सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ विवाद पर प्रोड्यूसर ने दी सफाई

सब टीवी के धारावाहिक ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को लेकर शुरू हुए विवाद पर धाराविहक के प्रोड्यूसर ने आधिकारिक बयान जारी कर, अपनी सफाई दी है। बता दें इस धारावाहिक पर ‘ईशनिंदा’ का आरोप लगाते हुए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने इसे बैन करने की मांग की थी। 

तारक मेहता का उल्टा चश्मा का सोढी
मुंबई। सब टीवी के कॉमेडी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के एक एपीसोड को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने आपत्ति दर्ज करवाई है। साथ ही इस धारावाहिक पर ‘ईशनिंदा’ का आरोप लगाते हुए इसके बैन करने की मांग भी उठाई है। 

दरअसल, यह पूरा विवाद इस धारावाहिक के 8 सितंबर को प्रसारित हुए 2287वें एपीसोड को लेकर है। इस एपीसोड में रोशन सिंह सोढ़ी तो गुरु गोविंद सिंह की भूमिका में दिखाया गया था, जिस पर एसजीपीसी को आपत्ति है। 

इस शो के प्रोड्यूसर असित कुमार मोदी ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा, ‘रोशन सिंह सोढ़ी को हमने गुरु गोविंद सिंह जी के खालसा रूप में दिखाया था। इस का प्रमाण उनके संवाद और उनका प्रदर्शन है।

हम हमेशा सभी धर्मों का बराबर सम्मान करते हैं और हम किसी भी धर्म का न तो अपमान कर सकते हैं, न ही किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा सकते हैं। हमारे शो में अलग-अलग धर्मों और संस्कृतियों को लोग साथ रहते हैं और सभी मिलजुल कर हर त्यौहार मनाते हैं।’

उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि कोई भी व्यक्ति किसी भी सिख गुरु का रूप नहीं ले सकता। हमारे शो में भी गुरु गोविंद सिंह जी के स्वरूप को नहीं लिया, बल्कि रोशन सिंह सोढञी को हमने खाल, के रूप में दिखाया था। हम अपने दर्शकों से निवेदन करते हैं कि वो प्रसारित हुए प्रकरण को गलत प्रसंग में न देखें।

संबंधित ख़बरें