SSR Death Case: सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए साथ आएंगे 150 देश, #Flag4SSR

सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त नीलोत्पल मृणाल ने बताया कि सुशांत के लिए 150 देश मिल कर #Flag4SSR की मुहीम के जरिये सुशांत के लिए न्याय मांगेगें। इसके अलावा मृणाल ने रिया चक्रवर्ती पर भी निशाना साधते हुए कहा कि रिया और उनका परिवार नारको में लिप्त है और उनका परिवार सुशांत की हत्या की साजिश रच रहे थे। पाब्लो एस्कोबार बनना आसान नहीं है। 

Flags4SSR Digital Camoaign for Sushant Singh Rajput
सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त नीलोत्पल मृणाल लंबे समय से अपने दोस्त के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं। अपने सोशल मीडिया हैंडल से नीलोत्पल ने जानकारी दी है कि अब एक या दो देश नहीं, बल्कि पूरे 150 देश मिलकर सुशांत सिंह राजपूत के लिए न्याय की मांग करने वाले हैं। 

इसके अलावा नीलोत्पल ने उन लोगों पर भी निशाना साथा, जो सुशांत की रहस्यमयी मृत्यु को छोटा मुद्दा बता रहे हैं। 

अपने ट्वीट में वो लिखते हैं, 'जो लोग सुशांत मर्डर को छोटा मुद्दा बता रहे थे, उन्हें मैं बता दूं कि अब पूरी दुनिया की निगाह इस बात पर है कि सुशांत को न्याय मिलेगा या नहीं। कहीं ना कहीं उन्हें सुशांत में अपना बच्चा दिख रहा है। ये बहुत जरूरी हो गया है कि असली कातिल को पकड़ा जाए और उसे सजा दी जाए।'



वहीं अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा, 'दो हफ्ते बाद #Flag4SSR मुहिम के तहत कुल 150 देश एक साथ अपनी आवाज उठाने वाले है।'


इसके बाद नीलोत्पल ने रिया चक्रवर्ती पर भी निशाना साधते हुए ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में वो लिखते हैं, 'ये देखना बहुत गंदा है कि कैसे ताई और उसका परिवार साल 2017 से ही नारको में लिप्त है और उनके चैट से खुलासा हुआ है कि कैसे वो सुशांत के मर्डर की प्लानिंग कर रहे थे और उसे डिप्रेशन थ्योरी तक ही बांधना चाहते थे, लेकिन उन सभी का प्लान चौपट हो चुका है। बहुत सारे चैट और नारको कनेक्शन है। पाब्लो एस्कोबार बनना आसान नही है।' 

#Flag4SSR में करना क्या होगा?

#Flag4SSR हैशटैग के साथ 14 सितंबर को आप जिस देश में रहते हैं, उस देश के झंडे के साथ आपको अपनी एक तस्वीर पोस्ट करनी है। यदि आप अपनी तस्वीर नहीं पोस्ट करना चाहते हैं, तो फिर सुशांत सिंह राजपूत की तस्वीर को इसी तरह फ्लैग के साथ तस्वीर पोस्ट कर सकते हैं।

इस डिजिटल मुहीम के लिए 14 सितंबर इसलिए चुना गया, क्योंकि 14 सितंबर को सुशांत के निधन को तीन महीना यानी 90 दिन हो जाएंगे। ऐसे में उनको न्याय दिलाने के लिए यह मुहीम की जा रही है।

सुशांत केस की बात करें, तो नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने सुशांत सिंह राजपूत निधन केस से जुड़े ड्रग एंगल के तहत पहली गिरफ्तारी कर ली है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार हुए ड्रग पेडलर ने साफ तौर पर ये बात स्वीकार की है कि वो शौविक चक्रवर्ती (रिया चक्रवर्ती का भाई) को ड्रग्स की सप्लाई करता था।

टिप्पणियां