सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

गोकुल धाम सोसायटी में छिड़ेगी ‘झंडा फहराने’ की जंग

सब टीवी पर प्रसारित होने वाले शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के स्वतंत्रता दिवस के स्पेशल एपीसोड में छिड़ेगी ‘झंडा फहराने’ की जंग। इस जंग में कौन जीतता है, वो तो एपीसोड में आगे खुलासा होगा, लेकिन जंग भरा एपीसोड काफी मज़ेदार होने वाला है।

तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जेठालाल और सोढ़ी
मुंबई। इस बार स्वतंत्रता दिवस पर ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की गोकुलधाम सोसायटी में तिरंगा फहराने को लेकर जंग छिड़ने वाली है। दरअसल, इस बार किसी विशेष अतिथि को बुलाने के बजाय यह तय किया गया है कि सोसायटी के ही किसी व्यक्ति को झंडा फहराने का सम्मान दिया जाएगा। 

इसके लिए सोसायटी के सेक्रेटरी आत्माराम तुकाराम भिड़े एक मीटिंग बुलाता है। मीटिंग में भिड़े कहता है कि आप सब एक एक करके यह बताइए कि आपको झंडा फहराने का सम्मान क्यों दिया जाए। 

इसके बाद सबसे पहले अय्यर कहता है कि क्योंकि वो एक वैज्ञानिक है, इसलिए झंडा फहराने का सम्मान उसे देना चाहिए। फिर भिड़े कहता है कि वह एक अध्यापक है और वो सबको ज्ञान देता है। इसलिए झंडा फहराने का सम्मान उसे ही मिलना चाहिए। 

तभी डॉक्टर हाथी कहते हैं कि मैं एक डॉक्टर हूं और सबकी सेवा करता हूं। ऐसे में यह सम्मान तो मुझे ही मिलना चाहिए। वहीं तारक मेहता कहते हैं कि क्योंकि मैं लिखता हूं और अपनी किताबों के माध्यम से लोगों का दिल जीत लेता हूं, तो इस सम्मान का अधिकारी मैं हूं। 

इसके बाद बारी आती है जेठालाल की। जेठालाल कहता है कि क्योंकि वो एक बिजनेसमैन है, जिसके बिना कोई भी काम नहीं हो सकता। ऐसे में उसे ही झंडा फहराने का सम्मान मिलना चाहिए। 

मुश्किल यहीं नही थमती, बल्कि और भी बढ़ जाती है। दरअसल, सोसायटी की महिला मंडल भी इस सम्मान को क्लेम करने पहुंच जाती है। अब समस्या से निबटने के लिए सबने लकी ड्रॉ निकालने की बात कही। फिर क्या सबके नाम की पर्ची लिख कर उस डिब्बे में डाली गई। 

इस डिब्बे में से बबिता को एक पर्ची निकालने के लिए कहा गया। बबिता के हाथ में जेठालाल के नाम की पर्ची आई। 

अपने नाम की पर्ची निकलने के बाद जेठालाल ने अपने लिए नई ड्रेस बनवाई, दोस्तों रिश्तेदारों और फोटोग्राफरों को भी निमंत्रित किया। 

वहीं तिरंगा लाने का काम अय्यर को सौंपा गया। अय्यर तिरंगा लेकर आ ही रहा था कि पुलिस की चेकिंग शुरू हो गई। इस चेकिंग से घबरा कर अय्यर तिरंगा ऑटो में ही भूल आया। 

अब जब तिरंगा फहराने का दिन आया, तो पता चलता है कि तिरंगा ही नहीं है। ऐसे में एक बार फिर अय्यर और जेठालाल के बीच झगड़ा शुरू हो जाता है। 

इस एपीसोड के बारे में जेठालाल का किरदार निभा रहे दिलीप जोशी ने कहा कि जेठालाल और अय्यर का कॉम्पटीशन तो काफी मशहूर है। इन दोनों में कभी जीत जेठालाल की होती है, तो कभी अय्यर की, लेकिन इन दोनों की नोक-झोंक दर्शकों को बहुत पसंद है। 

दिलीप आगे कहते हैं कि हमें यह एपीसोड शूट करने में मज़ा आया। उम्मीद है दर्शकों को भी काफी आनंद आएगा।

इस स्वतंत्रता दिवस स्पेशल एपीसोड का प्रसारण 9-18 अगस्त तक के सप्ताह में होगा।

संबंधित ख़बरें