Ramsetu: 'रामसेतु' के लिए अयोध्या चले अक्षय कुमार

अक्षय कुमार अपनी अगली फिल्म 'रामसेतु' की शूटिंग में जल्दी ही जुटने वाले हैं। अक्षय 18 मार्च को टीम निर्देशक अभिषेक शर्मा और क्रिएटिव प्रोड्यूसरडॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी के साथ अयोध्या के लिए उड़ान भरेंगे, ताकि राम जन्मभूमि से फिल्म का मुहूर्त शॉट किया जा सके। हाल ही में फिल्म 'बच्चन पांडे' की शूटिंग पूरी कर परिवार के साथ छुट्टियां बिता कर अक्षय लौटे हैं।

Akshay-kumar-all-set-to-start-film-ramsetu-from-march-2021-team-head-to-ayodhya

अक्षय कुमार फिल्म इंडस्ट्री के उन अभिनेताओं में से हैं, जो बैक-टू-बैक प्रोजेक्ट्स में बिजी रहते हैं। हाल ही में फिल्म 'बच्चन पांडे' की शूटिंग से लौटे अक्षय कुमार अब अपनी अगली फिल्म 'रामसेतु' की तैयारियों में जुट जाने वाले हैं।

फिल्म 'रामसेतु' के मुहूर्त शॉट के लिए वो 18 मार्च को निर्देशक अभिषेक शर्मा और क्रिएटिव प्रोड्यूसर डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी के साथ अयोध्या के लिए उड़ान भरेंगे, ताकि राम जन्मभूमि पहुंच कर वो भगवान श्रीराम के आशीर्वाद के साथ फिल्म की शूटिंग शुरू की जाए।

बता दें फिलहाल अक्षय कुमार मालदीव्स में अपने परिवार के साथ छुट्टियां मना रहे हैं और वापस आते ही काम में जुट जाएंगे।

फिल्म 'रामसेतु' के निर्देशक अभिषेक शर्मा का कहना है कि शूटिंग शेड्यूल आने वाले महीनों में प्लान की गई है। वहीं फिल्म का अस्सी फीसदी हिस्सा मुंबई में ही शूट किया जाएगा।

अभिषेक शर्मा ने अक्षय के किरदार को लेकर खुलासा करते हुए कहा, 'अक्षय कुमार एक पुरातत्वविद् (आर्कियोलॉजिस्ट) की भूमिका निभा रहे हैं और उनका लुक और चरित्र कई भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय पेशेवर पुरातत्वविदों से प्रेरित है, जो इस क्षेत्र में काम करते हैं। अक्षय का लुक और कैरेक्टर दोनों ही नेवर सीन बिफोर है।'

वहीं फिल्म की अभिनेत्रियों को लेकर अभिषेक कहते हैं, 'दोनों अभिनेत्रियों का किरदार भी काफी स्ट्रॉन्ग और इंडीपेंडेट वुमन्स का है। अभी उनके लुक्स को सीक्रेट रखा गया है।'

फिल्म की शुरुआत अयोध्या से करने को लेकर अभिषेक ने कहा, 'दरअसल, यह डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी का विचार था कि फिल्म की शूटिंग अयोध्या से शुरू की जाए। इससे बेहतर क्या होगा कि भगवान राम के जन्मस्थान से 'रामसेतु' यात्रा की शुरुआत हो।'

फिल्म 'रामसेतु' के क्रिएटिव प्रोड्यूसर डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी कहते हैं, 'खुद कई बार अयोध्या का दौरा करने के बाद, मैंने अक्षय और टीम को सुझाव दिया कि हमें भगवान राम के पवित्र मंदिर से आशीर्वाद के साथ प्रोडक्शन शेड्यूल शुरू करना चाहिए। हम अयोध्या में मुहूर्त शॉट आयोजित कर एक शुभ नोट पर अपना फिल्मांकन शुरू करने वाले हैं।'

अभिषेक शर्मा ने बताया कि उनके लिए 'रामसेतु' की यात्रा साल 2007 में शुरू हुई, जब उन्होंने भारत-श्रीलंका के बीच में एक शिपिंग कैनल के निर्माण के प्रोजेक्ट में कुछ समस्याएं आ रही थी और इस प्रोजेक्ट से संबंधित एक मामले के बारे में अखबार में पढ़ा।

