सतीश शाह ने 'कॉमन मैन' की तरह ली कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़

सतीश शाह ने तीन घंटे धूप में खड़े रहने के बाद कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ले ली। कोरोना वैक्सीन लेने की जानकारी सोशल मीडिया पर देते हुए सतीश ने कहा, 'कोविड वैक्सीन लगवाने के लिए बीकेसी में धूप में तीन घंटे तक खड़ा रहा। बाहर अफरा-तफरी का माहौल था, लेकिन अंदर काफी अनुशासित महौल था। मुझे डांट पड़ी कि मैंने वीआईपी एंट्रेंस का फायदा क्यों नहीं उठाया, लेकिन मुझे आर के लक्ष्मण...'

satish-shah-receives-covid-19-vaccine-says-ditches-vip-entrance-stood-for-three-hours-in-the-sun

अभिनेता सतीश शाह ने हाल ही में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़ ली और इसकी जानकारी उन्होंने अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिये सबसे साझा की।

कोविड वैक्सीनेशन का अनुभव साझा करते हुए उन्होंने कहा कि बिना किसी वीआईपी ट्रीटमेंट के 'कॉमन मैन' की तरह लाइन में खड़े होकर वैक्सीन लिया, जिसके लिए तीन घंटे तक कड़ी धूप में भी खड़े रहे।

अपने ट्विटर हैंडल पर सतीश शाह लिखते हैं, 'कोविड वैक्सीन लगवाने के लिए बीकेसी में धूप में तीन घंटे तक खड़ा रहा। बाहर अफरा-तफरी का माहौल था लेकिन अंदर बहुत अनुशासित माहौल था। मुझे डांट भी पड़ी कि मैंने वीआईपी एंट्रेंस का फायदा क्यों नहीं उठाया लेकिन मुझे आरके लक्ष्मण के कॉमन मैन की तरह व्यवहार करके अच्छा लगा।'

वहीं सतीश शाह की सोशल मीडिया पोस्ट पर एक सोशल मीडिय यूजर ने सवाल भी उठाया कि पैडमिक के दौर में भी वीआईपी कल्चर क्यों जरूरी है?

उस यूज़र के सवाल का जवाब देते हुए सतीश शाह ने कहा कि वीआईपी के लिए कोई स्पेशल एंट्री नहीं थी, लेकिन उम्रदराज वीआईपी और व्हील चेयर पर वैक्सीन लगवाने आए लोगों के लिए बैक डोर वैक्सीनेशन की सुविधा जरूर दी गई थी।

एक अन्य सोशल मीडिया यूजर्स ने सतीश शाह की तारीफ करते हुए कहा, 'हमें आप पर गर्व है सर, हमें आपके जैसे और लोगों की जरूरत है'।

ग़ौरतलब है कि सतीश शाह पिछले साल जुलाई में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती थे। जब वो कोरोना से उबर गए, तो उन्होंने इसकी जानकारी अपने सोशल मीडिया के जरिये दी।

सतीश ने ट्वीट किया था, 'मैं बिलकुल ठीक हूं। प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मैंने खुद को क्वारेंटाइन कर रखा है। मुझे फीवर हुआ जिसको मैंने दवाई लेकर ठीक कर लिया लेकिन फिर मैंने टेस्ट करवाया तो मैं कोरोना पॉजिटिव निकला। इसके बाद मैं तुरंत अस्पताल में भर्ती हुआ। मैं सबको ये सलाह दूंगा कि जब भी ऐसी नौबत आए तो अपने और आसपास के लोगों की सेहत पर पैनी नजर रखें ताकि कोई कॉम्प्लिकेशन होने से पहले कदम उठा पाएं और डरे नहीं।'

संबंधित ख़बरें 

टिप्पणियां