SSR Death Case: सुशांत डेथ केस में मर्डर चार्ज जोड़ सकती है CBI

सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के मामले की जांच कर रही सीबीआई इस केस में आईपीसी की धारा 302 यानी मर्डर चार्ज को जोड़ने पर विचार कर रही है। एम्स की टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट सबमिट कर दी है, जिसके बाद सीबीआई केस के दूसरे चरण की जांच शुरू करने वाली है। इसके अलावा सुशांत के मैनेजर रहे सिद्धार्थ पिठानी और कुक नीरज सिंह के भी सरकारी गवाह बनने की संभावना है।

Sushant Singh Rajput Death Case Murder Charge

सुशांत सिंह राजपूत के संदिग्ध मृत्यु की जांच कर रही सीबीआई अब इस केस में मर्डर चार्ज जोड़ सकती है। मुंबई पुलिस ने इसे आत्महत्या करार दे दिया था, तो वहीं सुशांत का परिवार और फैन्स इसे हत्या मान कर निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे थे।

वहीं मिल रही मीडिया रिपोर्ट्स की माने, तो सीबीआई अब इस केस में आईपीसी की धारा 302 यानी मर्डर चार्ज को जोड़ने पर विचार कर रही है।

अभी कुछ दिन पहले ही एम्स की टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट सबमिट किया है, जिसके बाद सीबीआई केस के दूसरे चरण की जांच शुरू करने वाली है। इसके अलावा सुशांत के मैनेजर रहे सिद्धार्थ पिठानी और कुक नीरज सिंह के भी सरकारी गवाह बनने की संभावना है।

एम्स की टीम के कूपर अस्पताल से सवाल

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत की मौत का समय नहीं लिखा गया है।

सुशांत का पोस्टमॉर्टम शाम के समय और धीमी रोशनी में किया गया।

उनके विसरा रिपोर्ट में ड्रग्स की जांच से जुड़ा कोई तथ्य नहीं है।

वहीं इससे पहले यह खबर भी सामने आई थी कि विसरा को सही तरीके से सुरक्षित नहीं किया था, जिसके कारण एम्स की टीम को जांच में परेशानी आई।

मृत्यु से पहले हुई थी रिया-सुशांत की मुलाकात

वहीं इस मामले में नया खुलासा हुआ है। एक चश्मदीद का दावा किया है कि सुशांत की मौत से ठीक एक दिन पहले यानी 13 जून को रिया उनसे मिली थीं। विवेकानंद गुप्ता नाम के एक शख्स ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि चश्मदीद ने उनसे कहा कि रिया 13 जून की रात करीब 2 से 3 बजे के आस-पास सुशांत से मिली थी। बाद में सुशांत उसे घर छोड़ने भी गए थे। ऐसे में रिया का यह कहना कि उसने सुशांत का घर 8 जून को छोड़ दिया था, पूरी तरह झूठ है।

आगे कहा कि इस बात की पक्की जानकारी भी सिद्धार्थ पिठानी के ही पास है, क्योंकि सुशांत की मौत से एक दिन पहले उनके घर आने वाले लोगों के बारे में सिद्धार्थ पिठानी ही जानता है।

नीरज-पिठानी बन सकते हैं सरकारी गवाह

एक रिपोर्ट के अनुसार सिद्धार्थ पिठानी सीबीआई के अधिकारियों की निगरानी में है। अधिकारियों का कहना है कि वह गवाह बन सकता है। उससे कई बार पूछताछ और बयान रिकॉर्ड किया जा चुका है। अगली पूछताछ के लिए वह दिल्ली जा सकता है। सिद्धार्थ के अलावा कुक नीरज सिंह भी गवाह बन सकता है।

संबंधित खबरें
SSR Death Case: सुशांत के विसरा में एम्स को नहीं मिला ज़हर

टिप्पणियां