इरफान खान का निधन, न्यूरोक्राइन ट्यूमर से थे ग्रसित

अभिनेता इरफान खान का बुधवार को निधन हो गया। वह लंबे समय से न्यूरोक्राइन ट्यूमर से ग्रसित थे। 54 वर्षीय इरफान खान मंगलवार को कोलोन इंफेक्शन की वजह से मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में एडमिट करवाया गया था। यहीं बुधवार को सुबह वो अपनी ज़िंदगी की जंग हार गये। 

Irrfan Khan passes away
बॉलीवुड अभिनेता इरफान खान नहीं रहे। 54 साल की उम्र में उनका मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में निधन हो गया। मंगलवार को 54 वर्षीय इरफान को तबियत बिगड़ने की वजह से अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उन्हें आईसीयू में रखा गया था।

इरफान खान के आधिकारिक प्रवक्ता ने तब जानकारी दी थी कि उनकी हालात स्थिर है और उन्हें कोलोन इन्फेक्शन के चलते अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। देर रात उनकी तबियत में सुधार का भी दावा करते हुए उनकी मृत्यु की आ रही ख़बरों को झूठा कहा गया था। 

बुधवार की सुबह इरफान के निधन की जानकारी दी गई। इरफान खान की मृत्यु की जानकारी देते हुए परिवार की ओर से आधिकारिक बयान जारी किया गया है, जो काफी भावुक कर देने वाला है।

बयान में कहा गया, ''मुझे भरोसा है, मैंने आत्मसमर्पण कर दिया है।' इरफान खान अक्सर इन शब्दों का प्रयोग किया करते थे। साल 2018 में कैंसर से लड़ते समय भी इरफान ने अपने नोट में ये बात कही थी। इरफान खान बेहद कम शब्दों में अपनी बात कहा करते थे और बात करने के लिए आंखों का ज्यादा इस्तेमाल करते थे।''

हाल ही में इरफान खान की मां सईदा बेगम का निधन हुआ था। हालांकि, कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के चलते वो अपनी मां के अंतिम दर्शन तक नहीं कर सके थे। इरफान खान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अपनी मां को अंतिम विदाई थी।

इरफान खान ने साल 2018 में अपनी बीमारी के बारे में खुद खुलासा किया था। उन्होंने फैंस के साथ बेहद इमोशनल नोट शेयर किया, 'अप्रत्याशित चीज़ें हमें आगे बढ़ाती हैं। मेरे पिछले कुछ दिन ऐसे ही रहें हैं। मुझे पता चला है कि एंडोक्राइन ट्यूमर है। इससे गुजरना काफी मुश्किल है, लेकिन मेरे आस पास लोगों का जो प्यार और साथ है उससे मुझे उम्मीद है। इसके लिए मुझे देश से बाहर जाना पड़ेगा। मैं सबसे गुजारिश करूंगा कि मुझे अपनी दुआओं में शामिल रखें। जैसी कि अफवाहें थीं मैं बताना चाहूंगा कि न्यूरो का मतलब हमेशा सिर्फ दिमाग से नहीं होता। आप गूगल के जरिये इसके बारे में रिसर्च कर सकते हैं।'

पद्मश्री इरफान खान

हिन्दी फिल्म जगत में अपने योगदान के लिए इरफान खान को कई बड़े पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें साल 2011 में पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा साल 2012 में उन्हें फिल्म पान सिंह तोमर के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिल चुका है। साल 2004 में बेस्ट एक्टर फॉर निगेटिव रोल के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड दिया गया था। इसके अलावा साल 2008 में बेस्ट एक्टर इन सपोर्टिंग रोल का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला था।

शूजित सरकार का 'दोस्त'

शूजित सरकार ने इरफान के लिए ट्वीट लिखा, 'मेरा प्यारा दोस्त इरफान। तुम लड़े और लड़े और लड़े। मुझे तुम पर हमेशा गर्व रहेगा। हम दोबारा मिलेंगे। सुतापा और बाबिल को मेरी संवेदनाएं। तुमने भी लड़ाई लड़ी। सुतापा इस लड़ाई में जो तुम दे सकती थीं तुमने सब दिया। ओम शांति। इरफान खान को सलाम।

अमिताभ बच्चन का ट्वीट

अमिताभ बच्चन ने इरफान के निधन की जानकारी मिलते ही अपने ट्वीट में लिखा, 'इरफान खान के निधन की खबर मिल रही है। यह एक परेशान करने वाली और दुखद खबर है। अविश्वसनीय प्रतिभा .. महान सहयोगी .. सिनेमा की दुनिया के लिए एक शानदार योगदानकर्ता.. हमें बहुत जल्द छोड़ दिया।'

बॉलीवुड के बेहत प्रतिभाशाली अभिनेताओं में से एक का यूं अचानक से चले जाने की ख़बर से फिल्मी दुनिया सदमे में है। दो साल पहले मार्च 2018 में इरफान को न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर नामक बीमारी का पता चला था।

इरफान लंदन में इस बीमारी का इलाज कराकर ठीक हो गए थे। भारत लौटने के बाद इरफान खान की फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' आई, जो इरफान की आखिरी फिल्म साबित हुई। 

बता दें कि इरफान खान ने अपनी करियर की शुरुआत टेलिविजन से की थी, जिसके बाद वह फिल्मों में आये। 'हासिल', 'हैदर', 'पान सिंह तोमर', 'हिन्दी मीडियम' सरीखी फिल्में दी। बॉलीवुड के साथ इरफान ने हॉलीवुड में भी काफी काम किया। उन्होंने 'ए माइटी हार्ट', 'स्लमडॉग मिलियनेयर' और 'द अमेजिंग स्पाइडर मैन' सरीखी फिल्मों में काम किया है। 

इरफान खान का जन्म 7 जनवरी 1967 में जयपुर के एक मुस्लिम पठान परिवार में हुआ था। उनका पूरा नाम साहबजादे इरफान अली खान है। उनके पिता टायर का कारोबार करते थे। इरफान ने राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय यानी एनएसडी से अभिनय में प्रशिक्षण प्राप्त किया है। 23 फरवरी 1995 को इरफान ने सुतपा सिकदर से शादी की। सुतपा भी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से सम्बन्ध रखती हैं।

टिप्पणियां