर लिया है। इस तरह से उनकी झोली में यह तीसरी बायोपिक आ गिरी है। 

सुशांत सिंह राजपूत बनेंगे द ग्रेट खली
मुंबई। क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के किरदार को पर्दे पर निभाने वाले सुशांत सिंह राजपूत जल्दी ही रेसलर दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली के किरदार को बड़े पर्दे पर निभाने जा रहे हैं। 

हालांकि, कुछ समय पहले ख़बरें थीं कि सुशांत एक बार फिर बायोपिक में नज़र आने वाले हैं। इन अटकलों पर एक अंग्रेज़ी अखबार ने मुहर लगा दी है। उस अखबार में छपी रिपोर्ट की माने, तो एक बड़ा स्टूडियो सुशांत के साथ जिस बायोपिक फिल्म की योजना बना रहा था, वो द ग्रेट खली की ज़िंदगी पर आधारित होगी। 

रिपोर्ट में आगे लिखा गया है कि अपने ऊपर बनने वाली बायोपिक के लिए खली ने इजाजत दे दी है। साथ ही इस बायोपिक में सेंट्रल कैरेक्टर को निभाने के लिए सुशांत सिंह राजपूत ने भी हामी भर दी है। 

बताया जा रहा है कि जिस तरह महेंद्र सिंह धोनी के जीवन के अनछुए पहलू को पर्दे पर दिखाया गया था। कुछ उसी तरह खली के जीवन के अनछुए पहलुओं को पर्दे पर दिखाया जाएगा। 

द ग्रेट खली’ के नाम से मशहूर इस रेसलर का असली नाम दिलीप सिंह राणा है। उनका जन्म हिमाचल प्रदेश के धिराइना में एक साधारण परिवार में हुआ था। उनकी मां का नाम तांड़ी देवी और पिता का नाम ज्वाला राम है। साल 2002 में उन्होंने हरमिंदर कौर से शादी की थी और अब वो एक बेटी के पिता हैं। 

खली 7 फीट 1 इंच के हैं और उनका वज़न 157 किलो है। कहा जाता है कि उनकी खुराक एक परिवार के खुराक के बराबर हैं। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि नाश्ते में वो 10-15 अंडे अकेले खा जाते हैं, जबकि दोपहर में वो दाल-रोटी के साथ चिकन और चावल खाना पसंद करते हैं। इसके अलावा शाम को वो भोजन वो चिकन ज़रूर खाते हैं। 

खली की इस भारी-भरकम डील-डौल के पीछे एक बीमारी है। दरअसल, वो एक्रोमेगली से पीड़ित हैं। इससे पीड़ित व्यक्ति के शरीर का हार्मोनल संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे उसका चेहरा, शरीर महामानव जैसा हो जाता है। 

मशहूर होने से पहले खली शिमला की एक दुकान में काम करते थे। उसी दौरान उन पर डीजीपी महल सिंह भुल्लर की नज़र पड़ी। भुल्लर ने उनको पंजाब पुलिस में भर्ती करवा दिया। इसके बाद उन्होंने रेसलिंग में किस्मत आजमाई। फिर अमेरिका के डब्ल्यू डब्ल्यू ई में भी कोशिश करने गए और झंडा गाड़ आए। 

ख़ैर, अब यदि खली के किरदार को पर्दे पर निभाने के लिए सुशांत के बारे में सोचा जाए, तो थोड़ा अजीब लगता है। दरअसल, वो महेंद्र सिंह धोनी को अच्छी तरह से निभा पाए, क्योंकि कट काठी काफी मिलती है, लेकिन खली और सुशांत की कद-काठी में काफी अंतर है। इसलिए कहा यह भी जा रहा है कि किसी और चेहरे की तलाश अभी भी जारी है, लेकिन सुशांत के अलावा किसी और भी बॉलीवुड कलाकार के लिए बिना सीजीआई के खली के किरदार में ढल पाना नामुमकिन है। वहीं दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि फिल्म में वीएफएक्स की मदद ली जाएगी। 

अब यदि सुशांत को खली के लिए तयशुदा मान लिया जाए, तो यह बायोपिक उनके करियर की तीसरी बायोपिक होगा। इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक कर चुके हैं। उसके बाद उनके पास पैराओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट मुरलीकांत पाटेकर की बायोपिक भी है।

संबंधित ख़बरें