सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बिक जाएगा राज कपूर का सपना ‘आर के’, पत्नी और बेटों ने ले लिया है निर्णय

फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ का गाना ‘इक दिन बिक जाएगा, माटी के मोल...’ याद आया न आपको। राज कपूर की फिल्म के इस गाने की तरह ही कुछ उनके ‘सपने’ के साथ होने वाला है। राज कपूर ने बड़ी मेहनत के साथ अपने सपनों के स्टूडियो ‘आर के फिल्म्स’ का निर्माण किया था, लेकिन अब इसे बेचने की तैयारियां शुरू हो गईं है। 

आर के स्टूडियो बिकने वाला है
मुंबई। राज कपूर ने जिस स्टूडियो को बड़ी मेहनत के साथ बनाया था। अब उनका परिवार उसकी देख-संभाल करने में असमर्थता के चलते उसे बेचने की तैयारियों में जुट गया है। 

चेंबूर में मौजूद इस स्टूडियो को तकरीबन 70 साल पहले राज कपूर ने बनाया था, लेकिन अब उनकी पत्नी कृष्णा राज कपूर अपने बेटे रणधीर कपूर, ऋषि कपूर और राज कपूर, बेटी रितु नंदा और रीमा जैन सबने मिलकर इसे बेचने का फैसला कर लिया है। 

अंग्रेजी डेली मुंबई मिरर की रिपोर्ट की माने, तो कपूर परिवार इस स्टूडियो को बेचने के लिए बिल्डर्स, डेवलपर्स और कॉर्पोरेट्स से लगातार कॉन्टैक्ट कर रहा है।

हालांकि, यह फैसला कपूर खानदान के लिए इतना भी आसान नहीं रहा। परिवार की तरफ से ऋषि कपूर ने कहा है, ‘एक वक्त हमने इस स्टूडियो को रेनोवेट कराया था, लेकिन हर बार ऐसा मुमकिन नहीं हो पाता कि सारी चीजें आपके हिसाब से ही हों। हम सभी इस बात से बेहद दुखी हैं’। 

ग़ौरतलब है कि साल 2017 के 16 सितंबर को दो एकड़ में बने इस स्टूडियो में आग लग गई थी, जिससे कुछ हिस्से बुरी तरह जल गए थे। 

वहीं कहा जा रहा है कि इस स्टूडियो को बेचने की एक वजह यह है, इस स्टूडियो की दूरी। इतनी दूरी के चलते कोई भी यहां शूटिंग के लिए नहीं आता। अंधेरी गोरेगांव में लोकेशन आसानी से मिल जाता है। 

बता दें कि इसी स्टूडियो में राज कपूर 90 फीसदी फिल्मों का निर्माण किया करते थे, लेकिन आज इसकी हालत ठीक नहीं है और अब ये बहुत जल्द किसी दूसरे की प्रॉपर्टी बनने वाला है।

वहीं इसके ख़रीदारों में कई लोगों के नाम सामने आ रहे हैं, लेकिन उनमें से शाहरुख खान का नाम ज्यादा उछाला जा रहा है। इसके अलावा सचिन जोशी भी इस स्टूडियो को खरीदने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

अब बोली लगी है, तो बिक तो जाएगा ही। जिस सपने को राज कपूर ने देखा और उसे साकार भी किया, लेकिन उनके जाने के बाद उस सपने के भी ध्वस्त होने का समय आ गया है।

संबंधित ख़बरें