ज़ोमैटो के डिलीवरी बॉय के सपोर्ट में उतरीं परिणीति चोपड़ा

फूड सर्विस ऐप ज़ोमैटो के डिलीवरी बॉय को इंसाफ देने की अपील करते हुए कहा कि यदि वो बेगुनाह है, तो महिला को सजा मिलनी चाहिए। दरअसल, हाल ही में बेंगलुरु में कंटेंट क्रिएटर हितेशा चंद्रानी ने ज़ोमैटो डिलीवरी बॉय कामराज पर फिज़िकल असॉल्ट का आरोप लगाया था, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया। वहीं कुछ का आरोप है कि कामराज के खिलाफ हितेशा 'वुमन कार्ड' प्ले कर रही है।

parineeti-chopra-lands-to-support-of-zomato-delivery-boy-says-if-he-is-innocent-the-woman-should-be-punished

बीते कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक मामला काफी सुर्खियां बटोर रहा है। मामला है बेंगलुरु की ब्यूटी ब्लॉगर यानी कंटेंट क्रिएटर हितेशा चंद्रानी का एक वीडियो, जिसमें उन्होंने ज़ोमैटो के डिलीवरी बॉय कामराज पर फिज़िकल असॉल्ट का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि डिलीवरी बॉय ने उनके साथ मारपीट की।

हितेशा के आरोप के बाद डिलीवरी बॉय कामराज को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया था, लेकिन बाद में उसे जमानत मिल गई। अब डिलीवरी बॉय का स्टेटमेंट भी सामने आया और कहानी पूरी तरह से पलट गयी। वहीं एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा डिलीवरी बॉय के समर्थन में सामने आई हैं।

परिणीति चोपड़ा ने अपने सोशल मीडिया पर इस मामले की सही तरह से जांच करने की मांग करते हुए कहा कि इस मामले की सही से पड़ताल हो और यदि डिलीवरी बॉय बेगुनाह है, तो महिला को उचित सजा मिले।

परिणीति ने लिखा,'सच का पता लगाएं और उसी सार्वजनिक करें। अगर यह इंसान बेगुनाह है (और मुझे लगता है कि वह है।) तो प्लीज उस महिला को सजा दिलाने में हमारी मदद करें। यह अमानवीय, शर्मनाक और दिल तोड़ने वाला है। प्लीज बताएं कि मैं आपकी किस तरह मदद कर सकती हूं।'

इंस्टाग्राम स्टोरी पर उन्होंने लिखा, 'सच का पता लगाएं। यदि इस आदमी को बेवजह फंसाया जा रहा है, तो ऐसा करने वाली महिला को उसके दर्द की भरपाई करने की जरूरत है।'

ग़ौरतलब है कि 10 मार्च को सोशल मीडिया पर वीडियो डालकर आरोप लगाया था कि ऑर्डर कैंसिल करने पर ज़ोमैटो का डिलीवरी बॉय उनकी नाक पर पंच मारकर भाग गया था, जिससे उनकी नाक से खून निकलने लगा था और हड्डी टूट गई थी।

हितेशा के आरोप के बाद ज़ोमैटो ने कामराज का नौकरी से निकाल दिया और वहीं बेंगलुरु पुलिस ने बुधवार को कामराज को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन उसके बाद जो कहानी सामने आई, उससे पूरा मामला कामराज के पक्ष में जाता दिख रहा है।

कामराज ने अपने पक्ष की कहानी सुनाते हुए कहा, 'ट्रैफिक की वजह से डिलीवरी लेट होने पर मैंने पहले उनसे माफी मांगी, लेकिन वो लगातार मुझसे लेट आने को लेकर झगड़ा करती रहीं। युवती ने मुझे पैसे देने से इनकार किया तो मैंने खाना वापस करने को कहा, लेकिन लड़की ने खाना वापस नहीं दिया। इसी दौरान उसने चप्पल से मुझे मारने की कोशिश की। जब मैं खुद को बचा रहा था, तब लड़की का हाथ खुद ही उसके मुंह पर लगा और रिंग से चोट लग गई।'

डिलीवरी बॉय का बयान सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोग कामराज के लिए स्टैंड लेते दिखाई दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि बिना दोनों पक्ष की कहानी जाने, क्यों कामराज को दोषी ठहरा दिया गया। साथ ही ज़ोमैटो द्वारा कामराज को नौकरी से निकालने पर भी लोग नाराज हुए। लोगों का कहना है कि ज़ोमैटो ने बिना बात सुने डिलीवरी बॉय को नौकरी से निकाल दिया। ऐसे में ये पूरी प्रक्रिया सच से परे है।

वहीं कामराज का पक्ष मजबूत होते देख ज़ोमैटो ने सफाई दी। ज़ोमैटो के फाउंडर ने बताया, 'हम हर मामले में सच्चाई तक पहुंचना चाहते हैं। हम हितेशा और कामराज दोनों के संपर्क में हैं और जांच पूरी होने में सहयोग कर रहे हैं। हम हितेशा के मेडिकल खर्च को उठा रहे हैं और बाकी मदद भी पहुंचा रहे हैं। साथ ही कामराज को अपनी तरफ से पूरी मदद दे रहे हैं। नियम के मुताबिक, कामराज को अभी के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। हम कामराज के सभी कानूनी खर्चे को उठा रहे हैं। कामराज ने अपने 26 महीने के करियर में 5000 डिलीवरी की है, उसकी रेटिंग 5 में से 4.75 स्टार है, जो शानदार में से एक है।'

संबंधित ख़बरें

टिप्पणियां