फरहान अख़्तर विंग कमांडर राकेश शर्मा बन कर कहेंगे 'सारे जहां से अच्छा'



फरहान अख़्तर स्क्रीन पर विंग कमांडर राकेश शर्मा की भूमिका निभाते नज़र आने वाले हैं। राकेश शर्मा की बायोपिक को लेकर अरसे से चर्चा तेज हैं और इस बायोपिक के लिए आमिर खान, शाहरुख खान, सुशांत सिंह राजपूत, विक्की कौशल और रणबीर कपूर सरीखे कलाकारों के नामों ने खूब सुर्खियां बटोरी। इनमें से कुछ के साथ तो निर्देशक महेश मथाई ने तैयारियां भी शुरू कर दी थी। फिलहाल ताजा जानकारी यह है कि फरहान अख़्तर अब विंग कमांडर राकेश शर्मा की भूमिाक निभाने जा रहे हैं। 

Farhan akhtar playing lead in rakesh sharma biopic
अंतरिक्ष में तिरंगे की शान बढ़ाने वाले विंग कमांडर राकेश शर्मा की बायोपिक को लेकर एक फिर से चर्चा का बाजार गर्म है। इस बार इस बायोग्राफिकल ड्रामा के लिए निर्माता, निर्देशक और अभिनेता फरहान अख़्तर का नाम सुर्खियां बटोर रहा है। 

ख़बरें हैं कि फरहान, राकेश शर्मा की बायोपिक में मुख्य भूमिका निभाने जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार इस फिल्म के निर्माता फरहान की फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' में की गई मेहनत से काफी इंस्प्रेस्ड हैं और उनका मानना है कि मिल्खा सिंह जैसे कठिन किरदार को निभाने के लिए फरहान जब इतनी मेहनत कर सकते हैं, तो राकेश शर्मा के किरदार के लिए भी वही बेहतर रहेंगे।

बता दें राकेश शर्मा की बायोपिक की चर्चा साल 2018 से शुरू है। सबसे पहले ख़बरें आई थीं कि इस फिल्म को बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहे जाने वाले अभिनेता आमिर खान इस फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने जा रहे हैं। बाद में अपने ड्रीम प्रोजेक्ट 'महाभारत' की वजह से उन्होंने इस फिल्म को करने से मना कर दिया। 

आमिर के बाद यह फिल्म शाहरुख खान के पास पहुंची। रिपोर्ट्स में कहा गया था कि शाहरुख खान ने इस फिल्म के निर्देशक महेश मथाई के साथ मिलकर सारी तैयारियां शुरू कर दी थीं और फिल्म की शूटिंग के लिए रूस में जगह भी लॉक हो गई थीं और साल 2019 में शूटिंग शुरू ही होने वाली थी। फिर फिल्म 'जीरो' के फ्लॉप होने के कारण उनका मन खट्टा हो गया। इसके बाद अंतरिक्ष पर आधारित कोई भी फिल्म करने से तब मना कर दिया। 

इसके बाद अफवाहें सलमान खान के नाम की भी रहीं, लेकिन बातें सफल नहीं हो सकीं। पिछले साल इस फिल्म के लिए रणबीर कपूर और विकी कौशल का भी नाम खूब चर्चाओं में रहा। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स तो ये भी बताती हैं कि महेश ने राकेश शर्मा के किरदार के लिए दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत से भी बात की थी। हालांकि, उन्होंने इस किरदार को निभाने से मना कर दिया था। 

वहीं अब ख़बरें हैं कि फरहान इस फिल्म को लेकर काफी उत्साहित हैं। वह जल्दी से जल्दी अपने पुराने कामों को खत्म करके इस फिल्म का काम शुरू करेंगे। इसके लिए उन्हें थोड़ी बहुत शारीरिक मेहनत और एक अंतरिक्ष यात्री की बारीकियां समझने की जरूरत होगी।

जानकारी के अनुसार फिल्म के मेकर्स का मानना है कि फरहान और राकेश की लंबाई और शारीरिक बनावट भी काफी मेल खाती है। स्क्रीनप्ले तकरीबन तैयार है। वहीं लीड एक्टर के फाइनल होने के बाद अब इस फिल्म में बाकी कलाकारों का चुनाव और शूटिंग की तारीखें तय करना बाकी है। 

इस फिल्म में राकेश शर्मा की शुरू से लेकर अंतरिक्ष से लौटने तक की लाइफ जर्नी को दिखाया जाएगा। राकेश ने अंतरिक्ष में सात दिन 21 घंटे और 40 मिनट, दो सोवियत संघ के अंतरिक्ष यात्रियों के साथ बिताए थे। इनके वापस लौटने पर मॉस्को और भारत में लाइव न्यूज कॉन्फ्रेंस का भी आयोजन किया गया था।

सारे जहां से अच्छा

इस फिल्म का नाम 'सारे जहां से अच्छा' रखने के पीछे भी काफी रोचक किस्सा है। दरअसल, जब साल 1984 में विगं कमांडर राकेश शर्मा अंतरिक्ष में गए, तब भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी थीं। अंतरिक्ष से राकेश शर्मा ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से बात की। जब इंदिरा ने पूछा, 'अंतरिक्ष से भारत कैसा दिखता है?' इसके जवाब में राकेश ने कहा था, 'सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा'। 

इस वजह से महेश मथाई ने अपनी फिल्म का शीर्षक भी यही सोचा है। सोवियत संघ की तरफ से राकेश को सोवियत संघ का हीरो की उपाधि मिली थी। इसके अलावा दोनों सोवियत अंतरिक्ष यात्रियों समेत राकेश को भारत के सबसे बड़े पीसटाइम गैलंट्री अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। महेश मथाई तमाम विज्ञापन फिल्में बना चुके हैं। साल 1999 में आई फिल्म 'भोपाल एक्सप्रेस' के बाद यह उनकी दूसरी हिंदी फिल्म होगी।

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां