सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Sridevi Death : ‘चांदनी’ दे गई ‘सदमा’

अदाकारा श्रीदेवी का दिल का दौरा पड़ने से दुबई में निधन हो गया। 54 वर्षीय अभिनेत्री पारिवारिक समारोह में शामिल होने के लिए पति बोनी कपूर और बेटी खुशी के साथ वहां गई हुईं थी। श्रीदेवी के अचानक निधन की ख़बर से बॉलीवुड स्तब्ध है। 

श्रीदेवी का हुआ निधन
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी का दुबई में अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। वो दुबई अभिनेता मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने के लिए अपने पति बोनी कपूर और बेटी खुशी के साथ वहां गई थीं। बड़ी बेटी जाह्नवी इस शादी में नहीं जा सकीं, क्योंकि वो अपनी डेब्यू फिल्म ‘धड़क’ की शूटिंग कर रही थीं। 

श्रीदेवी को श्रद्धांजलि

सितारों ने ट्विटर के माध्यम से श्रीदेवी को श्रद्धांजलि देना शुरू कर दिया। 

प्रियंका चोपड़ा अपने ट्वीट में लिखती हैं कि मेरे पास शब्द नहीं हैं। श्रीदेवी को प्यार करने वाले हर शख्स के प्रति संवेदना। एक काला दिन। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। 

सिद्धार्थ मल्होत्रा लिखते हैं कि श्रीदेवी मैम के निधन की ख़बर सुनकर हैरान और परेशान हूं। 

राम गोपाल वर्मा ने तो अपने ट्वीट में भगवान को ही गाली देना शुरू कर दिया। उन्होंने लिखा कि भगवान से इतनी नफरत कभी नहीं हुई। बास्टर्ड हमारे सबसे चमकते सितारे को ले गया। 

वहीं ऋषि कपूर ने अपनी को-स्टार के लिए लिखा इस दुखद खबर के साथ सुबह उठा हूं। बेहद सदमे में हूं। बोनी और दोनों बेटियों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। 

वहीं फरहान अख्तर ने श्रीदेवी से अपनी पहली मुलाक़ात का जिक्र किया है। फरहान ने लिखा है कि उनकी पहली नौकरी फिल्म ‘लम्हे’ में थी और पहली बार श्रीदेवी को गाना ‘मेघा रे मेघा’ में सेट पर देखा था। मैंने इस लीजेंड्री एक्ट्रेस को स्क्रीन पर जादू चलाते हुए देखा है। ‘सदमा’ से ‘चालबाज़’, ‘मिस्टर इंडिया’ से ‘चांदनी’। जब भी वो स्क्रीन पर आती थी, उनसे नज़रे हटाना नामुमकिन था। सच्ची सितारा। गिफ्टेड एक्टर। जबरदस्त गरिमा वाली महिला। बहुत जल्दी चली गईं। दुखद दुखद दिन। 

श्रीदेवी की डेब्यू फिल्म थी ‘जूली’ 

13 अगस्त 1963 को तमिलनाडु में जन्मीं श्रीदेवी की पहली हिंदी फिल्म 'रानी मेरा नाम' थी। साल 1972 में आई इस फिल्म में अशोक कुमार और प्रेमनाथ मुख्य भूमिका में थे। उसके बाद साल 1973 में आई फिल्म 'भीमा मेरा हाथी' में नज़र आईं। इसके बाद वो साल 1975 में आई फिल्म ‘जूली’ में दिखाई दीं।

इन तीनों फिल्मों में ही वो बतौर बाल कलाकार ही दिखीं। लेकिन बतौर हिरोइन उनकी पहली फिल्म साल 1979 में आई 'सोलवां सावन' थी। उसके बाद कई फिल्मों में क़िस्मत आजमाई, लेकिन कामयाबी नहीं मिली।  

इसके बाद जितेंद्र से साथ साल 1983 में आई फिल्म ‘हिम्मतवाला’ से उन्होंने कामयाबी का जो स्वाद चखा, तो फिर आगे बढ़ती ही गईं। शादी के बाद उन्होंने करियर से लंबा ब्रेक लिया और फिर साल 2012 में आई फिल्म ‘इंग्लिश विंग्लिश’ से कमबैक किया। उनकी आखिरी फिल्म साल 2017 में आई फिल्म ‘मॉम’ रही। 

बोनी से रचाया ब्याह 

श्रीदेवी ने साल 1996 में निर्माता बोनी कपूर से शादी कर ली। हालांकि, बोनी की यह दूसरी शादी थी, जिसकी वजह से कई रिपोर्ट्स में उनको घर तोड़ने वाली कहा गया। ख़ैर, बोनी और श्रीदेवी के बीच प्यार के बीज साल 1987 में आई फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ दौरान पड़े थे।

संबंधित ख़बरें