सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को बैन करने की मांग

सब टीवी के मशहूर टीवी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को बैन करने की मांग की जा रही है। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने इस शो में ‘ईशनिंदक’ सीन दिखाने का आरोप लगाते हुए, इसे बैन करने की मांग की है। 

तारक मेहता का उल्टा चश्मा
मुंबई। ‘पहरेदार पिया की’ के बाद अब ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। हाल ही में इस शो में टीआरपी रेस में बढ़त बनाई है। अब इस शो को बैन करने की मांग की जा रही है। 

दरअसल, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में ‘ईशनिंदक’ सीन दिखाए जाने का आरोप लगाया है। साथ ही इस शो को बंद करने की मांग भी की है। 

एसजीपीसी प्रमुख कृपाल सिंह बादुंगर ने कहा है कि शो के एक एपीसोड में सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह के जीवित स्वरूप का चित्रण किया गया था, जो ‘सिख सिद्धांत के खिलाफ’ है और इससे समुदाय की भावनाओं को ठेस लगी है। 

बादुंगर ने आगे कहा कि कोई भी कलाकार या कोई भी चित्रण खुद की दसवें सिख गुरु गोविंद सिंह के साथ अपनी समानता नहीं कर सकता। यदि कोई ऐसा करता है, तो वो माफी के काबिल नहीं है।

संबंधित ख़बरें