वो कहते हैं, 'मुझे यह एक भारतीय किंवदंती के पीछे की सच्चाई का पता लगाने का अवसर मिला और इस विषय की भयावहता पर आश्चर्य हुआ। ऐसा लगता है कि मुझे एक ऐसी सच्ची कहानी को सामने लाने की संभावना के साथ प्रस्तुत किया जा रहा है जो भारतीयों की पीढ़ियों को हमारी विरासत के एक ऐसे हिस्से से जोड़ेगी जिस पर वह ध्यान नहीं दे रहे थे।'

अभिषेक शर्मा ने बताया कि बीते साल लॉकडाउन के दौरान स्क्रीनप्ले तैयार कर ली। इसके तुरंत बाद ही फिल्म ऑन-बोर्ड आ गई। फिल्म के रिसर्च को लेकर वो क्रिएटिव प्रोड्यूसर डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी का आभार प्रकट करते हैं।

उन्होंने कहा, 'अनुसंधान के पीछे के विचार को ध्यान में रखते हुए, उन्होंने पुरातत्व और इतिहास, धर्म और विज्ञान में पृष्ठभूमि के साथ शोधकर्ताओं की एक टीम के निर्माण के साथ-साथ इतिहास और धर्म तक पहुंच और परिप्रेक्ष्य प्रदान करके हमारी काफी मदद की है। प्रक्रिया विषय पर एक व्यापक समझ हासिल करने और इस सच्ची कहानी पर एक फिल्म बनाने के लिए जो तथ्यों पर आधारित और समर्थित हो।'

अक्षय कुमार ने पिछले साल दिवाली पर अपने सोशल मीडिया पर पोस्टर जारी करके फिल्म की घोषणा की थी। अब सब कुछ नियोजित होने के साथ, निर्माता यह सुनिश्चित करने में व्यस्त हैं कि सभी सुरक्षा प्रोटोकॉल उपलब्ध हो जिससे सभी शूटिंग का स्मूथली अनुभव ले सके ।

निर्माता विक्रम मल्होत्रा कहते हैं, ''रामसेतु' के लिए, जगह-जगह सख्त प्रोटोकॉल होंगे, जिसमें यात्रा और रहने के लिए बायो-बबल्स, बार-बार स्वास्थ्य जांच और इन प्रोटोकॉल का प्रबंधन करने वाली एक पेशेवर एजेंसी होगी। कहानी और आगामी स्थानों, वीएफएक्स आदि की जटिलता को देखते हुए, प्रोडक्शन अगले तीन महीनों में कई शेड्यूल में फैल जाएगा।'

विक्रम मल्होत्रा ने आगे कहा, 'अक्षय के साथ-साथ अबुंदंतिया एंटरटेनमेंट सौभाग्यशाली रहा है कि उसने फिल्म निर्माण, पोस्ट-प्रोडक्शन और यहां तक कि हमारी कई प्रस्तुतियों को महामारी के दौर से सफलतापूर्वक पूरा किया है। इसलिए कोविड -19 संबंधित जोखिमों को कम करने और नियंत्रित करने के साथ उत्पादन का प्रबंधन करने के लिए पर्याप्त सीख और अनुभव है।'

निर्मात के अनुसार 'रामसेतु' फैक्ट्स, साइंस और ऐतिहासिक धरोहरों पर बनी कहानी है और सदियों से भारतीयों के गहरे विश्वास पर आधारित है। वो कहते हैं कि आज, युवा पीढ़ी अपनी विरासत को लेकर उत्सुक है, हमारे देश के सांस्कृतिक गहराई में रही कहानियों को बताने का इससे बेहतर समय कभी नहीं हो सकता है।

वहीं अक्षय ने फिल्म को लेकर कहा कि 'रामसेतु' पीढ़ियों के अतीत, वर्तमान और भविष्य के बीच का सेतु है।

बता दें फिल्म 'रामसेतु' अरुणा भाटिया, लाइका प्रोडक्शंस और विक्रम मल्होत्रा द्वारा निर्मित है।

संबंधित ख़बरें 

टिप्पणियां