भूमि पेडनेकर ने अपने 'सरनेम' को लेकर किया खुलासा

भूमि पेडनेकर ने अपने सरनेम को लेकर एक खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि उनके सरनेम के पीछे गोवा में मौजूद 400 साल पुराना उनका कुल देवी का मंदिर है। इस मंदिर के दर्शन के लिए हाल ही में भूमि गोवा पहुंची थीं और इसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया पर दी है। 

Bhumi Pednekar at her Kuldevi temple in goa ''Pedne' village

भूमि पेडनेकर की अगली फिल्म 'डॉली किट्टी और वो चमकते सितारे' कुछ ही दिनों में रिलीज़ होने वाला है। हाल ही में इसका ट्रेलर जारी किया गया। 

अलंकृता श्रीवास्तव के निर्देशन में बनी इस फिल्म में भूमि के साथ कोंकणा सेन शर्मा भी मुख्य भूमिका में हैं। 
ऐसे में हाल ही में भूमि पेडनेकर अपने परिवार के साथ गोवा पहुंची हुई हैं। गोवा में परिवार के साथ उन्होंने अपनी कुलदेवी के दर्शन किए। 

गोवा के 'पेडने' गांव से भूमि का ताल्लुक है और यही उनके सरनेम में भी आपको देखने को मिलता है। अपने कुलदेवी में मौजूद भगवानों के दर्शन किए और उनके नाम भी बताए। इसी मंदिर के परिसर के पास ही उनका पुश्तैनी घर है।

तस्वीरों और वीडियो को शेयर करते हुए भूमि ने लिखा, 'हमारे गांव में तीर्थस्थल को 'पेडने' कहते हैं। यह तीर्थ स्थान तीन मंदिरों को मिलाकर बना है। माउली देवी मंदिर, भगवती देवी मंदिर और रावल नाथ मंदिर। ये मंदिर 300 से 400 साल पुराने हैं। रावल नाथ मंदिर की किताबों में पेडनेकर्स का जो सबसे पुराना जिक्र मिलता है, वह 1902 का है।'

वो आगे लिखती हैं, 'मंदिर कहानियों से भरा हुआ है। यहां पानी की औषधीय धाराएं हैं और स्वस्थ करने वाली और ऊर्जा देने वाली हैं। यहां पर जब भी आते हैं तो कुछ सीखने को मिलता है। सांस्कृतिक नजरिये से भरी-पूरी अपनी वंशावली के लिए मैं शुक्रगुजार हूं।'

टिप्पणियां