BMC लेकर आया बाबर का बुलडोज़र, कंगना रनौत ने कहा, 'फिर बनेगा यह राम मंदिर'

कंगना रनौत के मणिकार्णिका फिल्म्स के दफ्तर पर बीएमसी ने बुलडोज़र से जमकर तोड़फोड़ की। इसके बाद कंगना ने सोशल मीडिया पर जमकर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि दुश्मनों ने साबित किया की पीओके कहकर गलती नहीं की। वहीं कंगना ने दहाड़ते हुए यह भी कहा कि मणिकर्णिका फिल्म्स में पहली फिल्म 'अयोध्या' की घोषणा हुई। यह मेरे लिए एक इमारत नहीं राम मंदिर ही है। आज वहां बाबर आया है। आज इतिहास फिर खुद को दोहराएगा राम मंदिर फिर टूटेगा, मगर याद रख बाबर यह मंदिर फिर बनेगा, यह मंदिर फिर बनेगा।

Kangana Ranaut

कंगना रनौत और संजय राउत के बीच शुरू हुआ विवाद एक नए मोड़ पर आ गया है। कंगना के मणिकार्णिका फिल्म्स के दफ्तर में बीएमसी के बुलडोज़रों ने जमकर तोड़फोड़ की है।

बता दें इसके पहले ही बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) ने उनके मुंबई स्थित ऑफिस में अवैध निर्माण को लेकर 24 घंटे में दूसरा नोटिस भेजा। इसके कुछ देर बाद ही बीएमसी की एक टीम बुलडोजर, क्रेन और हथौड़े लेकर पहुंच गई और ऑफिस में तोड़फोड़ की। टीम ने कार्रवाई 10.30 बजे से 12.40 तक की। कंगना का यह ऑफिस बांद्रा के पाली हिल में है।

इस पर कंगना रनौत ने प्रतिक्रिया देते हुए बीएमसी की तुलना बाबर की सेना से की है और अपने ऑफिस को राम मंदिर बताया है।

कंगना ने ट्वीट कर कहा, 'मणिकर्णिका फिल्म्स में पहली फिल्म 'अयोध्या' की घोषणा हुई। यह मेरे लिए एक इमारत नहीं राम मंदिर ही है। आज वहां बाबर आया है। आज इतिहास फिर खुद को दोहराएगा राम मंदिर फिर टूटेगा, मगर याद रख बाबर यह मंदिर फिर बनेगा यह मंदिर फिर बनेगा। जय श्री राम , जय श्री राम , जय श्री राम।'

इसके बाद कंगना ने एक और ट्वीट किया, 'मैं मुंबई दर्शन के लिए तैयार हूं। महाराष्ट्र सरकार और उनके गुंडे मेरी संपत्ति को गैरकानूनी रूप से तोड़ा जा रहा है। जारी रखें। मैंने महाराष्ट्र गौरव के लिए रक्त देने का वादा किया था। यह सब कुछ नहीं है, लेकिन मेरी भावना केवल उच्च और उच्चतर होगी।'

वकील को लेकर कंगना ने कहा, 'मैं जानती हूं रिजवान सिद्दीकी जी और मेरी आइडियोलॉजीज़ नहीं मिलती। मेरा स्नेह और विश्वास पाने केलिए उनका मेरे जैसा होना ज़रूरी नहीं, मुझे सिर्फ अपने काम के प्रति उनकी निष्ठा चाहिए, जो उनमें कूट कूट के भरी है। हमारा धर्म और संस्कृति दूसरों के विचारों का सम्मान करना सीखाती है।'

बीएमसी ने क्या कहा

वहीं बीएमसी ने कहा, 'नोटिस मिलने के बाद भी आपने काम जारी रखा। इसलिए नोटिस के मुताबिक, फौरन तोड़फोड़ कर रहे हैं। इसके लिए आप खुद जिम्मेदार हैं। यह काम आपके खर्च पर ही किया जाएगा।'

ट्विटर पर ट्रेंड हुआ हैशटैग 'डेथ ऑफ डेमोक्रेसी'

कंगना के ऑफिस में अवैध निर्माण को लेकर बीएमसी कार्रवाई के बाद ट्विटर पर हैशटैग 'डेथ ऑफ डेमोक्रेसी' ट्रेंड किया। वहीं, हैशटैग 'कंगना रनौत' पर लोगों ने धड़ाधड़ ट्वीट करना शुरू कर दिया।

कंगना कार से चंडीगढ़ पहुंची

कंगना सड़क के रास्ते मंडी (हिमाचल प्रदेश) से चंडीगढ़ पहुंची थीं। चंडीगढ़ पहुंचते ही लोगों ने 'झांसी की रानी' की आवाज़ लगानी शुरू कर दी। चंडीगढ़ से दिल्ली और दिल्ली से मुंबई फ्लाइट से आईं। केंद्र ने उन्हें Y कैटेगरी की सुरक्षा दी है, इस दौरान 11 सुरक्षाकर्मी हमेशा उनके साथ रहेंगे। इस बीच, मुंबई करणी सेना और रामदास अठावले की पार्टी आरपीआई ने भी उन्हें प्रोटेक्शन देने का ऐलान किया है। कंगना के मुंबई पहुंचते ही शिवसेना समेत कई अन्य पार्टियों की ओर से विरोध तय माना जा रहा है।

'सामना' में फिर अपशब्द 'हरामखोरी'

शिवसेना ने मुखपत्र 'सामना' में लिखा, 'राजनीतिक एजेंडे को सामने लाने के लिए देशद्रोही पत्रकार और सुपारीबाज कलाकारों के राजद्रोह का समर्थन करना भी 'हरामखोरी' ही है।'

कोर्ट में सुनवाई शुरू

बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ कंगना रनौत की बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई शुरू हो गई है।

संबंधित खबरें

टिप्पणियां