आर माधवन को मिली डी लिट की उपाधि

आर माधवन को कला और सिनेमा में योगदान के लिए डॉक्टर ऑफ लैटर्स यानी डी लिट की उपाधि से नवाज़ा गया। यह सम्मान उन्हें कोल्हापुर की डीवाई पाटिल एजुकेशन सोसाइटी के 9वें दीक्षांत समारोह में दिया गया।आर माधवन ने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिये यह जानकारी दी।

R-Madhvan-honored-by-d-litt-degree-for-his-contribution-to-arts-and-cinema

अभिनेता आर माधवन को डॉक्टर ऑफ लैटर्स यानी डी लिट की उपाधि से नवाजा गया। यह सम्मान उन्हें कोल्हापुर की डीवाई पाटिल एजुकेशन सोसाइटी ने दिया। बुधवार को सोसाइटी का 9वां दीक्षांत समारोह हुआ, जिसमें आर माधवन शामिल हुए।

डी लिट से सम्मानित होने की जानकारी आर माधवन ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिये दी।

वहीं डीवाई पाटिल एजुकेशन सोसाइटी के ट्रस्टी रुतुराज पाटिल ने भी पोस्ट किया था।

माधनव ने इस बारे में बात करते हुए, 'मैं वास्तव में इस सम्मान से स्तब्ध हूं। यह मुझे केवल नए प्रोजेक्ट के साथ आगे बढ़ने और खुद को चुनौती देने के लिए प्रेरित करेगा।'

वहीं आर माधवन फिल्म इंडस्ट्री के पढ़े-लिखे एक्टर्स में से एक हैं। 50 वर्षीय आर माधवन ने इलेक्ट्रॉनिक्स में बीएससी की है। साल 1988 में माधवन को अपनी स्कूल को बतौर कल्चरल एम्बेसेडर कनाडा में रिप्रेजेंट करने का अवसर मिला था। वे ब्रिटिश आर्मी यानी रॉयल नेवी और रॉयल एयर फोर्स के साथ ट्रेनिंग हासिल करने वाले एनसीसी कैडेट भी रहे हैं। माधवन आर्मी जॉइन करना चाहते थे, लेकिन उनकी उम्र 6 महीने कम निकली।

वर्कफ्रंट की बात करें, तो फिलहाल आर माधवन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के एक पूर्व वैज्ञानिक और एयरोस्पेस इंजीनियर, नंबी नारायणन की बायोपिक में व्यस्त हैं। ‘रॉकेट्री: द नांबी इफ़ेक्ट’ नाम की इस फिल्म में न सिर्फ माधवन एक्टिंग कर रहे हैं, बल्कि इसकी राइटिंग, प्रोड्क्शन और डायरेक्शन भी माधवन ने ही किया है, जो जल्दी ही रिलीज होने वाली है।

संबंधित ख़बरेंआर माधवन ने 'फेयरनेस' का राज पूछने वाले फैन को किया लाजवाब

टिप्पणियां