'गुलाबो सिताबो' पर लगा चोरी का आरोप, शूजित सरकार ने तोड़ी चुप्पी

अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुरानी की अपकमिंग फिल्म 'गुलाबो सिताबो' कानूनी पचड़े में फंसती दिख रही है। फिल्म की कहानी पर चोरी का इल्ज़ाम लगाया गया है और मेकर्स को लीगल नोटिस भी भेजा गया है। वहीं इन आरोपों की सफाई में राइटर जूही चतुर्वेदी ने स्टेटमेंट जारी किया है और निर्देशक शूजित सरकार ने सफाई देते हुए कहा है कि सिर्फ ट्रेलर से फिल्म की काहनी का अंदाज़ा नहीं लगाया जा सकता। 

gulabo sitabo legal trouble accused plagiarism
अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की मोस्ट अवेटेड फिल्म 'गुलाबो सिताबो' 12 जून को अमेजन प्राइम वीडियो पर डायरेक्ट रिलीज़ हो रही है। इस फिल्म को ऑडियंस को बेसब्री से इंतज़ार है। 

इसी बीच इस फिल्म के कानूनी पचड़े में फंसने की खबरें आ रही हैं। दरअसल, इस फिल्म की राइटर जूही चतुर्वेदी पर फिल्म की स्क्रिप्ट के चोरी के आरोप लगे हैं। 

एडवोकेट रिजवान सिद्दीकी ने दावा किया है कि फिल्म 'गुलाबों सिताबो' की स्क्रिप्ट उनके क्लाइंट स्वर्गीय राजीव अग्रवाल ने लिखी थी और जूही चतुर्वेदी ने इस स्क्रिप्ट को चुराया है।

राजीव अग्रवाल का देहांत हो चुका है, जिसके चलते उनके बेटे आकीरा ने लीगल नोटिस भेज कर फिल्म की स्क्रिप्ट दिखाने की मांग की है। 

एडवोकेट रिजवान सिद्दीकी ने अकीरा की तरफ से यह ये नोटिस फिल्म निर्देशक शूजित सरकार और निर्माता अरिजीत ध्रुव लहरी और राइटर जूही चतुर्वेदी को भेजा है। इस नोटिस में साफतौर पर स्क्रिप्ट चोरी की बात कही गई है और साथ में फिल्म की स्क्रिप्ट को दिखाने की मांग रखी गई है। 

रिजवान के मुताबिक उनके क्लाइंट के पिता राजीव अग्रवाल ने स्क्रीन राइटर असोसिशन की एक स्क्रिप्ट राइटिंग प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था, जिसकी जज राइटर जूही चतुर्वेदी थीं।

इसलिए अकीरा का दावा है कि स्क्रीन राइटर असोसिशन को इस स्क्रिप्ट के बारे में जानकारी थी और जूही ने इस प्रतियोगिता के दौरान ही स्क्रिप्ट चोरी की है। 

अपने पिता द्वारा लिखी स्क्रिप्ट पर फिल्म बनाने का दावा करने वाले अकीरा ने बीते शुक्रवार को इस मामले यानी स्क्रिप्ट चोरी की शिकायत मुंबई के जुहू पुलिस स्टेशन में भी की है।

वहीं इस मामले पर फिल्म के निर्देशक शूजित सरकार ने जवाब देते हुए बताया, 'जूही ने फिल्म का कॉन्सेप्ट साल 2018 में ही रजिस्टर्ड करा लिया था। जूही की स्क्रिप्ट प्रतियोगिता से बहुत पहले रजिस्टर्ड हो चुकी थी। इसके अलावा, जूही को कभी भी कथित रूप से कॉपी की गई स्क्रिप्ट की प्रति नहीं मिली। इस बात का कन्फरमेशन स्क्रिप्ट लेखन प्रतियोगिता के आयोजकों द्वारा किया गया है। हमारी फिल्म की कहानी अलग है, जो नोटिस में भेजी गई कहानी है, वो अलग है। वहीं सिर्फ 2 मिनट 41 सेकंड के ट्रेलर के आधार पर गंभीर आरोप लगाने की बात वाकई अचरज में डालती है।'

शूजित ने आगे कहा, '29 मई को, जूही के पक्ष में SWA ने फैसला सुनाया। जाहिर है कि अभियुक्त परेशान हैं क्योंकि SWA निर्णय उनके पक्ष में नहीं गया। प्रेस को नोटिस जारी करना। सोशल मीडिया पर हमें परेशान करना। जूही को बदनाम करने और फिल्म को नुकसान पहुंचाने की कोशिश है। हमें अपनी फिल्म पर पूरा भरोसा है। इस समय, जब हमने ओटीटी पर फिल्म रिलीज करने का साहसिक फैसला लिया है, तो ये बेबुनियाद आरोप केवल अनावश्यक विवाद पैदा करते हैं।'

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां