विद्या बालन अपनी फिल्मों की 'हीरो' रही हैं, हर किरदार अलग और दमदार



विद्या बालन अपनी फिल्मों में दमदार और अलहदा किरदार निभाने के लिए जानी जाती हैं। तभी तो वो अपनी फिल्मों में 'हीरो' होती हैं। हाल ही में फिल्म 'शकुंतला देवी' का ट्रेलर जारी किया गया, जिसमें वो एक सीन में कहती हैं, 'जब अमेज़िंग हो सकती हूं, तो नॉर्मल क्यों बनूं...' उनका यह एक डायलॉग ही उनको डिस्क्राइब कर देता है। विद्या की फिल्मोग्राफी देखेंगे, तो पाएंगे कि वो अपनी फिल्मों की 'हीरो' रही हैं। 

Vidya Balan in 'Shakuntala Devi', vidya balan always been a hero in her films
'जब अमेज़िंग हो सकती हूं, तो नॉर्मल क्यों बनूं'...होने को तो यह फिल्म 'शकुंतला देवी' का डायलॉग है, जिसे हाल ही में जारी हुए ट्रेलर में सुनने को मिला, लेकिन गौर करेंगे, तो पाएंगे कि इस एक डायलॉग में विद्या बालन को डिस्क्राइब किया गया है। 

यक़ीन न हो, तो उनकी फिल्मोग्राफी उठाकर देख लीजिए, वो अपनी फिल्मों की 'हीरो' यानी 'नायक' होती हैं। विद्या बालन ही वो अदाकारा हैं, जिन्होंने बॉक्स ऑफिस को बताया है कि सिर्फ मेल एक्टर्स ही नहीं बल्कि एक्ट्रेस भी फिल्म को सफल करवा सकती हैं। एक्ट्रेस को सिर्फ 'शोपीस' नहीं, बल्कि सशक्त अदाकारा के रूप में देखने वाली नज़र ऑडियंस को दी है। 

हाल ही में विद्या की अगली फिल्म 'शकुंतला देवी' का ट्रेलर जारी किया गया। इस बायोग्राफिकल ड्रामा में वो गणितज्ञ शकुंतला देवी की भूमिका निभा रही है। अमेज़न प्राइम वीडियो पर यह फिल्म 31 जुलाई 2020 को रिलीज़ होगी। 

'शकुंतला देवी' का निर्देशन अनु मेनन ने किया है। राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार प्राप्‍त कर चुकीं अभिनेत्री विद्या बालन दुनिया भर में मशहूर भारतीय मैथेमैटिक्‍स जीनियस की भूमिका निभा रही हैं, जो 'ह्यूमन कंप्‍यूटर' के रूप में मशहूर हैं। 
वैसे यह पहली बार नहीं है, जब विद्या कुछ अलग हटकर किरदार निभाने जा रही हैं। इससे पहले भी उन्होंने कुछ ऐसे किरदार निभाए हैं, जिनकी फैंस जमकर सराहना करते हैं। 

विद्या बालन अपनी फिल्मों की 'हीरो' रही हैं। उनकी महिला प्रधान फिल्मों की बॉक्स ऑफिस सफलता ने फिल्म इंडस्ट्री की इस सोच में बदलाव किया। 

अभिषेक चौबे की फिल्म 'इश्किया' में भी विद्या ने कमाल का काम किया था। उनका किरदार देखने में बेहद अच्छा था और उन्होंने उसे बेहतरीन तरीके से निभाया था। वैसे ही फिल्म 'नो वन किल्ड जेसिका' में विद्या ने सबरीना के किरदार को विश्वसनीय तरीके से निभाया था, उन्होंने कम संवाद बोले थे पर अपने चेहरे के भावों से असहायता, दर्द, और आक्रोश को व्यक्त किया था।

फिल्म 'कहानी' को सुजोय घोश द्वारा निर्देशित किया गया था, जिसमें अभिनेत्री विद्या बालन ने मुख्य किरदार निभाया था । फिल्म की कहानी प्रेग्नेंट विद्या बागची के ऊपर आधारित है, जिसमें वह अपने पति की तलाश में इधर-उधर भटकती है । इस फिल्म का किरदार इतना असरदार था कि हर कोई विद्या का प्रेग्नेंट अवतार मानो सच लग रहा था । विद्या बालन की बेहतरीन अदाकारी ने फिल्म की 'कहानी' को और अच्छे से पर्दे पर उतारने में मदद की जिस से फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट रही थी|

फिल्म 'डर्टी पिक्चर' में विद्या बालन ने सिल्क स्मिता का किरदार निभाकर अपनी उम्दा अभिनय से लोगों का दिल जीत लिया था। यह किरदार विद्या बालन का अब तक का सबसे बोल्ड किरदार था, जिसे विद्या ने बहुत ही खूबसूरती से निभाया था , फिल्म में तीन तीन हीरो होने के बावजूद विद्या ही फिल्म की हीरो थी ।

विद्या बालन ने फिल्म 'तुम्हारी सुलू' में एक आरजे का रोल निभाया था। एक मिडिल क्लास हाउसवाइफ कैसे अपने सपनों को पूरा करने के लिए आरजे बन जाती है। इसमें दिखाया गया कि महिलाओं को अपने सपनों को पूरा करने के लिए किन-किन परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है। यह किरादर भी विद्या बालन का एक हीरो वाला किरदार है ।

फिल्म 'डर्टी पिक्चर' और 'कहानी' के बाद विद्या बालन को मीडिया के तरफ से 'शीरो' बुलाय जाने लगा, जो कि किसी भी एक्टर के लिए बहुत मायने रखता है।

विद्या बालन ने अपनी हर फिल्म में हीरो साबित हुई हैं। अब वे भारतीय मैथेमैटिक्‍स जीनियस की भूमिका में दिखाई देंगी, जो 'ह्यूमन कंप्‍यूटर' के रूप में मशहूर हैं।


टिप्पणियां